भूमि अधिग्रहण को नियम विरुद्ध बता अखिल भारतीय आदिवासी महासभा ने किया प्रदर्शन

Vikas Kumar | News18 Jharkhand
Updated: March 1, 2019, 12:00 AM IST
भूमि अधिग्रहण को नियम विरुद्ध बता अखिल भारतीय आदिवासी महासभा ने किया प्रदर्शन
अखिल भारतीय आदिवासी महासभा का धरना

महासभा की ओर से जानकारी देते हुए बताया गया कि 1971 से उद्योग लगाने के नाम पर आयडा यहां के आदिवासियों-मूलवासियों का जमीन अधिग्रहण कर रखा है लेकिन आज तक जमीन मालिकों को ना तो नौकरी दिया गया है और ना ही उचित मुआवजा.

  • Share this:
सरायकेला जिला के आदित्यपुर स्थित आयडा भवन परिसर में बुधवार को अखिल भारतीय आदिवासी महासभा ने एक दिवसीय धरना-प्रदर्शन किया. वहीं इस प्रदर्शन के दौरान  महासभा ने सरकार और आयडा के प्रति नाराजगी जताते हुए कहा है कि आज भी नियम के विरुद्ध भूमि अधिग्रहण जारी है जबकि इसमें संशोधन किया गया है. महासभा की ओर से  जानकारी देते हुए बताया गया कि 1971 से उद्योग लगाने के नाम पर आयडा यहां के आदिवासियों- मूलवासियों का जमीन अधिग्रहण कर रखा है लेकिन आज तक जमीन मालिकों को ना तो नौकरी दिया गया है और ना ही उचित मुआवजा.

अदिवासियों का कहना है कि विस्थापन नीति के तहत उनका पुनर्वास भी नहीं किया गया है. हालांकि महासभा ने आगे की रणनीति का खुलासा नहीं किया लेकिन इशारों- इशारों में इतना जरूर कहा कि अब  महासभा इसको लेकर उग्र तेवर अख्तियार कर सकती है. उधर आने वाले लोकसभा चुनावों के मद्देनजर सत्ताधारी दल भाजपा और विपक्षी दल ऐसे सभी मुद्दों पर निगाह रखे हुए हैं, जो चुनावी मुद्दा बन सकते हैं. कहने को सरकार ने काफी योजनाएं आदिवासियों के कल्याण की चला रखी हैं लेकिन उसका लाभ भी एक सीमा तक ही उनको मिल पा रहा है.


यह भी पढ़ें - छात्र नेता पर जानलेवा हमला, बदमाशों ने स्कॉर्पियो पर बरसाईं गोलियां


यह भी पढ़ें - बकोरिया कांड : SC ने खारिज की सीबीआई जांच रोकने की झारखंड सरकार की याचिका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सराईकेला-खरसांवा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 1, 2019, 12:00 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...