• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • साहेबगंज: अपने दो बेटों की जिंदगी के लिए मदद की भीख मांग रहा ये परिवार, गंभीर बीमारी से बड़े बेटे की हो चुकी मौत

साहेबगंज: अपने दो बेटों की जिंदगी के लिए मदद की भीख मांग रहा ये परिवार, गंभीर बीमारी से बड़े बेटे की हो चुकी मौत

साहेबगंज का ये परिवार अपने दोनों बेटों की सलामती के लिए लोगों से मदद की गुहार लगा रहा है.

साहेबगंज का ये परिवार अपने दोनों बेटों की सलामती के लिए लोगों से मदद की गुहार लगा रहा है.

Sahebganj News: साहिबगंज के कैलाश यादव पर विपत्ति आ पड़ी है. उनके तीन बेटे मस्कुलर डिस्ट्रोफी नामक बीमारी से जूझ रहे थे. बड़े बेटे की मौत हो चुकी है. दो बेटे अभी भी इस बीमारी से जूझ रहे हैं.

  • Share this:
    रिपोर्ट- मिथिलेश कुमार

    साहिबगंज. झारखंड के साहिबगंज में एक परिवार गंभीर बीमारी से जूझ रहा है. बड़ा बेटा अमित कुमार दुनिया से चल बसा. जबकि दो बेटे सुमित (12 वर्ष) तथा पीयुश भी इस बीमारी की चपेट में आ चुके हैं. पिता कैलाश यादव को अब रहनुमाओं की तलाश है. पथराई आंखें मददगार को तलाश रही है, ताकि दोनों बेटों की जिंदगी सलामत रह सके.

    बच्चा मां-बाप के सामने बड़ा होता है. परिवार के लोगों से चलना, बोलना और दौड़ना सीखता है. बाद में घर -आंगन, खेत-खलिहान में दौड़ता-भागता और खेलता है. लेकिन जब कोई बच्चा माटी की मूरत की तरह एक जगह बैठा रहे, तो उस मां-बाप का दिल कैसा कचोटता होगा. ऊपर से दिनचर्या के लिए बच्चे को मां-बाप को गोद में लेना पड़े, तो इस क्षण का आप सहज अंदाजा लगा सकते हैं.

    साहिबगंज सदर प्रखंड के गंगोता टोला के कैलाश यादव पर कुछ इसी तरह की विपत्ति आ पड़ी है. उनके तीन बेटे मस्कुलर डिस्ट्रोफी नामक बीमारी से जूझ रहे थे. बड़े बेटे की मौत हो चुकी है. दो बेटे अभी भी इस बीमारी से जूझ रहे हैं. बच्चों में इस बीमारी के लक्षण उभरने के बाद से परिवार पूरी तरह से उलझ गया. परिवार ने तीनों बीमार पुत्रों के इलाज के लिए चिकित्सकों का दरवाजा खटखटाया. कई जगह इलाज कराया, पर कोई लाभ नहीं हुआ. परिवार बच्चों की उच्च स्तरीय इलाज कराने में समर्थ नहीं है.

    इस संबंध में डॉक्टर का कहना है कि इस बीमारी का इलाज बडे सेंटर्स जैसे एम्स तथ भेल्लौर में संभव है. यह अनुवांशिक बीमारी है. शादी के समय ही इस पर ध्यान देना होगा कि लडका-लडकी के परिवार में कोई पहले इस बीमारी से ग्रसित तो नहीं है. तब जाकर शादी करनी चाहिए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज