लाइव टीवी

बुरुगुलीकेरा नरसंहार: एसआईटी जांच को लेकर इलाके में लगी धारा 144, बीजेपी की टीम नहीं जा पाई गांव
West-Singhbum News in Hindi

News18 Jharkhand
Updated: January 24, 2020, 2:53 PM IST
बुरुगुलीकेरा नरसंहार: एसआईटी जांच को लेकर इलाके में लगी धारा 144, बीजेपी की टीम नहीं जा पाई गांव
बुरुगुलीकेरा नरसंहार को लेकर जिला प्रशासन ने सोनुवा, गुदड़ी और चक्रधरपुर में धारा 144 लगा दिया है.

इस हत्याकांड में गुदड़ी थाने में दो एफआईआर दर्ज किये गये हैं. एक, सात आदिवासियों की सामूहिक हत्या और दूसरा, पांच घरों में तोड़फोड़ को लेकर किये गये हैं. इस बीच मामले की जांच के लिए 8 सदस्यीय एसआईटी का गठन कर दिया गया है.

  • Share this:
पश्चिमी सिंहभूम. बुरुगुलीकेरा नरसंहार (Burugulikera Massacre) को लेकर जिला प्रशासन ने सोनुवा, गुदड़ी और चक्रधरपुर में धारा 144  (Section 144) लगा दी है. एसआईटी जांच (SIT Investigation) में दिक्कत ना आए, इसको लेकर एहतियातन यह कदम उठाया गया है. 26 जनवरी सुबह 9 बजे तक इन इलाकों में धारा 144 लगी रहेगी. इस बीच आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए भी प्रयास तेज हो गये हैं.

चक्रधरपुर, सोनुवा और गुदड़ी आने-जाने वाले सभी मार्ग पर वाहनों की भी सघन जांच चल रही है. 144 धारा लागे होने के कारण भाजपा संसदीय दल को भी शुक्रवार को बुरुगुलीकेरा गांव जाने से रोक दिया गया. जिला प्रशासन ने पांच सांसदों की टीम को पीड़ितों से मिलने की इजाजत नहीं दी.

दर्ज हुए दो एफआईआर 

इस हत्याकांड में गुदड़ी थाने में दो एफआईआर दर्ज किये गये हैं. एक, सात आदिवासियों की सामूहिक हत्या और दूसरा, पांच घरों में तोड़फोड़ को लेकर किये गये हैं. इस बीच मामले की जांच के लिए 8 सदस्यीय एसआईटी का गठन कर दिया गया है. टीम मामले पर अपनी पहली रिपोर्ट 5 दिनों के भीतर देगी. टीम को एसपी चाईबासा के माध्यम से डीआईजी चाईबासा को रिपोर्ट करने का निर्देश दिया गया है.

एसआईटी में ये हैं शामिल 

राजकुमार मेहता, एसडीपीओ घाटशिला, सुधीर, डीएसपी (मुख्यालय) चाईबासा, राम दयाल मुंडा, इंस्पेक्टर, जेजे, सुबोध लकड़ा, इंस्पेक्टर, जेजे, दिग्विजय सिंह, सीआई तोरपा खुंटी, संतोष कुमार, सीआई सोनुआ, लक्ष्मण प्रसाद, सीआई नोआमुंडी चाईबासा, मोनालिसा केरकेट्टा, एसआई रांची.

दोषियों को मिलेगी सख्त सजा- सीएम सीएम हेमंत सोरेन के निर्देश पर इस हत्याकांड की जांच के लिए एसआईटी का गठन हुआ है. गुरुवार को सीएम ने बुरुगुलीकेरा गांव जाकर पीड़ित परिवारों से मुलाकात की और कहा कि किसी भी हाल में घटना के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. उन्हें कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी. उन्होंने प्रशासन को इस तरह की घटना आगे न दोहराए, इसके लिए कदम उठाने का भी निर्देश दिया. हालांकि इस मामले में प्रशासन अभी तक फूंक-फूंक कर कदम आगे बढ़ा रहा है. बुधवार को शव की बरामदगी के बाद से अबतक किसी भी गिरफ्तारी नहीं हो पाई है. कुछ लोगों को पूछताछ जरूर की गई है. गांव में अभी भी पुलिस कैंप की हुई है.

सात लोगों की हुई निर्मम हत्या

बता दें कि बुरुगुलीकेरा गांव में 16 जनवरी को एक गुट के 9 लोगों ने दूसरे गुट के पांच लोगों के घर में तोड़फोड़ की थी. जिसके बाद 19 जनवरी को दूसरे गुट के लोगों ने इसको लेकर बैठक बुलाई थी. इसी दौरान तोड़फोड़ में शामिल सात लोगों को पहले पीटा गया, फिर जंगल ले जाकर उनकी हत्या कर दी गई. बुधवार सुबह पुलिस ने गांव के पास के जंगल से सातों शवों को बरामद किया.

इनपुट- उपेन्द्र गुप्ता

ये भी पढ़ें- बुरुगुलीकेरा नरसंहार: पीड़ितों से मिले सीएम हेमंत सोरेन, बोले- दोषियों को मिलेगी सख्त सजा

 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पश्चिमी सिंहभूम से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 24, 2020, 12:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर