सब-जूनियर महिला हॉकी प्रतियोगिता: सिमड़ेगा में जमकर पसीना बहा रहीं महिला खिलाड़ी

सिमडेगा में प्रैक्टिस के दौरान महिला खिलाड़ी.

सिमडेगा में प्रैक्टिस के दौरान महिला खिलाड़ी.

सिमडेगा में 11वीं सब जूनियर महिला हॉकी प्रतियोगिता का आयोजन होना है. इसके लिए कैंप लगाया जा रहा है और कैंप के दूसरे दिन भी सुबह से झारखण्ड की सम्भावित 30 खिलाड़ियों ने पसीना बहाया है.

  • Share this:
श्रीराम पुरी

सिमडेगा (झारखंड). झारखंड सिमडेगा में होने वाले 11वीं सब जूनियर महिला हॉकी प्रतियोगिता के लिए दूसरे दिन भी सुबह से झारखण्ड की सम्भावित 30 खिलाड़ियों ने जमकर पसीना बहाया. चूँकि मैच 10 मार्च से शुरू होना है तो ग्राउंड में भी प्रसाशन ने काम तेज कर दिया है. स्ट्रोटर्फ में जल छिड़काव के लिए लगे उपकार को ठीक किया जा रहा है. साथ ही नया ट्रांसफॉर्मर का भी अधिष्ठापन किया जा रहा है, ताकि खेल परिसर का अपना ट्रांसफ़ॉर्मर हो जिससे निर्वाध बिजली मिल सके.

देश को दिए कई खिलाड़ी

सिमडेगा जिला ने चार दर्जन से अधिक हॉकी खिलाड़ी देश को दिए हैं. देश के लिए खेलने वाले पहले खिलाड़ी थे. सेवईं खूंटीटोली के स्वर्गीय नॉवेल टोप्पो जो 1966 में देश के लिए खेले. इसके बाद 1972 में स्वर्गीय माइकल किण्डों ने ओलम्पिक खेलों में शिरकत की. देश को सिलबानुस डुंगडुंग ने इसी तरह 1980 ओलम्पिक में गोल्ड दिलाया. 2000 में कॉमनवेल्थ में सिमडेगा की बेटी सुमराइ टेटे, मसीरा सुरीन और कांती बा ने देश के लिए योगदान किया. सुमराइ टेटे 2006 में कप्तान भी रही थी. इनकी कप्तानी असुंता लकड़ा भी शामिल थी. सिमडेगा की असुंता लकड़ा 2011-12 में भारतीय टीम की कप्तानी भी कर चुकी है. वर्तमान में 2018 यूथ ओलम्पिक में सिमडेगा की बेटी सलीमा टेटे ने कप्तानी की और वर्तमान में स्लीमा ओलम्पिक के लिए बनने वाली भारतीय टीम के कोर ग्रुप में अभ्यासरत हैं. इसी तरह जूनियर टीम में सिमडेगा की सुषमा, संगीता और ब्यूटी चिल्ली से वापस आई हैं. जिला ने बिमल लकड़ा, वीरेंद्र लकड़ा, मसीह दास बा और जस्टिन केरकेट्टा जैसे अनेको खिलाड़ी देश को दिए हैं.
क्या बोले जिला अध्यक्ष

मनोज कोनबेगी, अध्यक्ष जिला हॉकी संघ ने कहा कि 20 साल बाद अब जाकर खेल नीति बनी है. राज्य सरकार की देरी के कारण खिलाड़ियों को नौकरी-रोजगार मिला और वह पलायन कर गए हैं. अब वर्तमान में खेल नीति बनने के बाद खिलाड़ियों को लाभ मिलने लगा है, जिसका लाभ आने वाले समय में मिलेगा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज