लाइव टीवी

दुर्गा मंदिर में चल रहे स्कूल पर मंदिर समिति ने जड़ा ताला, 3 माह का किराया था बकाया

Nishant Kumar | News18 Jharkhand
Updated: March 6, 2019, 11:45 AM IST
दुर्गा मंदिर में चल रहे स्कूल पर मंदिर समिति ने जड़ा ताला, 3 माह का किराया था बकाया
ताला लगने के बाद स्कूल के बाहर जमा छात्र

साहेबगंज के कृष्णनगर मध्य विद्यालय बड़ी दुर्गा मंदिर परिसर में चल रहा है. किराए पर चल रहे विद्यालय भवन का तीन महीनों से किराया नहीं दिया गया है, लिहाजा मंदिर समिति के लोगों ने तालाबंदी कर किराया देने की मांग कर रही है.

  • Share this:
झारखंड के साहेबगंज में शिक्षा विभाग द्वारा लाखों रुपये खर्च करने बाद भी शिक्षा व्यवस्था में जमीनी स्तर पर कई खामियां नजर आ रही है. साहेबगंज में भी कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला है. यहां भगवान के मंदिर में शिक्षा का मंदिर चल रहा है. कृष्ण नगर दुर्गा मंदिर परिसर में माध्यमिक विद्यालय चल रहा है. विद्यालय मंदिर समिति के सहयोग से संचालित किया जा रहा था, वहां पिछले तीन माह से किराया नहीं मिला, जिसके चलते भवन समिति ने तालाबंदी कर दी है.

साहेबगंज के कृष्णनगर मध्य विद्यालय बड़ी दुर्गा मंदिर परिसर में चल रहा है. किराए पर चल रहे विद्यालय भवन का तीन महीनों से किराया नहीं दिया गया है, लिहाजा मंदिर समिति के लोगों ने तालाबंदी कर किराया देने की मांग कर रही है. लंबे समय से किराए पर चल रहे मंदिर परिसर में विद्यालय को अब तक अपना भवन नहीं मिल पाया. मंदिर प्रबंधन द्वारा बार-बार विद्यालय को दूसरी जगह शिफ्ट करने के लिए भी कहा गया, लेकिन अब तक शिक्षा विभाग इस मामले में कोई निर्णय नहीं ले पाया.

स्कूल लंबे समय से किराये पर चल रहा है. विभाग की ओर से कोई ठोस निर्णय नहीं लेने की वजह से बच्चों का भविष्य अधर में लटक गया है. डीईओ अर्जुन प्रसाद ने स्थानीय लोगों से स्कूल को मंदिर परिसर में चलने देने की अपील की है. डीईओ का कहना है कि स्कूल भवन को लेकर शिक्षा विभाग बेहद गंभीर है और जल्द ही स्कूल को नए भवन में शिफ्ट कर दिया जाएगा, लेकिन दुर्गा मंदिर समिति के लोगों से अपील की है स्कूल बंद नहीं करें, जिससे बच्चों के भविष्य पर असर न पड़े.

साहेबगंज में स्कूल को अपना भवन नहीं होना विभाग की लापरवाही है. भगवान के घर में शिक्षा का मंदिर चल रहा है. दुर्गापूजा समिति को ओर से किराए को लेकर बाब-बार विरोध दर्ज कराया जाता है,. समिति का कहना है कि न तो स्कूल प्रबंधन समय पर समय पर किराया देता है और न ही अन्य भवन में शिफ्ट होता है, लिहाजा शिक्षा विभाग को अब इसके संवेदनशीलता के साथ सोचना पड़ता है.

यह भी पढ़ें-  झारखंड में सरकारी स्कूलों को झारखंड पब्लिक स्कूल के रूप में विकसित करने का निर्णय

यह भी पढ़ें-  सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को हर सुविधा उपलब्ध कराएगी सरकार:रघुवर दास

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए साहेबगंज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 6, 2019, 11:42 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...