चाईबासा में पोस्टरबाजी करते 3 नक्सली गिरफ्तार, 16वें स्थापना दिवस मना रहे माओवादी

झारखंड में नक्सली 16वें स्थापना दिवस मनाने में जुटे हैं.
झारखंड में नक्सली 16वें स्थापना दिवस मनाने में जुटे हैं.

भाकपा माओवादी 16वें स्थापना दिवस को सफल बनाने में जुटे हैं. इसी सिलसिले में चाईबासा के ग्रामीण इलाकों में पोस्टरबाजी करते तीन नक्सली (Naxalite) गिरफ्तार किये गये.

  • Share this:
चाईबासा. झारखंड के चाईबासा में भाकपा माओवादी के तीन नक्सलियों (Naxalite) को पुलिस ने पोस्टरबाजी करते गिरफ्तार (Arrest) कर लिया. तीनों नक्सली के पास से भारी मात्रा में माओवादी बैनर-पोस्टर बरामद किये गये. साथ ही एक देसी पिस्टल, एक मैगजीन, 5 जिंदा कारतूस, एक मोबाइल और छाता भी जब्त किये गये. गिरफ्तार नक्सलियों की पहचान रांदो बोयपाई, बबलू सुरीन और रामलाल जामदा के रूप में हुई.

गिरफ्तार नक्सली सोनुवा और गोइलकेरा थानाक्षेत्र के टुनिया, नुआ गांव, चमकपुर, झाड़गांव में पोस्टरबाजी कर रहे थे. इसकी सूचना मिलने पर सुरक्षा बल के जवानों ने उस इलाके में धावा बोला. पुलिस को आते देख तीनों नक्सली जंगल की तरफ भागने लगे. लेकिन तीनों पुलिस की गिरफ्तारी से नहीं बच पाए. गिरफ्तार तीनों नक्सली माओवादी के अनमोल दस्ते के बताए जा रहे हैं.

गौरतलब है कि भाकपा माओवादी 16वें स्थापना दिवस को सफल बनाने के लिए 15 सितंबर की रात्रि को चाईबासा शहर में बैनर लगाकर शुरुआत की थी. जिसके बाद चक्रधरपुर, मनोहरपुर, गोइलकेरा व सोनुवा में भी जमकर पोस्टरबाजी की. बैनर-पोस्टर के माध्यम से माओवादियों ने ग्रामीण क्षेत्रों से पुलिस कैंप हटाने, गांव-गांव में नक्सली फौज खड़ी करने का आह्वान कर रहे हैं.



माओवादियों की इस पोस्टरबाजी का मकसद दहशत फैलाना है, लेकिन पुलिस ने महज पांच दिन में ही माओवादियों के मंसूबे पर पानी फेर दिया. पुलिस की इस सफलता से माओवादियों के स्थापना दिवस को सफल बनाने की मुहिम को झटका लगा है. बता दें कि पोस्टरबाजी मामले में यह चौथी गिरफ्तारी है. 18 सितंबर को भी सोनुवा इलाके से ही पुलिस ने एक नक्सली बासु हेम्ब्रम को बैनर-पोस्टर के साथ गिरफ्तार किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज