लाइव टीवी

बुरुगुलीकेरा नरसंहार: गांव नहीं जाने देने पर बीजेपी सांसदों ने एनएच पर दिया धरना
West-Singhbum News in Hindi

News18 Jharkhand
Updated: January 24, 2020, 1:30 PM IST
बुरुगुलीकेरा नरसंहार: गांव नहीं जाने देने पर बीजेपी सांसदों ने एनएच पर दिया धरना
बुरुगुलीकेरा गांव नहीं जाने देने पर बीजेपी सांसद धरने पर बैठे

पूर्व सीएम रघुवर दास ने कहा कि तरह से जिला प्रशासन ने बीजेपी शिष्टमंडल को गांव जाने देने से रोका है, उससे साफ जाहिर होता है कि सरकार की मंशा ठीक नहीं है.

  • Share this:
पश्चिमी सिंहभूम. बुरुगुलीकेरा हत्याकांड (Burugulikera Massacre) पर अब सियासत शुरू हो गई है. प्रशासन ने इलाके में धारा 144 लागू होने के चलते बीजेपी संसदीय दल (BJP Parliamentary Party) को गांव जाने से रोक दिया. जिसके बाद प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा समेत सभी पांच सांसद कराईकेला के पास एनएच-75 पर ही धरने (Protest) पर बैठ गये हैं. ये लोग गांव जाने पर अड़े हुए हैं. सांसदों का कहना है कि जब सत्तापक्ष को गांव जाने से नहीं रोका गया, तो उन्हें क्यों रोका जा रहा है. सांसदों ने प्रशासन पर भेदभाव करने का आरोप लगाया.

सरकार की मंशा ठीक नहीं- रघुवर दास 

इधर, रांची में पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने पश्चिमी सिंहभूम और लोहरदगा की घटना की निंदा करते हुए राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि राज्य में अराजक स्थिति पैदा हो गई है. बीजेपी के शिष्टमंडल को रोके जाने पर नाराजगी जताते हुए पूर्व सीएम ने कहा कि कल ही मुख्यमंत्री ने वहां का दौरा करने के बाद कहा था कि कोई भी व्यक्ति घटनास्थल का दौरा कर सकता है. लेकिन जिस तरह से जिला प्रशासन ने शिष्टमंडल को रोका है, उससे साफ जाहिर होता है कि सरकार की मंशा ठीक नहीं है.

एसआईटी जांच के लिए लगा धारा 144 

गुरुवार को पीड़ितों से मिलने के बाद बीजेपी के दौरे को लेकर सीएम हेमंत सोरेन ने कहा था कि इस घटना से सभी आहत हैं. इसलिए उम्मीद है कि वे भी सही व निष्पक्ष जांच करेंगे. और सरकार की मदद करेंगे. इस बीच एसआईटी जांच में दिक्कत ना आए, इसको लेकर एहतियातन कदम उठाया गया है. सोनुवा, गुदड़ी और चक्रधरपुर में धारा 144 लगा दिया है.  26 जनवरी सुबह 9 बजे तक इन इलाकों में धारा 144 लगा रहेगा. इस बीच आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए भी प्रयास तेज हो गये हैं. चक्रधरपुर, सोनुवा और गुदड़ी आने-जाने वाले सभी मार्ग पर वाहनों की भी सघन जांच भी चल रही है.

सात लोगों की हुई निर्मम हत्या

बता दें कि बुरुगुलीकेरा गांव में 16 जनवरी को एक गुट के 9 लोगों ने दूसरे गुट के पांच लोगों के घर में तोड़फोड़ की थी. जिसके बाद 19 जनवरी को दूसरे गुट के लोगों ने इसको लेकर बैठक बुलाई थी. इसी दौरान तोड़फोड़ में शामिल सात लोगों को पहले पीटा गया, फिर जंगल ले जाकर उनकी हत्या कर दी गई. बुधवार सुबह पुलिस ने गांव के पास के जंगल से सातों शवों को बरामद किया.इनपुट- उपेन्द्र गुप्ता

ये भी पढ़ें- बुरुगुलीकेरा नरसंहार: एसआईटी जांच को लेकर इलाके में लगा धारा 144, बीजेपी की टीम नहीं जा पाई गांव

 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पश्चिमी सिंहभूम से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 24, 2020, 1:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर