लाइव टीवी

झारखंड में खुला देश का पहला Covid-19 बूथ, अब घर बैठे करा सकते हैं जांच
West-Singhbum News in Hindi

News18 Jharkhand
Updated: April 6, 2020, 8:56 AM IST
झारखंड में खुला देश का पहला Covid-19 बूथ, अब घर बैठे करा सकते हैं जांच
चाईबासा में खुला देश का पहला कोरोना सैंपल कलेक्शन बूथ

Covid-19 Sample Collection Booth: इस जांच सिस्टम को डीडीसी आदित्य रंजन ने खुद शोधकर बनाया है. वह रांची के बीआईटी मेसरा के छात्र रहे हैं.

  • Share this:
चाईबासा. पश्चिमी सिंहभूम जिले के लोग अब कोरोना वायरस (Coronavirus) की जांच घर बैठे करा सकेंगे. इसके लिए उन्हें किसी अस्पताल में जाने की जरूरत नहीं होगी. बस एक फोन करना होगा और स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच के लिए घर पहुंच जाएगी. चाईबासा प्रशासन का दावा है कि देश में पहला कोविड-19 सैंपल कलेक्शन बूथ (Covid-19 Sample Collection Booth) चाईबासा में शुरू किया गया है. अधिकारियों की माने तो इसे धीरे-धीरे दूसरे शहरों में भी शुरू किया जाएगा.

कोरोना वायरस के संक्रमण के संदिग्धों की जांच के लिए चाईबासा सदर अस्पताल में सैम्पल क्लेक्शन सेंटर का शुभारंभ किया गया है. यह झारखंड का ही नहीं, देश का पहला ऐसा क्लेक्शन सेंटर है, जहां कोरोनावायरस की जांच के लिए पीपीई किट की जगह नये सिस्टम का उपयोग किया जा रहा है. डीसी अरवा राजकमल और डीडीसी आदित्य रंजन ने शनिवार को सेंटर का उद्घाटन किया. उद्घाटन के बाद डीसी और डीडीसी ने खुद अपने मुंह के लार का सैम्पल देकर जांच भी करायी.

फोनबूथ की तरह है कोविड-19 बूथ
इस सैम्पल जांच सेंटर में कोरोना वायरस से सुरक्षा के लिए खास ख्याल रखे गये हैं. इसे एक फोन बूथ की तरह बनाया गया है. चारों तरफ कांच से घेरा गया है, जिसके अंदर डॉक्टर बैठकर बाहर में खड़े संदिग्ध का सिर्फ एक मिनट में मुंह और नाक के सैम्पल ले लेंगे. बड़ी बात यह कि इसे किसी छोटे वाहन में रखकर गांव-कस्बों में जाकर भी जांच किया जा सकेगा.



डीडीसी ने खुद तैयार किया 


इस जांच सिस्टम को डीडीसी आदित्य रंजन ने खुद शोधकर बनाया है. रांची बीआईटी मेसरा के छात्र रहे आईएएस अधिकारी आदित्य रंजन ने पीपीई किट की कमी को देखते हुए, यह शोध किया. उनका कहना है कि इसके लिए उन्होंने साउथ कोरिया के सिस्टम को अपनाया और अपने इंजीनियर साथियों की मदद लेकर महज डेढ़ दिन में घर में ही किट तैयार कर लिया. उसके बाद डीसी अरवा राजकमल व स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर्स के सलाह लेकर अपने शोध को अंजाम तक पहुंचा दिया. फिर अपने खर्चे पर ही सदर अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड के मुख्य गेट पर फोन बूथ की शक्ल में कोरोना सैम्पल जांच सेंटर स्थापित कराया.

डीसी अरवा राजकमल ने कहा कि पूरे देश में कोरोना जांच के लिए पीपीई किट की भारी कमी है. इससे जांच प्रभावित हो रही है. ऐसे में चाईबासा डीडीसी ने देश को एक बड़ा योगदान दिया है. इस जांच सिस्टम को अपनाकर पूरे देश में कोरोना पर काबू पाया जा सकता है.

रिपोर्ट- उपेन्द्र कुमार

ये भी पढ़ें- बोकारो में covid-19 पॉजिटिव मिली महिला, बांग्लादेश देश से लौटी थी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पश्चिमी सिंहभूम से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 6, 2020, 8:34 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading