• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • Human Interest Story : बदन पर फटे कपड़े, भूख से चेहरा मुरझाया हुआ और सामने पुलिस..., पढ़ें पूरी कहानी

Human Interest Story : बदन पर फटे कपड़े, भूख से चेहरा मुरझाया हुआ और सामने पुलिस..., पढ़ें पूरी कहानी

Simdega News: बाना थाना प्रभारी प्रभात कुमार ने बच्‍ची इतवारी बडिंग को उसके परिजनों से मिलवाकर ही दम लिया. (न्‍यूज 18)

Simdega News: बाना थाना प्रभारी प्रभात कुमार ने बच्‍ची इतवारी बडिंग को उसके परिजनों से मिलवाकर ही दम लिया. (न्‍यूज 18)

Human Face of Jharkhand police: बच्‍ची अपने घर से मामा के पास जाने के लिए निकली थी, लेकिन रास्‍ता भटक कर बानो पहुंच गई. बानो थाना प्रभारी को जैसे ही इसकी सूचना मिली तो उन्‍होंने खुद जाकर बच्‍ची को थाने ले आए और यहां से उसको परिजनों से मिलाने का मिशन शुरू हो गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    रिपोर्ट – श्रीराम पुरी

    सिमडेगा. आमतौर पर पुलिस का जिक्र आते ही आम जनमानस में भय और असहजता का भाव देखने को मिलता है, लेकिन झारखंड की सिमडेगा पुलिस के इस मानवीय संवेदनशीलता से भरे काम के बारे में सुन आप उसके सकारात्मक पक्ष की सराहना किए बिना नहीं रह सकेंगे. सिमडेगा की बानो पुलिस ने रास्ता भटकी एक बच्ची को उसे परिजनों से मिलवाने के लिए पुरजोर कोशिश की और बच्‍ची को उसके अभिभावकों तक पहुंचा कर ही दम लिया.

    दरअसल, एक बच्‍ची भटकती हुई बानो थाना क्षेत्र में पहुंच गई थी. थाना प्रभारी को जैसे ही इसकी सूचना मिली, वह मौके पर पहुंचे और उसे उसके अभिभावकों के पास पहुंचाने के मिशन में जुट गए.

    रास्ता भटक गई थी बच्ची

    बानो थाना प्रभारी प्रभात कुमार ने बताया कि एक बच्‍ची रास्‍ता भटक कर बानो प्रखंड मुख्यालय तक पहुंच गई थी. जब इस बात की सूचना मिली तो थाना प्रभारी प्रभात कुमार खुद वहां पहुंच गए, जहां बच्‍ची भटक की आई थी. वह उस बच्‍ची को अपने साथ थाना ले आए. बच्ची फटे-पुराने कपड़े पहने डरी-सहमी थी. उसके चेहरे से यह साफ झलक रहा था कि वह भूखी है. थाना प्रभारी ने महिला चौकीदार के साथ बच्ची को बिठाया और उसके लिए नए कपड़े, चप्‍पल, खिलौने आदि की व्‍यवस्‍था की. बच्‍ची के थोड़ा सामान्‍य होने पर बानो पुलिस ने उसे खाना खिलाया. इसके बाद बच्‍ची का चेहरा ठीक उसी तरह खिल उठा जैसे कोई मुरझाया हुआ फूल खिल उठा हो.

    केजरीवाल सरकार की राह पर हेमंत सोरेन: BPL को मुफ्त पानी कनेक्‍शन, बाकी को हर महीने 5 हजार लीटर तक फ्री

    बच्ची के पिता की मौत हो चुकी, मां है अर्द्धविक्षिप्त

    इसके बाद थाना प्रभारी प्रभात ने बच्ची के साथ हंसते-खेलते उसका नाम और परिजनों के बारे में पूछने लगे, तब पता चला कि बच्ची का नाम इतवारी बडिंग है. उसका घर जलडेगा थाना क्षेत्र के खरवागढ़ा पहाड़टोली है. बच्‍ची ने बताया कि उसके पिता को बहुत पहले एक पागल कुत्ते ने काट लिया था, जिससे उनकी मौत हो गई थी. बच्ची की मां भी अर्धविक्षिप्त है, जिस कारण इतवारी कोलेबिरा थाना क्षेत्र के रामजड़ी में अपने मामा अघनु के घर पर रहती थी. वह घर से निकली और रास्ता भटक कर यहां तक पहुंच गई. बच्ची ने बताया कि उसके एक मामा तीनसोकरा में रहते हैं और वह वहीं जाना चाहती है.

    बच्ची को सौंपा मामा को

    बच्‍ची द्वारा दी गई सूचना के आधार पर बानो थाना प्रभारी ने पता करते हुए तीनसोकरा से उसके मामा अगला मुंडा को ढूंढ़ लिया और इतवारी को उन्‍हें सौंप दिया. बानो पुलिस ने एक बार फिर साबित कर दिया कि पुलिस सिर्फ अपराधियों में नकेल ही नहीं कसती, बल्कि जनता की हमदर्द और बेसहारों के लिए देवदूत बन कर भी सामने आती है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज