कमाऊ रेलमंडल का ये हाल, ट्रेनों की लेटलतीफी से यात्री बेहाल

यात्रियों का कहना है कि यात्री ट्रेनों को रोककर मालगाड़ियों को धड़ल्ले से पास कराया जाता है. एक तो भीषण गर्मी, ऊपर से यात्री ट्रेनों की कछुआ चाल, उन्हें दोहरी परेशानी झेलनी पड़ती है.

News18 Jharkhand
Updated: June 10, 2019, 1:06 PM IST
कमाऊ रेलमंडल का ये हाल, ट्रेनों की लेटलतीफी से यात्री बेहाल
चक्रधरपुर रेलमंडल
News18 Jharkhand
Updated: June 10, 2019, 1:06 PM IST
रेलवे को सबसे ज्यादा राजस्व देने वाले चक्रधरपुर रेलमंडल में बीते दो महीने से यात्री ट्रेनों का परिचालन प्रभावित है. हावड़ा- मुंबई रेलखंड पर ट्रेनें चार से आठ घंटे तक देरी से चल रही हैं. वहीं मरम्मत के नाम पर पैसेंजर ट्रेनों को अक्सर रद्द कर दिया जा रहा है. इससे यात्री परेशान हैं. हालांकि मालगाड़ियों का परिचालन सामान्य ढंग से जारी है.

यात्रियों का कहना है कि यात्री ट्रेनों को रोककर मालगाड़ियों को धड़ल्ले से पास कराया जाता है. एक तो भीषण गर्मी, ऊपर से यात्री ट्रेनों की कछुआ चाल, उन्हें दोहरी परेशानी झेलनी पड़ती है.

चक्रधरपुर रेलमंडल के डीआरएम छत्रसाल सिंह का कहना है कि मरम्मत का काम चलने के कारण ट्रेनें लेट से चल रही हैं. कुछ ट्रेनों को रद्द किया जाता है.

ट्रेनों के इस अनियमित परिचालन से मजदूर वर्ग से लेकर नौकरी पेशा वाले तक परेशान हैं. लंबी यात्रा की योजना बनाने वाले यात्रियों को ट्रेनों की लेटलतीफी के कारण अपना आरक्षण तक कैंसिल कराना पड़ रहा है.

यात्रियों की इस परेशानी को देखते हुए झारखण्ड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) के चार स्थानीय विधायकों ने 11 जून को चक्रधरपुर रेलमंडल में धरना देने का ऐलान किया है. विधायकों का कहना है कि डबल इंजनवाली सरकार चक्रधरपुर रेलमंडल में ट्रेन तक नहीं खींच पा रही है.

रिपोर्ट- उपेन्द्र गुप्ता

ये भी पढ़ें- हजारीबाग में भीषण सड़क दुर्घटना में 11 लोगों की मौत, 26 घायल
Loading...

मुस्लिम लड़की से शादी के लिए युवक ने छोड़ा अपना धर्म, गांव में हंगामा

 

 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पश्चिमी सिंहभूम से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 10, 2019, 1:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...