चुपके-चुपके पनप रहा था प्यार, पर ऐसा क्या हुआ कि एक साथ फांसी पर झूल गए देवर-भाभी

सरायकेला में देवर-भाभी ने एकसाथ फांसी से झूलकर खुदकुशी कर ली. (सांकेतिक तस्वीर)

सरायकेला में देवर-भाभी ने एकसाथ फांसी से झूलकर खुदकुशी कर ली. (सांकेतिक तस्वीर)

झारखंड के खरसावां जिले में देवर-भाभी के आत्महत्या (Suicide) करने के पीछे की वजहों का पता नहीं चल पाया है. दोनों के बीच प्रेम संबंध (Love Affair) को लेकर पुलिस कर रही जांच.

  • Share this:
सरायकेला. जिले के खरसांवा थानाक्षेत्र के पतपत गांव में आत्महत्या का मामला सामने आया. यहां रिश्ते के देवर-भाभी ने एकसाथ फांसी लगाकर खुदकुशी (Suicide) कर ली. एक ही साड़ी के फंदे में पेड़ से लटकी दोनों की लाशें बरामद हुईं. जानकारी के मुताबिक दोनों में प्रेम प्रसंग (Love Affair) चल रहा था. लेकिन दोनों ने ऐसा कदम क्यों उठाया, इस बात का पता नहीं चल पाया है. पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है.



ग्रामीणों ने गुरुवार दोपहर दोनों की लाशें पेड़ से लटकी हुई देखीं, जिसके बाद पूरे गांव में हड़कंप मच गया. घटना की सूचना पुलिस को दी गई. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. दोनों के परिवारवालों से पूछताछ की गई. दोनों का घर आसपास ही है. मृतक 27 वर्षीय रविन्द्र सरदार शादीशुदा था और उसको एक बच्चा भी है. वहीं 25 वर्षीय मृतका सुरुमनी सरदार दो बच्चों की मां थी. ग्रामीणों के अनुसार इन दोनों में पिछले एक वर्ष से प्रेम संबंध चल रहा था. लेकिन इस बात की खबर फैल न जाए, इसलिए लोकलाज के कारण इन्होंने आत्महत्या कर ली.



दोनों के परिवारवाले प्रेम संबंध से अनजान





मृतक रविन्द्र सरदार के भाई संतोष सरदार ने बताया कि उन्हें यह नहीं पता कि आखिर दोनों ने ऐसा कदम क्यों उठाया. दोनों के बीच प्रेम संबंध के बारे में भी उन्हें कुछ पता नहीं है. वहीं मृतका सुरुमनी सरदार के पति सोमा सरदार ने बताया कि उनके दो बच्चे हैं. उनके परिवार में भी सबकुछ ठीक चल रहा था. मगर दोनों के बीच कोई बात रही होगी, तभी दोनों ने ऐसा कदम उठाने का फैसला लिया.
जांच में जुटी पुलिस 



खरसांवा थानाप्रभारी सनोज कुमार ने बताया कि इस घटना के पीछे क्या कारण है, इसका अब तक खुलासा नहीं हो पाया है. दोनों परिवारवालों से पूछताछ में स्पष्ट वजह सामने नहीं आई है. लेकिन प्रेम संबंध में आत्महत्या की बात सामने आ रही है. पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है.



रिपोर्ट- विकास कुमार



ये भी पढ़ें- कहीं खाना तो कहीं सुविधा का रोना, क्वारंटाइन सेंटर में मजदूरों ने किया हंगामा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज