लाइव टीवी

झारखंड: पूर्व माओवादी कमांडर ने गिनाई BJP की उपलब्धियां, बोले- इसे दूंगा वोट

News18 Jharkhand
Updated: December 7, 2019, 9:55 AM IST
झारखंड: पूर्व माओवादी कमांडर ने गिनाई BJP की उपलब्धियां, बोले- इसे दूंगा वोट
सिमडेगा में अपने परिवार के साथ तिलकमन उर्फ दीपक साहू.

इतने साल बीत जाने के बाद भी साहू को नहीं पता है कि उन्होंने माओवादी बनना क्यों चुना लेकिन यह उन्हें जरूर पता है कि वोट किसे देना है. वे कहते हैं, 'इसमें कोई संदेह नहीं है कि मैं बीजेपी को वोट दूंगा. वे देश के लिए काम कर रहे हैं.'

  • Share this:
अद्रिजा बोस
सिमडेगा. झारखंड में ऑपरेशन नई दिशा शुरू होने के बाद तीन साल पहले अंततः सीपीआई माओवादी के सब जोनल कमांडर तिलकमन साहू उर्फ दीपक साहू ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया था. उनके सरेंडर की खबर अखबारों में पहले पन्ने पर छाई रही. उस समय तक दीपक पर हत्या के 34 केस के साथ फिरौती और अवैध हथियारों का जखीरा रखने का मामला दर्ज था. मीडिया के कैमरों के सामने साहू को पांच लाख का चेक देकर पुलिस ने मुख्यधारा में शामिल किया. हालांकि दीपक कहते हैं कि इसके अलावा सरकार ने और कोई वादा पूरा नहीं किया.

दीपक साहू बताते हैं कि वादा किया गया था कि जमीन दी जाएगी जिससे की आप अपना जीवन यापन कर सकें. इसके साथ ही स्किल डेवलपमेंट की बात कही गई थी और इस दौरान पांच हजार रुपए का स्टाइपंड का वादा किया गया था. साथ ही साथ बच्चों की ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई का खर्च देने का वादा भी सरकार ने किया था. इसमें कहा गया था कि यह अधिकतम सलाना 25 हजार रुपए तक हो सकता है. लेकिन मुझे कुछ नहीं मिला और सबसे महत्वपूर्ण यह कि कोई सुरक्षा भी नहीं दी गई है.

दीपक साहू बताते हैं कि मैं डर के साये में रहता हूं. साहू ने राइफल सुरक्षा एक्ट के तहत हथियार के लिए अप्लाई किया था लेकिन अभी तक नहीं मिला. माओवादी रहने के दौरान साहू ने 15 साल में पुलिस के साथ सात मुठभेड़ किए. इसमें एक सिमडेगा थाने पर हमला भी शामिल था. 2008 के नए साल की पूर्व संध्या पर किए गए इस हमले में एक पुलिस का जवान शहीद हो गया था और कुछ घायल भी हुए थे.

तीन साल पहले साहू ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया था. (फाइल फोटो)


इतने साल बीत जाने के बाद भी साहू को नहीं पता है कि उन्होंने माओवादी बनना क्यों चुना लेकिन यह उन्हें जरूर पता है कि वोट किसे देना है. वे कहते हैं, 'इसमें कोई संदेह नहीं है कि मैं बीजेपी को वोट दूंगा. वे देश के लिए काम कर रहे हैं.' इसके साथ ही साहू बीजेपी की उपलब्धियों को गिनाते हैं और कहते हैं, 'उन्होंने कश्मीर में अच्छा काम किया है. वे हमें राम मंदिर दे रहे हैं.'

इसके कुछ देर बाद वे कहते हैं कि मेरे पास वोटर आईडी कार्ड नहीं है. वे कहते हैं, 'मुझे अगले साल तक यह मिल जाएगा.' हालांकि उन्होंने अपने पूरे परिवार को बीजेपी की वर्तमान सरकार को वोट देने के लिए राजी कर लिया है. वे कहते हैं, 'फिलहाल राज्य को एक मजबूत पार्टी की जरूरत है और बीजेपी वह पार्टी है. अगर वे कुछ करने के लिए कहते हैं तो करते भी हैं.'मूल खबर (अंग्रेजी में) को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 



 

ये भी पढ़ें-

Jharkhand Election (2nd Phase): CM रघुवर दास ने ट्वीट कर वोट करने की अपील की

जमशेदपुर: चुनाव में ड्यूटी के लिए आए एएसआई की हार्टअटैक से मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सिमडेगा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 7, 2019, 9:50 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर