कोल्हान में झामुमो प्रखंड अध्यक्ष को हटाने पर पार्टी में भारी नाराज़गी

कोल्हान में झामुमो कार्यकर्ताओं ने पार्टी में बगावत नजर आ रही है. पार्टी के नेता और कार्यकर्ता दो गुटों बंट गए हैं. पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं का आक्रोश, नाराजगी और गुटबाजी अब खुलकर सामने आ गई है. कोल्हान में पार्टी के तीन विधायक और कई बडे़ नेता भी इस बगावत में शामिल हैं.

News18 Jharkhand
Updated: October 12, 2018, 11:45 PM IST
कोल्हान में झामुमो प्रखंड अध्यक्ष को हटाने पर पार्टी में भारी नाराज़गी
पद से हटाए पंकज सिंह
News18 Jharkhand
Updated: October 12, 2018, 11:45 PM IST
कोल्हान में झामुमो कार्यकर्ताओं ने पार्टी में बगावत नजर आ रही है. पार्टी के नेता और कार्यकर्ता दो गुटों बंट गए हैं. पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं का आक्रोश, नाराजगी और गुटबाजी अब खुलकर सामने आ गई है. कोल्हान में पार्टी के तीन विधायक और कई बडे़ नेता भी इस बगावत में शामिल हैं लेकिन वे अभी पर्दे के पीछे हैं. शायद वह पार्टी आलाकमान के फैसले का इंतजार कर रहे हैं. कोल्हान में पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं के इस बगावत से पूर्व सीएम हेमंत सोरेन के संघर्ष यात्रा को तगड़ा झटका लगा है.

कोल्हान झामुमो में कार्यकर्ताओं का यह बगावती तेवर पश्चिम सिंहभूम जिला अध्यक्ष भुनेश्वर महतो को लेकर सामने आया है. जिला अध्यक्ष के कार्यशैली के परेशान न सिर्फ पार्टी के नेता हैं बल्कि कई विधायक भी खासे नाराज हैं. इसकी जानकारी हेमंत सोरेन को भली-भांति है. जिला अध्यक्ष की गुटबाजी हेमंत सोरेन के संघर्ष यात्रा के दौरान मनोहरपुर और चक्रधरपुर विधानसभा दौरे के दौरान भी दिखा जब जिला अध्यक्ष के समर्थकों ने चक्रधरपुर के विधायक शशिभूषण सामड के पोस्टर को फाड़ा गया.

झामुमो नेताओं का बगावती तेवर खुलकर तब सामने आए जब जिला अध्यक्ष ने नोवामुंडी प्रखंड के अध्यक्ष पंकज सिंह को बगैर किसी सूचना के हटा दिया और उनकी जगह 6 माह पूर्व भाजपा से झामुमो में आए एक नए-नए नेता को प्रखंड अध्यक्ष बना दिया. वह भी तब जब नोवामुंडी में दर्जनों ऐसे नेता हैं, जो 25-30 साल से झामुमो का झंडा ढोते आ रहे हैं. प्रखंड अध्यक्ष पद से हटाए गए पंकज सिंह के समर्थन में पूरे जगन्नाथपुर विधानसभा के सभी सीनियर लीडर एकजुट हो गए हैं.

पंकज सिंह को तीन विधायक दीपक विरूआ, जोबा मांझी, शशिभूषण सामड और जगन्नाथपुर के पूर्व विधायक मंगल सिंह बोबेंगा का भी पूरा समर्थन है. जगन्नाथपुर विधानसभा के सभी नेताओं ने एक स्वर में जिला अध्यक्ष पर मनमानी का आरोप लगाते हुए उन्हें भाजपा का एजेंट बताया और हेमंत सोरेन से हटाने की मांग की है. जिला अध्यक्ष के नहीं हटाएं जाने पर किसी हद तक जाने की भी चेतावनी भी दी है.

यह भी पढ़ें - ग्लोबल हंगर इंडेक्स में खुलासा, झारखंड की आधी आबादी को नहीं मिलता है पर्याप्त खाना

यह भी पढ़ें - आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णो को 26 फीसदी आरक्षण देने पर विचार- रामदास अठावले
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर