लाइव टीवी

बिहार-झारखंड में फंसा गंगा फेरी सेवा का पेंच, जल संपर्क टूटा

Nishant Kumar | News18 Jharkhand
Updated: July 4, 2018, 8:28 AM IST
बिहार-झारखंड में फंसा गंगा फेरी सेवा का पेंच, जल संपर्क टूटा
झारखंड फेरी सेवा

बिहार और झारखंड के बीच दो वर्षों के करार पर चलने वाली एलसीटी फेरी जहाज का करार इस बार बिहार के मनिहारी घाट से हैं. साहेबगंज को जहाज का संचालन नहीं करना है, लेकिन फिर भी बिहार की तरफ से फेरी सेवा बंद कर दी गई है.

  • Share this:
गंगा नदी में एलसीटी जहाज फेरी सेवा ठप होने से बिहार-झारखंड का जलमार्ग संपर्क कट चुका है. रोजना गंगा के रास्ते एलसीटी फेरी सेवा से चार से पांच हजार लोग आवागमन करते हैं, लेकिन फेरी सेवा ठप होने से इन लोगों को परेशानी हो रही है. बिहार के मनिहारी और साहेबगंज के बीच गंगा में एलसीटी जहाज का मामला दो प्रदेशों के बीच फंस गया है.

बिहार और झारखंड के बीच दो वर्षों के करार पर चलने वाली एलसीटी फेरी जहाज का करार इस बार बिहार के मनिहारी घाट से हैं. साहेबगंज को जहाज का संचालन नहीं करना है, लेकिन फिर भी बिहार की तरफ से फेरी सेवा बंद कर दी गई है. फेरी के बंद होने से गंगा के घाटों पर सन्नाटा पसरा है. लोग मनिहार-कटिहार जाने के लिए आते हैं, लेकिन फेरी नहीं मिलने से वापस लौट जाते हैं.

फेरी सेवा ठप होने के मामले में जानकार बताते हैं कि एलसीटी जहाह फेरी सेवा संचालन में वर्चस्व और दबंगई का मामला है, लिहाजा यह सेवा बंद है. बहरहाल मामला जो भी हो, लेकिन रोजाना चार से पांच हजार सफर करने वाले लोगों की दिक्कतें दोगुनी हो गई है. लोग जान खतरें में डालकर छोटी नावों में सफर करने के लिए मजबूर हो रहे हैं. छोटी नावों पर ओवरलोड यात्री होने से कभी भी अप्रिय घटना घट सकती है.

प्रशासन को फेरी सेवा बंद होने से लोगों को हो रही परेशानियों का अनुमान है, लेकिन नियमों का हवाला देकर इसे फिर से शुरू करवाने का भरोसा दिलाते है, प्रभारी डीसी नैंसी सहाय बताती हैं कि एलसीटी जहाज फेरी सेवा का संचालन बिहार सरकार के जिम्मे है, लेकिन सेवा क्यों नहीं शुररू हो रही, इसकी जानकारी ली जाएगी. उन्होंने कहा कि दोनों प्रदेश आपस में बात कर फेरी सेवा फिर से बहाल करेंगे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए साहेबगंज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 4, 2018, 8:28 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...