सरकारी केंद्रों पर खरीद ना होने से किसान भारी परेशान
Saraikela-Kharsawan News in Hindi

सरकारी केंद्रों पर खरीद ना होने से किसान भारी परेशान
एक धान के खेत में श्रम करती ग्रामीण महिला

सरायकेला जिले में धान अधिप्राप्ति केन्द्र का एक पखवाड़ा गुजर जाने के बावजूद अब तक धान की खरीदारी नहीं हो पायी है. जिला प्रशासन द्वारा बीते एक दिसंबर को जिले के सभी नौ प्रखंडों में एक-एक धान अधिप्राप्ति केन्द्र खोले गए थे.

  • Share this:
ٖझारखंड के सरायकेला जिले में धान अधिप्राप्ति केन्द्र का एक पखवाड़ा गुजर जाने के बावजूद अब तक धान की खरीदारी नहीं हो पायी है. जिला प्रशासन द्वारा बीते एक दिसंबर को जिले के सभी नौ प्रखंडों में एक-एक धान अधिप्राप्ति केन्द्र खोले गए थे. अब तक जिले के 4820 किसानों को धान बेचने हेतु निबंधित किया गया है. उन्हें एसएमएस भेजने का काम भी जारी है लेकिन धान बेचने में अब तक किसानों की उदासीनता ही दिख रही है. अब तक एक भी किसान धान केन्द्रों तक नहीं पहुंचा है.

इस बारे में जानकारी देते हुए जिला आपूर्ति पदाधिकारी बाल किशोर महतो ने बताया कि इस बार केवल निबंधित किसानों से ही धान की खरीद की जाएगी. वहीं निबंधित किसानों को एसएमएस भेजा जाता है. एसएमएस पाये किसानों से ही धान खरीदा जाएगा. उन्होंने अब तक धान की खरीदारी नहीं शुरु होने पर कहा कि अभी मौसम भी खराब है तथा किसान अभी अपने खेती के काम में लगे हैं.

ؑउनका कहना था कि पूरी व्यवस्था बनाने के कारण धान खरीदारी में देरी हुई है मगर जल्द किसान धान बेचने हेतु केन्द्र आएंगे. मालूम हो कि पिछले साल सरकार ने एजेंसी के द्वारा धान खरीद की थी मगर इस बार सरकार अपने स्तर से धान खरीद रही है. इस बार धान खरीद का मूल्य 1750 रुपया से 1770 रुपया तय किया गया है.



यह भी पढ़ें - पश्चिमी सिंहभूम के स्कूलों में होगी डिजिटल पढ़ाई, लगेंगी स्मार्ट क्लास
यह भी पढ़ें - देवघर में पत्थर का अवैध उत्खनन जारी, स्टोन डस्ट से परेशान ग्रामीण
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading