Home /News /jharkhand /

साहिबगंज: पक्के मकान की चाहत ने ग्रामीणों में भरा जोश, फावड़ा उठाकर गांव तक बना डाली सड़क

साहिबगंज: पक्के मकान की चाहत ने ग्रामीणों में भरा जोश, फावड़ा उठाकर गांव तक बना डाली सड़क

साहिबगंज में पीएम आवास योजना का लाभ पाने के लिए ग्रामीणों ने खुद सड़क बना डाली.

साहिबगंज में पीएम आवास योजना का लाभ पाने के लिए ग्रामीणों ने खुद सड़क बना डाली.

Sahebganj News: गांव में कुल 41 परिवार निवास करते हैं. कई ग्रामीणों ने पीएम आवास के लिए आवदेन कर रखा है. अभी हाल में आवेदकों में से 13 की पीएम आवास योजना स्वीकृत हो गयी. लेकिन गांव तक आवास निर्माण का मटेरियल सीमेंट, बालू, गिट्टी व छड़ ले जाने के लिए सड़क नहीं थी. ग्रामीणों ने अपने दम पर मेन रोड से गांव तक सड़क बना डाली.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट- मिथिलेश कुमार सिंह

    साहिबगंज. रोटी, कपड़ा और मकान ऐसी बुनियादी जरूरतें हैं जिनके बिना इंसान के अच्छे जीवन की परिकल्पना नहीं की जा सकती है. पहाड़ों पर पुस्त दर पुस्त व सदियों से घास फूंस, बांस बल्ला व मिट्टी के बने झोंपड़ियों में ज़िंदगी गुजारने वाले आदिवासी आज अच्छे और पक्के मकान की चाहत रखते हैं. सर्द व गर्म हवाओं के थपेड़ों व बारिश से बचने के लिए एक अदद पक्का मकान के लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार हैं. इसके पीछे सदियों से चली आ रही वो पीड़ा है जो मकान के लिए उन्हें कुछ भी कर गुजरने के लिए प्रेरित कर रहा है.

    ऐसा ही कुछ अनोखा कर डाला है, जिले के पतना प्रखंड अंतर्गत तालझारी पंचायत के सुदूरवर्ती पहाड़ों पर बसे खांडो बासा गांव के पीएम आवास के लाभुकों ने. ग्रामीणों ने गांव तक आवास का मटेरियल लाने के लिए सड़क ही बना डाली है. पाकुड़ ज़िला के बॉर्डर के करीब अवस्थित साहिबगंज ज़िला का यह सबसे सुदूरवर्ती इलाका माना जाता है. इस गांव में कुल 41 परिवार निवास करते हैं. कई ग्रामीणों ने पीएम आवास के लिए आवदेन कर रखा है. अभी हाल में आवेदकों में से 13 की पीएम आवास योजना स्वीकृत हो गयी. लेकिन गांव तक आवास निर्माण का मटेरियल सीमेंट, बालू, गिट्टी व छड़ ले जाने के लिए सड़क नहीं थी. ऐसे में पहले चिंता में पड़ गए कि आखिर मकान गांव तक मटेरियल आये बिना कैसे बनेगा. काफी सोंच विचार के बाद लाभुकों ने गांव तक सड़क बनाने की ठान ली.

    महीनों मेहनत के बाद आखिरकार मुख्य सड़क को गांव से जोड़ने वाली सड़क बना डाली. भले ही सड़क मिट्टी, पत्थर से बनी, लेकिन अब उस सड़क से वाहन गांव तक पहुंच सकता है. खाडा बासा के ग्राम प्रधान महेश मालतो ने बताया कि घर बनाने के लिए जरूरी सामान नहीं आ पा रहा था. इसलिए पत्थर और मिट्टी डाल सड़क बना दिया. अब आसानी से ट्रैक्टर पर बिल्डिंग मैटेरियल आ रहा है.

    Tags: Jharkhand news, PM awas

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर