लाइव टीवी

सरायकेला: 38 करोड़ के लोन हेराफेरी मामले में कॉपरेटिव बैंक के तत्कालीन मैनेजर गये जेल
Saraikela-Kharsawan News in Hindi

News18 Jharkhand
Updated: May 23, 2020, 2:21 PM IST
सरायकेला: 38 करोड़ के लोन हेराफेरी मामले में कॉपरेटिव बैंक के तत्कालीन मैनेजर गये जेल
38 करोड़ के लोन हेराफेरी मामले में सहकारी बैंक के तत्कालीन मैनेजर को सीआईडी ने गिरफ्तार किया

लोन हेराफेरी (Loan Fraud) के इस मामले में आरोपी तत्कालीन मैनेजर के खिलाफ तीन केस दर्ज किये गये हैं. एक महीना पहले मामले की जांच का जिम्मा सीआईडी (CID) को सौंपा गया

  • Share this:
सरायकेला. झारखंड राज्य सहकारी बैंक की सरायकेला शाखा में नियमों को ताक पर रखकर खाताधारक संजय कुमार डालमिया को कई बार में करीब 38 करोड़ लोन (Loan) देने व हेराफेरी करने के मामले में आरोपी तत्कालीन मैनजर सुनील कुमार सत्पथी को शुक्रवार रात गिरफ्तार (Arrest) किया गया. जिसके बाद शनिवार को सीआईडी (CID) ने उन्हें सरायकेला कोर्ट (Saraikela Court) में पेश किया. जहां से आरोपी को जेल भेज दिया गया.

सीआईडी के डीएसपी अनिमेष गुप्ता ने बताया कि यह मामला झारखंड राज्य सहकारी बैंक के सरायकेला शाखा से जुड़ा हुआ है. 38 करोड़ के लोन देने में हेराफेरी व गड़बड़ी का मामला सामने आया है. इस मामले की सीबीआई जांच चल रही है. इसी सिलसिले में आरोपी तत्कालीन मैनेजर को गिरफ्तार किया गया.

आरोपी ने दी ये सफाई



आरोपी ने बताया कि उन्होंने जिस सिक्युरिटी दस्तावेजों के आधार पर खाताधारक संजय डालमिया को लोन दिया, वह सही है. केवल सात करोड़ का लोन ज्यादा दिया था. लोन रिकवरी का प्रयास चल रहा था. व्यवसायी संजय कुमार डालमिया लोन लौटाने को भी तैयार थे. मगर वर्ष 2018 में उन्हें संस्पेंड कर दिया गया. इसलिए लोन की रिकवरी नहीं हो पाई.



एलआईसी के मात्र एक प्रीमियम जमा किये गये पॉलिसी पर दिया पूरा लोन

सरायकेला शाखा के वर्तमान मैनेजर प्रदीप कुमार शामल ने बताया कि यह मामला वर्ष 2012 से वर्ष 2017 के बीच का है. खाताधारक संजय डालमिया को पहले एक करोड़ का लोन दिया गया. फिर उसे साढ़े चार करोड़ का लोन दिया गया. उनके निजी खाते में पैसों को नियमों को ताक पर रखकर डाला गया. एलआईसी के मात्र एक प्रीमियम जमा किये गये पॉलिसी पर पूरा लोन दे दिया गया. वर्ष 2017 में पहली बार इसका खुलासा हुआ. 2018 में तत्कालीन बैंक मैनेजर सुनील सत्पथी को संस्पेंड किया गया. फिलहाल मामले की जांच चल रही है.

आरोपी पर सरायकेला थाने में तीन केस दर्ज 

इस मामले में अब तक तीन केस दर्ज हुए हैं. जिसमें 21 अगस्त 2019 को सरायकेला थाने में दो केस 38 करोड़ लोन देने में हेराफरी व गबन से जुड़ा केस है. इस केस में तत्कालीन बैंक मैनेजर सुनील कुमार सत्पथी, लोन लेने वाले व्यवसायी संजय कुमार डालमिया समेत कई अन्य आरोपी हैं. इस मामले में व्यवसायी संजय कुमार डालमिया को झारखंड हाईकोर्ट से कुछ दिन पहले बेल मिला है. आठ मार्च 2020 को भी सरायकेला थाने में सुनील कुमार सत्पथी पर बिना पैसा जमा किये 43 लाख रुपये का डिमांड ड्राफ्ट इश्यु करने का मामला दर्ज हुआ है. यह ड्राफ्ट भी व्यवसायी संजय डालमिया को ही जारी किया गया था. केस दर्ज होने के बाद दोनों मामले की जांच सरायकेला थाने की पुलिस कर रही थी. मगर एक महीने पहले जांच का जिम्मा सीआईडी को सौंपा गया.

रिपोर्ट- विकास कुमार

ये भी पढ़ें- सॉरी भाई हम भी कड़की में हैं, मजदूरों से 2000 लूटकर 1200 लौटाए, फिर बदमाशों ने मांगी माफी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सराईकेला-खरसांवा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2020, 2:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading