यौन शोषण से तंग छात्र ने दी जान, दोस्तों को Whatsapp पर भेजा सुसाइड नोट

सुसाइड नोट में पीड़ित छात्र ने आत्महत्या का कारण अप्राकृतिक यौनचार को बताया. इसके लिए उसने अपने रूम पार्टनर पर आरोप लगाया.

News18 Jharkhand
Updated: August 9, 2019, 3:37 PM IST
यौन शोषण से तंग छात्र ने दी जान, दोस्तों को Whatsapp पर भेजा सुसाइड नोट
अप्राकृतिक यौनाचार से तंग आकर छात्र ने कर ली खुदकुशी
News18 Jharkhand
Updated: August 9, 2019, 3:37 PM IST
झारखंड के चाईबासा इंजीनियरिंग कॉलेज के एक छात्र ने अप्राकृतिक यौनाचार से तंग आकर खुदकुशी कर ली. छात्र ने मटकमहातू स्थित तालाब में कूदकर जान दे दी. खुदकुशी करने से पहले छात्र ने वाट्सएप ग्रुप (Whatsapp Group) में सुसाइड नोट शेयर कर अपने साथ हुए अत्याचार की जानकारी दोस्तों को दी. पुलिस ने इस मामले में उसके रूम पार्टनर, दो दोस्तों और कॉलेज के एडमिन मनोज मंडल को हिरासत में लिया है. उधर, घटना की जानकारी मिलते ही पूर्व सीएम मधु कोड़ा और स्थानीय सांसद गीता कोड़ा कॉलेज पहुंचीं और न्याय की मांग की.

तालाब से बरामद हुआ शव 

चाईबासा इंजीनियरिंग कॉलेज के प्रथम वर्ष के छात्र का शव गुरुवार दोपहर मटकमहातू तालाब से बरामद हुआ था. लेकिन शाम में शव की पहचान हो पाई. तब तक कॉलेज के ज्यादातर छात्रों के पास उसका सुसाइड नोट पहुंच चुका था. इस सुसाइड नोट में पीड़ित छात्र ने आत्महत्या का कारण उसके साथ हो रहे अप्राकृतिक यौनचार को बताया. इसके लिए उसने अपने रूम पार्टनर पर आरोप लगाया. साथ ही अपने दो अन्य दोस्तों पर भी शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाया.

chaibasa engineering college
चाईबासा इंंजीनियरिंग कॉलेज


6 पन्ने के सुसाइड नोट को आत्महत्या करने से पहले पीड़ित ने अपने दोस्तों को वाट्सएप पर भेजा था. गुरुवार देर शाम शव की पहचान होने के बाद पुलिस कॉलेज पहुंच कर जांच की. शुक्रवार सुबह भी पुलिस कॉलेज में पीड़ित के कमरे की तलाशी ली.

डीएसपी अमर कुमार पांडेय ने कहा कि घटना को लेकर अप्राकृतिक यौनाचार का मामला सामने आ रहा है. जांच जारी है. आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है.

पुलिस के मुताबिक छात्र बुधवार शाम को हॉस्टल से निकला था और रात में तालाब में कूदकर आत्महत्या कर ली. घटना को लेकर कॉलेज के छात्रों में गुस्सा है. छात्र कॉलेज एडमिन मनोज मंडल को हटाने की मांग पर अड़े हैं.
Loading...

कॉलेज इंचार्ज देवव्रत राहा ने घटना पर दुख जताते हुए कहा कि पूरे मामले की जांच चल रही है. जांच के बाद, जो भी दोषी होंगे. उस पर
जरूर कार्रवाई होगी.

मधु कोड़ा व गीता कोड़ा ने ली घटना की जानकारी 

घटना की जानकारी मिलते ही पूर्व सीएम मधु कोड़ा और गीता कोड़ा भी कॉलेज पहुंची और जानकारी ली. मधु कोड़ा ने कहा कि उनके सीएम कार्यकाल में ही यह कॉलेज बना था. इसलिए उन्हें इस कॉलेज से बेहद लगाव है. लेकिन यहां का शैक्षणिक माहौल को देखकर दुख हो रहा है. इस मामले में दोषियों पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.गीता कोड़ा ने मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित करने की मांग की.

इससे पहले मई में भी पीड़ित ने आत्महत्या का प्रयास किया था. इसकी जानकारी कॉलेज प्रबंधन को थी. लेकिन कॉलेज प्रबंधन ने छात्र की परेशानी को समझने की कोशिश नहीं की.

(रिपोर्ट- उपेंद्र कुमार गुप्ता)

ये भी पढ़ें- जिंदगी में अब कुछ भी नहीं बचा..इसलिए नहीं जीना चाहता, यह कहकर इंजीनियर ने कर लिया आत्मदाह

काम के बहाने पीड़िता को घर बुलाया, कब्रिस्तान ले जाकर किया दुष्कर्म

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पश्चिमी सिंहभूम से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 9, 2019, 3:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...