लाइव टीवी

बुरुगुलीकेरा नरसंहार: पीड़ितों से मिलकर राज्यपाल बोलीं- इलाके में पत्थलगड़ी समर्थकों का खौफ
West-Singhbum News in Hindi

News18 Jharkhand
Updated: February 11, 2020, 10:06 PM IST
बुरुगुलीकेरा नरसंहार: पीड़ितों से मिलकर राज्यपाल बोलीं- इलाके में पत्थलगड़ी समर्थकों का खौफ
राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने बुरुगुलीकेरा नरसंहार के पीड़ितों से मुलाकात की

राज्यपाल ने कहा कि जिला पुलिस और प्रशासन ने पीड़ित परिवारों की सुरक्षा के लिए गांव में पुलिस पिकेट खोला है. लेकिन इनके अंदर के खौफ को निकालना पड़ेगा. तभी इस इलाके में शांति और सामान्य जनजीवन स्थापित होगा.

  • Share this:
चाईबासा. राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) ने मंगलवार को पश्चिमी सिंहभूम जिले के गुदड़ी प्रखंड के बुरुगुलीकेरा गांव का दौरा कर नरसंहार (Burugulikera Massacre) पीड़ितों से मुलाकात की. मुलाकात के बाद उन्होंने कहा कि नरसंहार पत्थलगड़ी (Pathalgadi) विवाद के कारण हुआ. भेड़-बकरी की तरह 7 आदिवासियों को काट दिया गया. पीड़ित परिवार के लोग काफी डरे हुए हैं. इलाके के लोग आज भी पत्थलगड़ी समर्थकों के खौफ में जी रहे हैं. इन्हें पूरे परिवार को खत्म करने की धमकी दी जा रही है.

राज्यपाल ने कहा कि जिला पुलिस और प्रशासन ने पीड़ित परिवारों की सुरक्षा के लिए गांव में पुलिस पिकेट खोला है. लेकिन इनके अंदर के खौफ को निकालना पड़ेगा. तभी इस इलाके में शांति और सामान्य जनजीवन स्थापित होगा. उन्होंने कहा कि आदिवासियों का एक गुट पत्थलगड़ी समर्थक है, जो सरकारी सुविधा का विरोध करता है. जबकि दूसरा गुट सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के पक्ष में है.

पत्थलगड़ी समर्थक पूरे परिवार को जान से मारने की दे रहे धमकी



मुलाकात के दौरान राज्यपाल ने पीड़ित परिवारों से एक-एक कर उनकी पीड़ा सुनी. इस दौरान उन्होंने आदिवासी हो भाषा में बात की. जिससे पीड़ित परिवारों ने सहज होकर खुलकर अपनी बात उनके सामने रखा. पीड़ित परिवारों ने अपनी सुरक्षा की मांग करते हुए पत्थलगड़ी समर्थकों के द्वारा पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी के बारे में राज्यपाल को बताया. साथ ही 25 लाख रुपये मुआवजे और गांव में सड़क, बिजली, स्कूल, पानी की सुविधा की भी मांग की.



गुदड़ी इलाके में बिरसायत धर्म मानने वाले बिरसा मुंडा ने भी राज्यपाल से मुलाकात कर गुदड़ी नरसंहार के लिए पत्थरगड़ी समर्थकों पर आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि पत्थलगड़ी समर्थक गरीब आदिवासियों का राशन कार्ड और आधार कार्ड छीन रहे हैं. इससे ये लोग सरकारी सुविधा लेने से वंचित रह रहे हैं. बिरसा मुंडा ने स्थानीय विधायक और राज्य की महिला, बाल विकास मंत्री जोबा मांझी पर भी निशाना साधते हुए कहा कि 20 साल से वह इस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रही हैं. मंत्री भी रही हैं, फिर भी गुदड़ी पिछड़ा रहा. अब उनकी सरकार है, फिर भी कोई उम्मीद नहीं है.

सात आदिवासियों की हुई थी निर्मम हत्या

गौरतलब है कि विगत 19 जनवरी को पत्थलगड़ी विवाद में बुरुगुलीकेरागांव में सात आदिवासियों की निर्मम हत्या कर दी गयी थी. इस मामले में 17 पत्थलगड़ी समर्थकों को गिरफ्तार कर जेल दिया गया है. सरकार के आदेश पर एसआईटी जांच जारी है.

रिपोर्ट- उपेन्द्र गुप्ता

ये भी पढ़ें- 28 फरवरी से झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, 3 मार्च को पेश होगा बजट 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पश्चिमी सिंहभूम से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 11, 2020, 10:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading