तीरंदाजी में 50 बच्चों को प्रशिक्षण देने की सरकारी कोशिश
Saraikela-Kharsawan News in Hindi

तीरंदाजी में 50 बच्चों को प्रशिक्षण देने की सरकारी कोशिश
नैसर्गिक तीरंदाजी प्रतिभा को निखारने का प्रयास

झारखंड में सरायकेला जिला के नैसर्गिक तीरंदाजी प्रतिभा को उभारने के लिए सरकार के स्तर से अवसर बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे हैं. इस बाबत जिला खेल समिति ने एक प्रस्ताव तैयार कर झारखंड सरकार के कला संस्कृति व खेलकूद विभाग को भेज दिया है.

  • Share this:
झारखंड में सरायकेला जिला के नैसर्गिक तीरंदाजी प्रतिभा को उभारने के लिए सरकार के स्तर से अवसर बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे हैं.  इस बाबत जिला खेल समिति ने एक प्रस्ताव तैयार कर झारखंड सरकार के कला संस्कृति व खेलकूद विभाग को भेज दिया है. तीरंदाजों को हुनरमंद बनाने में प्रयासरत तीरंदाजी एकडमी में अब 30 की जगह 50 बच्चों को नि:शुल्क आवासीय सुविधा से युक्त प्रशिक्षण दिए जाने की योजना है.

इस बारे में जानकारी देते हुए जिला खेल पदाधिकारी बाल किशोर महतो ने कहा कि विभाग से स्वीकृति मिलने के बाद आगामी सत्र से तीरंदाजी एकडमी में 50 बच्चों को प्रशिक्षण दिया जाएगा. तीरंदाजी एकडमी में पर्याप्त आधारभूत संरचना व सुविधा तथा जिले के ज्यादा से ज्यादा बच्चों को तीरंदाजी कौशल में दक्ष करने को लेकर यह फैसला लिया गया है.

मालूम हो कि सरायकेला जिले की नैसर्गिक तीरंदाजी प्रतिभा राज्य स्तर पर ही नहीं बल्कि राष्ट्रीय स्तर पर भी अपनी खास पहचान रखता है. यहां के दर्जनों खिलाड़ी राष्ट्र स्तर व विश्व स्तर पर कई मेडल जीत देश का नाम रोशन कर चुके हैं. यही कारण है कि जिला प्रशासन जिले के ज्यादा से ज्यादा बच्चों को तीरंदाजी का प्रशिक्षण देकर उनकी प्रतिभा उभारने के प्रयास में जुटा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज