सराईकेला मॉब लिंचिंग: राज्य अल्पसंख्यक आयोग की टीम ने दोनों गांवों का दौरा कर जुटाई जानकारी

आयोग के अध्यक्ष कमाल खान ने कहा कि हर एंगल से मामले की जांच चल रही है. एसआईटी के अलावा डीसी ने भी तीन सदस्यीय जांच टीम गठित की है. पुलिस कार्रवाई कर रही है. एक भी दोषी बख्शे नहीं जाएंगे.

News18 Jharkhand
Updated: June 25, 2019, 7:30 PM IST
सराईकेला मॉब लिंचिंग: राज्य अल्पसंख्यक आयोग की टीम ने दोनों गांवों का दौरा कर जुटाई जानकारी
पीड़ित परिवार से जानकारी लेती अल्पसंख्क आयोग की टीम
News18 Jharkhand
Updated: June 25, 2019, 7:30 PM IST
सराईकेला मॉब लिंचिंग मामले में राज्य अल्पसंख्यक आयोग की टीम ने कदमडीहा गांव जाकर पीड़ित परिवार से मुलाकात की. इस दौरान टीम ने परिवारवालों से घटना की विस्तार से जानकारी ली. करीब घंटेभर चली इस मुलाकात के दौरान आयोग ने परिजनों को हर संभव सरकारी मदद दिलाने का भरोसा दिलाया.

अल्पसंख्यक आयोग की टीम का दौरा 

कदमडीहा गांव के बाद आयोग की टीम धातकीडीह गांव पहुंची. धातकीडीह में ही मृतक तबरेज की पिटाई की गई थी. धातकीडीह में भी आयोग की टीम ने गांववालों से पूछताछ कर घटना की जानकारी जुटाई. इस दौरान एसडीओ डॉ बशारत कयूम भी टीम के साथ मौजूद थे. बशारत कयूम की ही अगुआई में डीसी ने मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय टीम गठित की है. यह टीम पुलिस की एसआईटी से अलग घटना की जांच कर रही है.

संवेदनशील इलाकों में पुलिसबल तैनात

एसडीओ बशारत कयूम ने कहा कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है. अभी तक 11 गिरफ्तारियां हुई हैं. अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कार्रवाई हो रही है. संवेदनशील इलाकों में पुलिसबल तैनात किये गये हैं. शांति बहाली के लिए प्रशासन लोगों से बात कर रहा है. सोशल मीडिया पर फैल रहे अफवाह पर लोग को ध्यान नहीं देना चाहिए.

अधिकारियों के साथ बैठक

दोनों गांवों का दौरा करने के बाद सराईकेला सर्किट हाउस में आयोग की टीम ने डीसी, एसपी समेत जिले के पदाधिकारियों के साथ बैठक की. इस दौरान आयोग ने मृतक की पत्नी को हर संभव मदद देने का पदाधिकारियों को निर्देश दिया. साथ ही पुलिस की अबतक की कार्रवाई की भी जानकारी ली.
2 लाख मुआवजे के लिए होगी सिफारिश 

बैठक के बाद आयोग के अध्यक्ष कमाल खान ने कहा कि हर एंगल से मामले की जांच चल रही है. एसआईटी के अलावा डीसी ने भी तीन सदस्यीय जांच टीम गठित की है. पुलिस कार्रवाई कर रही है. एक भी दोषी बख्शे नहीं जाएंगे. मृतक की पत्नी को 2 लाख रुपये मुआवजा देने की सिफारिश की जाएगी. साथ ही उसे नौकरी दिलाने की भी कोशिश होगी.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत के कारणों का नहीं चला पता

इस बीच मृतक तबरेज की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आयी. हालांकि इसमें मौत के स्पष्ट कारणों का पता नहीं चला है. अब बिसरा जांच में इसका खुलासा होगा. इधर, रांची स्थित झारखंड हाईकोर्ट में इस मामले को लेकर जनहित याचिका दायर की गई. इसमें सीबीआई जांच की मांग की गई है. अब तक सूबे में 18 मॉब लिंचिंग के मामले हुए हैं.

बाइक चोरी के आरोप में पिटाई 

बता दें कि 17 जून की रात को मृतक तबरेज जमशेदपुर स्थित अपने फुआ के घर से वापस अपने गांव कदमडीहा लौट रहा था. इसी दौरान धातकीडीह गांव में ग्रामीणों ने मोटरसाइकिल चोरी के आरोप में उसे पकड़ लिया और रात भर बांधकर पिटाई की. इसके बाद लोगों ने अगले दिन सुबह उसे पुलिस के हवाले कर दिया. पुलिस ने पहले उसका इलाज सदर अस्पताल में कराया, फिर शाम को जेल भेज दिया.

सदर अस्पताल में इलाज के दौरान मौत

22 जून की सुबह तबरेज को जेल से गंभीर हालत में सदर अस्पताल लाया गया, जहां उसकी मौत हो गयी. मृतक के परिजनों ने उसके जिंदा होने का दावा कर उसे रेफर करने की मांग की जिसके बाद अस्पताल प्रशासन ने उसे जमशेदपुर के टीएमएच अस्पताल रेफर कर दिया. वहां भी डॉक्टरों ने तबरेज को मृत करार दिया. यहां से शव को वापस सरायकेला लाकर उसका पोस्टमॉर्टम कराया गया.

इनपुट- विकास व अन्नी 

ये भी पढ़ें- झारखंड मॉब लिन्चिंग: परिजन बोले- मारपीट के दौरान तबरेज को पिलाया गया जहरीला रस

झारखंड मॉब लिंचिंग: दो महीने पहले हुई थी मृतक की शादी, पत्नी बोली- मुझे इंसाफ चाहिए

 

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...