Assembly Banner 2021

श्रीनगर में आतंकियों से लोहा लेते झारखंड के लाल कुलदीप उरांव हुए शहीद

श्रीनगर में आंतकियों से लोहा लेते हुए साहेबगंज के लाल कुलदीप उरांव शहीद हो गये

श्रीनगर में आंतकियों से लोहा लेते हुए साहेबगंज के लाल कुलदीप उरांव शहीद हो गये

आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान तीन जवान घायल हो गए, सभी को अस्पताल में भर्ती करवाया गया, इलाज के दौरान कुलदीप शहीद हो गए.

  • Share this:
साहेबगंज. जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में आतंकवादियों (Terrorists) से मुठभेड़ (Encounter) में झारखंड के साहेबगंज का लाल कुलदीप उरांव शहीद (Martyr) हो गए. मुठभेड़ गुरुवार रात आठ बजे हुई. शहीद कुलदीप उरांव सीआरपीएफ (CRPF) में हेड कांस्टेबल थे. और 18वीं बटालियन में पोस्टेड थे. शुक्रवार की सुबह सीआरपीएफ के अधिकारियों ने इस दुखद खबर की जानकारी परिवारवालों को दी. जिसके बाद घर में मातम पसर गया. शहीद कुलदीप उरांव साहेबगंज के रहने वाले थे. शहीद के पिता ने बताया कि आरपीएफ कमांडेंट ने उन्हें फोन कर पुत्र के शहीद होने की जानकारी दी.

जानकारी के मुताबिक मुठभेड़ श्रीनगर के हजरतबल दरगाह के पास स्थित मालबाग इलाके में हुई. खुफिया सूचना मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने इलाके को घेर लिया और तलाशी अभियान चलाया. इस दौरान छिपे हुए आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर गोलियां चलानी शुरू कर दी. जवाबी कार्रवाई में सुरक्षाबलों ने भी फायरिंग की. इस मुठभेड़ में सीआरपीएफ के तीन जवान जख्मी हो गये. घायल जवानों को 92-बेस सेना अस्पताल में भर्ती कराया गया. लेकिन गंभीर रूप से घायल सीआरपीएफ जवान कुलदीप उरांव ने अस्पताल में दम तोड़ दिया.

पिता हैं सीआरपीएफ के रिटायर्ड जवान



कुलदीप के पिता घनश्याम उरांव सीआरपीएफ के रिटायर्ड जवान हैं. और वर्तमान में साहेबंगज नगर परिषद के वार्ड नंबर 28 के वार्ड पार्षद हैं. शहीद की पत्नी कोलकाता पुलिस में कॉन्स्टेबल हैं. उनके दो छोटे-छोटे बच्चे हैं, जो अपनी मां के साथ कोलकाता में रहते हैं. साहेबगंज में शहीद के पिता और भाई रहते हैं.
शहीद के पिता घनश्याम राव ने कहा कि सीआरपीएफ में मैंने भी सेवा की है और मेरे बेटा भी सीआरपीएफ में सेवा देते हुए शहीद हो गये. इस पर हमें गर्व है. लेकिन सरकार को आतंकवादी घटनाओं से सबक लेते हुए कोई स्थायी निदान करनी चाहिए. ताकि हमारे वीर जवान इस तरह शहीद ना हों.

 

सीएम ने जताया दुख

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने घटना पर दुख जताते हुए शहीद के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की है. सोरेन ने  घटना की जानकारी देते हुए लिखा कि परमात्मा शहीद की आत्मा को शांति प्रदान कर परिवान जनों को दुख सहन करने की शक्ति दें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज