कोडरमा: घर की चार दीवारी तोड़ने पर न्याय के लिए नेशनल हाइवे पर बैठ गया पीड़ित परिवार, लगा जाम

पीड़ित परिवार अपनी समस्या को रखता हुआ.
पीड़ित परिवार अपनी समस्या को रखता हुआ.

कोडरमा (Koderma) में दो पक्षों के बीच जमीनी विवाद (Land Dispute) चल रहा है, जो हाईकोर्ट (High court) में विचाराधीन है. इसके बावजूद एक पक्ष ने दूसरे पक्ष के घर की दीवार को तोड़ दिया. इससे पीड़ित पक्ष सड़क पर धरने पर बैठ गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 18, 2020, 4:53 PM IST
  • Share this:
कोडरमा. एक गरीब परिवार को जब पुलिस (Police) और प्रशासन (Administration) से न्याय नहीं मिला तो परिवार नेशनल हाइवे 31 (National Highway 31) पर धरने पर बैठ गया. क्योंकि पीड़ित परिवार के घर पहुंचे हथियारों से लैस आधा दर्जन दबंगों ने घर की चार दीवारी को तोड़ दिया. इस दौरान पीड़ित परिवार उनसे मिन्नते कर रहा था, लेकिन किसी ने भी उनकी एक नहीं सुनी.

पीड़त परिवार ने मामले की शिकायत पुलिस से की, लेकिन किसी ने पुलिस उसे न्याय नहीं दिला पाई तो परिवार नेशनल हाइवे 31 पर धरने पर बैठ गया, जिसके चलते यातायात बाधित हो गया. हाइवे में परिवार द्वारा धरना पर बैठने से बरही- कोडरमा मुख्य मार्ग में गाड़ियों की लंबी कतार लग गई. इसके बाद मौके पर पहुंची तिलैया पुलिस पीड़ित परिवार को समझाकर हटाने का प्रयास काफी देर तक करती रही, जिसके बाद पीड़ित परिवार सड़क से उठा. पीड़ित परिवार के धरना से उठने के बाद पुलिस प्रशाषन को जाम को हटाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी.

झारखंड के कोरोना पीड़ित शिक्षा मंत्री की हालत गंभीर, चेन्नई के डॉक्टरों से मांगी मदद



पुलिस ने बताया कि दो पक्षो में कई साल से 27 डिसमिल जमीन को लेकर विवाद चल रहा है. यह मामला न्यायालय में चल रहा है. फिलहाल हाई कोर्ट के द्वारा इस पर स्टे लगाकर कर दोनों पक्षों को किसी भी प्रकार की गतिविधि विवादित जमीन पर नहीं करने का आदेश दिया गया है. बाउजूद इसके जमीन पर एक पक्ष के द्वारा आज चारदीवारी को क्षतिग्रस्त कर दिया गया. मामले में पीड़ित परिवार के लोग बता रहे हैं कि 27 डिसमिल जमीन पूर्वजों से उन लोगों का है. आज चारदीवारी को कुछ लोगों के द्वारा तोड़ दिया गया है.
पीड़ित पक्ष का आरोप है कि दबंग हथियार और लाठी-डंडे लेकर मौके पर पहुंचे थे, जिसके कारण पीड़ित पक्ष में डरा है. पीड़ित का कहना है कि तिलैया थाने की पुलिस उनकी बात नहीं सुनती है. वो दूसरे पक्ष की बातों को मानता है. पीड़ित पक्ष ने थाना सीओ अशोक कुमार के चार दीवारी गिराने वाली की ओर मिले होने का आरोप लगाया है. पीड़ित पक्ष का आरोप है कि जमीन के एवज में सीओ दस लाख रुपये की मांग करते हैं. इससे परेशान होकर आज पीड़ित परिवार सड़क पर धरने पर बैठ गया है. वहीं सीओ ने कहा कि दोनों पक्षों के जमीन विवाद को लेकर कागजों की जांच की जा रही है.यह  मामला न्यायालय में चल रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज