गांव नहीं छोड़ने पर 8 ईसाई परिवारों के घर में घुसकर मारपीट, मुखिया पर लगा आरोप

गांव छोड़ने का दबाव बनाते हुए 8 ईसाई परिवारों को जान से मारने की धमकी दी गई है. साथ ही उनके साथ घर में घुसकर मारपीट तक की गई.

News18 Jharkhand
Updated: July 16, 2019, 2:42 PM IST
गांव नहीं छोड़ने पर 8 ईसाई परिवारों के घर में घुसकर मारपीट, मुखिया पर लगा आरोप
गांव नहीं छोड़ने पर 8 ईसाई परिवारों के घर में घुसकर मारपीट, मुखिया पर लगा आरोप (सांकेतिक तस्वीर)
News18 Jharkhand
Updated: July 16, 2019, 2:42 PM IST
झारखंड में पश्चिमी सिंहभूम के मझगांव थाना क्षेत्र के बलियापोशी गढकेशना गांव के 8 ईसाई परिवार को गांव छोड़ने को कहा गया है. इतना ही नहीं गांव छोड़ने का दबाव बनाते उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी गई है और तो और उनके साथ मारपीट तक की गई है. इस संबंध में पीड़ित परिवारों ने बीते सोमवार को मंझगांव थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई है.

दर्जनभर लोग पहुंचे थे उनके घर

पीड़ित ईसाई परिवार ने पुलिस से अपनी सुरक्षा और न्याय दिलाने की मांग की है. साथ ही पीड़ित परिवार ने इस मामले में गांव की मुखिया और मुंडा को आरोपी बनाया है. शिकायत में पीड़ित परिवारों ने बताया है कि बीते 14 जुलाई को पंचायत की मुखिया एलिन पाट पिंगुवा और ग्रामीण मुंडा रुस्तम पिंगुवा के नेतृत्व में दर्जनभर लोग उनके घर पहुंचे थे.

घर में घुसकर की तोड़फोड़, महिलाओं से मारपीट, धर्म ग्रंथों को भी जलाया

ईसाई धर्म-christian religion
घर में घुसकर की तोड़फोड़, महिलाओं से मारपीट, धर्म ग्रंथों को भी जलाया (सांकेतिक तस्वीर)


इस दौरान सभी ने ईसाई धर्म छोड़ने को कहा और जान से मारने की धमकी दी. महिलाओं से भी मारपीट की और घरों में घुसकर तोड़फोड़ करते हुए धार्मिक ग्रंथों को जला दिया. यहां तक कि घरों को जलाने की कोशिश गई. पीड़ितों ने बताया कि बलियापोशी गढकेशना में ईसाई समुदाय के 5 परिवार 15 वर्षों से रह रहे हैं. लिहाजा, पीड़ित परिवारों ने थाने में आवेदन देकर अपनी जान को खतरा बताते हुए सुरक्षा की मांग की है.

वहीं मामले में मुखिया एलिन पाट पिंगुवा ने कहा कि उनके उपर लगाए गए सभी आरोप गलत हैं. घटना के दिन वह चाईबासा में थीं. वहीं गांव के मुंडा रुस्तम पिंगुवा ने बताया कि बाहर से मिशन के लोग आते हैं. इसके लिए मुंडा से अनुमति नहीं लेते. इन परिवारों को कहा गया है कि वे सरना धर्म (झारखंड के आदिवासियों का आदि धर्म) में रहें. हालांकि मुंडा ने मारपीट और धर्म ग्रंथ जलाने से इनकार किया है.
Loading...

ये भी पढ़ें:- SC की निगरानी में होगा भूमिगत आग से प्रभावितों का पुनर्वास 

ये भी पढ़ें:- मां ने कहा- 'खाना बना हुआ है, जाकर ले लो', बेटे ने की हत्या
First published: July 16, 2019, 2:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...