लाइव टीवी

20 साल बाद कोड़ा दंपति के बिना जगन्नाथपुर में हो रहा विधानसभा चुनाव

News18 Jharkhand
Updated: November 19, 2019, 2:16 PM IST
20 साल बाद कोड़ा दंपति के बिना जगन्नाथपुर में हो रहा विधानसभा चुनाव
मधु कोड़ा और गीता कोड़ा दोनों जगन्नाथपुर से विधायक रह चुके हैं.

पत्नी गीता कोड़ा (Gita Koda) के सांसद बनने के बाद पूर्व सीएम मधु कोड़ा (Madhu Koda) इस बार विधानसभा चुनाव जगन्नाथपुर सीट से लड़ने की तैयारी में थे. लेकिन सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने उन्हें चुनाव लड़ने की इजाजत नहीं दी.

  • Share this:
चाईबासा. कोल्हान का जगन्नाथपुर विधानसभा क्षेत्र (Jagannathpur Assembly Constituency) पूर्व सीएम मधु कोडा (Madhu Koda) और सांसद गीता कोड़ा (Gita Koda) के कारण हमेशा सुर्खियों में रहा है. मीडिया से लेकर राज्यभर के लोगों की निगाहें जगन्नाथपुर पर लगी रहती है. पिछले बीस साल से मधु कोडा और गीता कोड़ा यहां का प्रतिनिधित्व करते आ रहे हैं, लेकिन इस बार न तो मधु कोड़ा चुनावी मैदान में हैं, और न ही गीता कोड़ा. कोड़ा दंपति के चुनावी मैदान में नहीं होने के कारण इस बार जगन्नाथपुर में चुनावी फिजाएं काफी फीकी दिख रही हैं. कांग्रेस और भाजपा दोनों ने इस बार जगन्नाथपुर सीट पर नया और अंजाना चेहरा उतारा है.

दरअसल मधु कोड़ा और गीता कोड़ा जब भी चुनावी मैदान में रहे हैं, जगन्नाथपुर ही नहीं पूरे कोल्हान में इसका सियासी असर दिखा है. कार्यकर्ताओं में जोश और चुनावी रोमांच चरम पर दिखा है. लेकिन इस बार यह सब फीका है. मधु कोड़ा भाजपा के टिकट पर 2000 में जगन्नाथपुर से पहली बार विधायक बने थे. बिहार से झारखंड अलग होते ही बाबूलाल मरांडी की पहली सरकार में वो मंत्री बने. लेकिन 2005 में भाजपा ने मधु कोड़ा का टिकट काट दिया. बस यहीं से जगन्नाथपुर पूरे राज्य में चर्चा में आ गया. 2005 में भाजपा से टिकट कटने के बाद मधु कोड़ा निर्दलीय चुनाव लड़े और जीते. और फिर मुख्यमंत्री भी बने.

2009 में मधु कोड़ा सिंहभूम सीट से लोकसभा चुनाव लड़े और भारी मतों से जीतकर सांसद बने. खुद सांसद बनने के बाद मधु कोडा ने 2009 में पत्नी गीता कोड़ा को जगन्नाथपुर सीट से विधानसभा चुनाव लड़ाया. इस चुनाव में गीता कोड़ा भारी मतों से चुनाव जीतीं. 2014 विधानसभा चुनाव में भी गीता कोड़ा को जगन्नाथपुर से जीत मिली. 2018 में कोड़ा दंपति कांग्रेस में शामिल हो गए. 2019 के लोकसभा चुनाव गीता कोड़ा ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और सीटिंग सांसद लक्ष्मण गिलुवा को सिंहभूम सीट पर 72 हजार वोटों से हराकर कोल्हान में अपनी पकड़ और लोकप्रियता का एहसास करा दिया.

पत्नी के सांसद बनने के बाद पूर्व सीएम मधु कोड़ा इस बार विधानसभा चुनाव जगन्नाथपुर सीट से लड़ने की तैयारी में थे. लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें चुनाव लड़ने की इजाजत नहीं दी. दरअसल चुनाव आयोग ने उनके चुनाव लड़ने पर रोक लगा रखी है. इस सिलसिले में मधु कोड़ा ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर चुनाव लड़ने की इजाजत मांगी, लेकिन उन्हें इजाजत नहीं मिली. लिहाजा 20 साल बाद कोड़ा दंपति के बिना जगन्नाथपुर में विधानसभा चुनाव हो रहा है. हालांकि कांग्रेस ने कोड़ा दंपति के पसंद के नेता सोनाराम सिंकू को प्रत्याशी बनाया है. लेकिन कोड़ा दंपति के बिना जगन्नाथपुर की चुनावी फिजाएं फीकी दिखाई दे रही है.

 

(रिपोर्ट- उपेन्द्र गुप्ता)

ये भी पढ़ें- झारखंड विधानसभा चुनाव: जानें पिछले 5 साल में कितनी बढ़ी सीएम रघवुर दास की संपत्ति

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पश्चिमी सिंहभूम से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2019, 2:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...