अपना शहर चुनें

States

साहिबगंज के अंतरराष्ट्रीय मल्टी मॉडल टर्मिनल के जरिये इन देशों से सीधे जुड़ जाएगा झारखंड

साहिबगंज में बने अंतरराष्ट्रीय मल्टी मॉडल टर्मिनल के जरिये कई देशों से सीधे जुड़ जाएगा झारखंड
साहिबगंज में बने अंतरराष्ट्रीय मल्टी मॉडल टर्मिनल के जरिये कई देशों से सीधे जुड़ जाएगा झारखंड

गंगा नदी पर बने इस बंदरगाह के जरिये साहिबगंज बांग्लादेश, म्यांमार, नेपाल समेत कई देशों से सीधे जुड़ जाएगा. इस बंदरगाह को सागरमाला परियोजना से जोड़ा जाना है.

  • Share this:
साहिबगंज. झारखंड के साहिबगंज को अब देश-विदेश में पहचान मिलेगी. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज यहां निर्मित अंतरराष्ट्रीय मल्टी मॉडल टर्मिनल बंदरगाह के फेज-वन का उद्घाटन करेंगे. गंगा नदी पर बने इस बंदरगाह के जरिये साहिबगंज बांग्लादेश, म्यांमार, नेपाल समेत कई देशों से सीधे जुड़ जाएगा. इस बंदरगाह को सागरमाला परियोजना से जोड़ा जाना है. इसके बाद यह पश्चिम बंगाल, बिहार और यूपी समेत देश के 10 राज्यों से संपर्क में आ जाएगा. वहीं साहिबगंज व्यवसायिक हब के रूप में भी विकसित होगा. यहां से हर साल करीब 2.24 मिलियन टन कार्गो का संचालन होगा. इसे हल्दिया-वाराणसी जलमार्ग से जोड़ा जाएगा.

वायुमार्ग से भी जुड़ेगा बंदरगाह

साहिबगंज बंदरगाह को एनएच-80 से जोड़ा गया है. यह सकरीगली स्टेशन के करीब है. भविष्य में इसे वायुमार्ग से भी जोड़ने की योजना है. इस बंदरगाह का निर्माण पूरा होने पर करीब 10 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा. इसे न्यूनतम कचरा उत्पादन व ध्वनि प्रदूषण को ध्यान में रखकर बनाया गया है. यहां से राजमहल का कोयला पश्चिम बंगाल के रास्ते बांग्लादेश, नेपाल और म्यांमार जैसे देशों में भेजा जाएगा. संताल और झारखंड में निर्मित सामान को देश-विदेशों में आसानी से भेजा जाएगा.



ढाई साल में पहले फेज का काम पूरा 
इस बंदरगाह में कन्वेयर की सुविधा है. इसके जरिये कोयला, चिप्स सहित अन्य सामान आसानी से लोड किया जा सकेगा. बंदरगाह के प्लेटफॉर्म पर एक बड़ा क्रेन है. इससे कार्गो शिप में आये कंटेनर को आसानी से लोड और अनलोड किया जा सकेगा. यहां तेल डिपो से लेकर जहाज मरम्मत का भी शेड बनाया जाएगा. पीएम मोदी ने ही इस बंदरगाह का शिलान्यास 6 अप्रैल 2017 को किया था. मात्र ढाई साल में ही इसके पहले फेज का काम पूरा हो चुका है.

ये भी पढ़ें- देश की पहली पेपरलेस विधानसभा होगी झारखंड की नई विधानसभा

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज