ईचागढ़ सीट से चुनाव लड़ना चाहती हैं पूर्व आईएएस अधिकारी सुचित्रा सिन्हा
Saraikela-Kharsawan News in Hindi

ईचागढ़ सीट से चुनाव लड़ना चाहती हैं पूर्व आईएएस अधिकारी सुचित्रा सिन्हा
पूर्व आईएएस सुचित्रा सिन्हा ने हाल में ही रांची में बीजेपी का दामन थामा.

भाजपा (BJP) जिलाध्यक्ष उदय सिंहदेव ने कहा कि सुचित्रा सिन्हा (Suchitra Sinha) ईमानदार छवि वाली तेजतर्रार आईएएस (IAS) रही हैं. उनके पार्टी में आने से पार्टी को फायदा मिलेगा. जहां तक टिकट (Ticket) की बात है, तो इसपर फैसला आलाकमान करेगा.

  • Share this:
सरायकेला. हाल में बीजेपी (BJP) का दामन थामने वाली पूर्व आईएएस अधिकारी सुचित्रा सिन्हा (Former IAS Suchitra Sinha) ने ईचागढ़ विधानसभा सीट (Ichagarh Seat) से चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की है. इस बाबत उन्होंने सरायकेला जिला बीजेपी अध्यक्ष उदय सिंहदेव को एक पत्र सौंपा है. जिसमें उन्होंने अपनी उपलब्धियों की चर्चा करते हुए चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की है. इस सिलसिले में न्यूज-18 से खास बातचीत में सुचित्रा सिन्हा ने कहा कि पार्टी अगर उन्हें टिकट (Ticket) देती है, तो वे ईचागढ़ विधानसभा सीट पर चुनाव लड़ सकती हैं. वैसे वे पार्टी में सेवा भावना से आयी हैं. टिकट मिले या न मिले, पार्टी के लिए निष्ठाभाव से काम करती रहेंगी.

सुचित्रा सिन्हा राज्य सहकारी समितियों के निबंधक पद से रिटायर्ड हुईं. इससे पहले वे कई महकमे में वरिष्ठ पदों पर रह चुकी थीं. उन्होंने सरायकेला-खरसावां जिले के नीमडीह में सबर जनजाति के जीवन स्तर को ऊंचा उठाने की दिशा में काफी काम किये. सबर जनजाति के लोगों के पारंपरिक कार्य रस्सी से कई उपयोगी सामान बनाने की कला को नई ऊंचाइयां दीं. नीमडीह में रहने वाले सबर जनजाति के लोग सुचित्रा सिन्हा को मां कहकर संबोधित करते हैं.

भाजपा जिलाध्यक्ष उदय सिंहदेव ने कहा कि सुचित्रा सिन्हा ईमानदार छवि वाली तेजतर्रार आईएएस रही हैं. उनके पार्टी में आने से पार्टी को फायदा मिलेगा. जहां तक टिकट की बात है, तो इसपर फैसला आलाकमान करेगा.



बता दें कि ईचागढ़ विधानसभा सीट पर वर्तमान में बीजेपी का कब्जा है. यहां से साधुचरण महतो विधायक हैं. उन्होंने 2014 के चुनाव में जेएमएम की उम्मीदवार सबिता महतो को 42 हजार से ज्यादा मतों से हराया था. हालांकि साधुचरण लगातार विवादों में घिरे रहे हैं. इस बार भी ईचागढ़ सीट पर उनकी दावेदारी है. लेकिन उनके अलावा कई और नाम भी चर्चा में है. इस सीट पर 2009 में जेवीएम और 2005 में जेएमएम के उम्मीदवार को जीत मिली थी.
(इनपुट- विकास कुमार)

ये भी पढ़ें-  रांची में टेक्सटाइल और फुटवियर प्लांटों का शिलान्यास, 40 हजार लोगों को मिलेगा रोजगार

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading