प्रशासन की सख्ती पर पत्थलगड़ी समर्थकों ने लौटाए 7 गांव के ग्रामीणों के सरकारी कागज

News18 Jharkhand
Updated: July 1, 2019, 5:43 PM IST
प्रशासन की सख्ती पर पत्थलगड़ी समर्थकों ने लौटाए 7 गांव के ग्रामीणों के सरकारी कागज
गुदडी और बंदगांव के नक्सल प्रभावित गांवों में पत्थलगड़ी समर्थकों की सक्रियता को देखते हुए सीआरपीएफ और पुलिस के जवान दिन- रात सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं.

गुदडी और बंदगांव के नक्सल प्रभावित गांवों में पत्थलगड़ी समर्थकों की सक्रियता को देखते हुए सीआरपीएफ और पुलिस के जवान दिन- रात सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं.

  • Share this:
पश्चिमी सिंहभूम जिले के गुदड़ी और बंदगांव के करीब एक दर्जन गांव में पत्थलगड़ी
समर्थकों ने पांव जमाना शुरू कर दिया है. यह इलाका खूंटी जिले की सीमा से सटा हुआ है. काफी सुदूरवर्ती इलाका होने केे कारण पुलिस- प्रशासन की पहुंच यहां तक नहीं हो पाती. इसका फायदा पत्थलगड़ी समर्थक उठा रहे हैं. वे ग्रामीणों को सामाजिक बहिष्कार का भय दिखाकर सरकारी कागज छीने रहे हैं.

पत्थलगड़ी समर्थकों पर प्रशासन सख्त  

17 जून को प्रशासन को ये सूचना मिली कि गुदड़ी और बंदगांव के करीब 13 गांव के लोगों का पत्थलगड़ी समर्थकों ने राशन कार्ड, आधार कार्ड और बैंक खाते छीन लिये. इसके बाद जिला पुलिस और प्रशासन सतर्क हुए और पत्थलगड़ी समर्थकों के खिलाफ ज्वाइंट ऑपरेशन शुरू किया. इससे पत्थलगड़ी समर्थक बैकफुट पर गये हैं और करीब 6- 7 गांव के ग्रामीणों का राशन, आधार कार्ड और बैंक खाते लौटा दिये हैं.

ग्रामीण कर रहे प्रशासन को सहयोग

गुदडी और बंदगांव के नक्सल प्रभावित गांवों में पत्थलगड़ी समर्थकों की सक्रियता को देखते हुए सीआरपीएफ और पुलिस के जवान दिन- रात सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं. इन गांवों के लोग और प्रधान भी पत्थलगड़ी नेताओं के समर्थन में नहीं हैं, बल्कि वे प्रशासन को पूरा सहयोग कर रहे हैं.

इस तरह की पत्थलगड़ी गलत 
Loading...

प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा का कहना कि वह खुद सरना आदिवासी हैं और
आदिवासी समाज में इस तरह की पत्थलगड़ी की परंपरा नहीं है. यह पूरी तरह
गलत है. पुलिस- प्रशासन को पूरी गंभीरता के साथ इस पर कार्रवाई करनी चाहिए.

खूंटी जैसे हालात नहीं होने देंगे

डीसी अरवा राजकमल ने कहा कि खूंटी के कुछ अपराधी और असामाजिक तत्व जिले के सुदूरवर्ती इलाकों में डिस्टर्वेंस पैदा करने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन उनके प्रयासों को सफल नहीं होने दिया जाएगा. खूंटी वाली स्थिति यहां नहीं होने दी जाएगी.

रिपोर्ट- उपेन्द्र गुप्ता 

ये भी पढ़ें- हथियार सप्लायर्स का बड़ा खुलासा, नक्सलवाद को बढ़ावा दे रहे हैं कुछ सफेदपोश

चोरी के आरोप में भीड़ ने दो युवकों की कर दी धुनाई, एक की हालत गंभीर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पश्चिमी सिंहभूम से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 1, 2019, 5:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...