ATM में लोहे का चिमटा फंसाकर लोगों को लगाते थे लाखों का चूना, 2 इंटर स्टेट साइबर अपराधी गिरफ्तार

गिरफ्तार अपराधी सरायकेला जिले के अलावा रांची, धनबाद, जमशेदपुर तथा पश्चिम बंगाल के पुरुलिया व आसनसोल में भी साइबर क्राइम करते आए हैं.
गिरफ्तार अपराधी सरायकेला जिले के अलावा रांची, धनबाद, जमशेदपुर तथा पश्चिम बंगाल के पुरुलिया व आसनसोल में भी साइबर क्राइम करते आए हैं.

सरायकेला पुलिस ने दो इंटर स्टेट साइबर अपराधी (Cyber Criminals) को गिरफ्तार कर लिया. ये लोग लोहे के चिमटे का इस्तेमाल कर एटीएम से पैसे की अवैध निकासी करते थे.

  • Share this:
सरायकेला. झारखंड के सरायकेला जिले की आदित्यपुर पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर छापेमारी कर दो इंटर स्टेट साइबर अपराधी (Cyber Criminals) को गिरफ्तार कर लिया. गम्हरिया के लाल बिल्डिंग के पास एटीएम से इन साइबर अपराधियों द्वारा गलत तरीके से पैसा निकालने की सूचना मिली थी. इसी आलोक में पुलिस ने छापेमारी (Raid) कर दोनों को गिरफ्तार किया. हालांकि इस दौरान दो अन्य अपराधी भागने में सफल रहे. पकड़े गये अपराधी के पास से क्लोनिंग किये हुए चार एटीएम कार्ड, विभिन्न बैंक के पांच एटीएम कार्ड एवं एटीएम से रुपये निकालने में इस्तेमाल होने वाले लोहे का सात चिमटा तथा कई दस्तावेज और कार बरामद हुए.

इस बारे में जानकारी देते हुए एसपी मोहम्मद अर्शी ने बताया कि उजीवन स्माल बैंक लिमिटेड द्वारा आदित्यपुर शाखा के एटीएम से पांच हजार रुपये गलत तरीके से निकाले जाने की आदित्यपुर थाना में शिकायत दर्ज कराई गई थी. जिसके बाद पुलिस लगातार अनुसंधान कर रही थी. इसी दौरान गम्हरिया लाल बिल्डिंग के एटीएम से गलत तरीके से पैसा निकालने की सूचना पर छापेमारी कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया.

ये अपराधी सरायकेला जिले के अलावा रांची, धनबाद, जमशेदपुर तथा पश्चिम बंगाल के पुरुलिया व आसनसोल में भी साइबर क्राइम करते आए हैं. सरायकेला जिले में ये लोग जुलाई महीने से सक्रीय थे. पुलिस के मुताबिक ये लोग एटीएम जाकर पहले कुछ पैसे निकालते थे. फिर एटीएम में रुपये निकालने की जगह पर लोहे का चिमटा फंसा देते थे. ऐसे में जब कोई पैसे निकालने आता था, तो उनका पैसा नहीं निकलता था. और ये अपराधी वापस एटीएम जाकर पैसे निकाल लेते थे.



एसपी ने बताया कि अभी इस मामले में और अनुसंधान कर पूरे गिरोह का पता लगाने की कोशिश जारी है. पुलिस की गिरफ्त में आये अपराधी रवि रंजन कुमार गया का रहने वाला है, जबकि निरंजन कुमार निराला गिरिडीह का रहने वाला है. पुलिस इस घटना में फरार दो साथियों की तलाश में जुटी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज