अल्पसंख्यक क्षेत्रों में भ्रांतियों के कारण मीजल्स रूबेला टीकाकरण में रूकावट

सरायकेला जिला में मीजल्स रूबेला से मुक्ति पाने के लिए 64 प्रतिशत बच्चों का टीकाकरण किया जा चुका है.
सरायकेला जिला में मीजल्स रूबेला से मुक्ति पाने के लिए 64 प्रतिशत बच्चों का टीकाकरण किया जा चुका है.

सिविल सर्जन डॉ. प्रियरंजन ने कहा कि मीजल्स रूबेला टीकाकरण अभियान में अब तक सरायकेला जिला टॉप पर है. पर इस अभियान में सौ फीसदी सफलता हासिल करने में कुछ अल्पसंख्यक इलाकों व पत्थलगड़ी वाले इलाकों में तरह तरह की भ्रांतियों के कारण परेशानी आ रही है.

  • Share this:
मीजल्स रूबेला बीमारी से भारत को मुक्त करने को लेकर बीते 26 जुलाई से जारी टीकाकरण अभियान सरायकेला जिला में जोरशोर से चलाया जा रहा है. स्वास्थ्य विभाग के बेहतर कार्य का ही नतीजा है कि नौ माह से 15 वर्ष तक के करीब 3 लाख 84 हजार बच्चों के टीकाकरण किए जाने के अभियान में अब तक 64 प्रतिशत बच्चों का टीकाकरण किया जा चुका है. इस अभियान में सरायकेला जिला अब तक पूरे प्रदेश में अव्वल है.

लेकिन पूरे प्रयास के बावजूद इस अभियान को संचालित करने में स्वास्थ्य विभाग को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. चांडिल प्रखंड के कपाली, राजनगर प्रखंड के शोभापुर, गम्हरिया प्रखंड के चंदरपुर, मुड़िया जैसे कई अल्पसंख्यक बहुल इलाकों में भ्रांतियों के कारण लोग अपने बच्चों को टीका नहीं लगवा रहे हैं. साथ ही कुचाई के पत्थलगड़ी वाले इलाकों में भी इस अभियान पर असर पड़ रहा है.

इस पूरी स्थिति के बीच स्वास्थ्य विभाग लोगों को समझाने में जुटा है ताकि सभी बच्चों का अनिवार्य रूप से टीकाकरण कराया जा सके. इस बारे में जानकारी देते हुए सिविल सर्जन डॉ. प्रियरंजन ने कहा कि मीजल्स रूबेला टीकाकरण अभियान में अब तक सरायकेला जिला टॉप पर है. पर इस अभियान में सौ फीसदी सफलता हासिल करने में कुछ अल्पसंख्यक इलाकों व पत्थलगड़ी वाले इलाकों में तरह तरह की भ्रांतियों के कारण परेशानी आ रही है. उन्होंने कहा कि लोगों को जागरूक कर उनके बच्चों का टीकाकरण कराने का प्रयास किया जा रहा है. उन्होंने उम्मीद जताते हुए कहा कि लोग सारी बातों को समझेंगे और टीकाकरण के लक्ष्य को पूरा किया जा सकेगा.



मालूम हो कि सरायकेला जिला में मीजल्स रूबेला का टीकाकरण अभियान 26 जुलाई से चलाया जा रहा है. इसे पांच हफ्तों तक चलाया जाना था. मगर सरकार के निर्देश के आलोक में इस अभियान को और एक महीने के लिए बढ़ाया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज