नक्सली दस्ते को जवानों ने घेरा, तीन दिन से दोनों ओर से गोलीबारी जारी

सुरक्षा बलों के जवानों से घिरने के बाद नक्सली पहाड़ छोड़ भागने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं, लेकिन पहाड़ी को चारों ओर से जवानों ने घेर रखा है.

Upendra Gupta | News18 Jharkhand
Updated: April 17, 2018, 11:37 AM IST
नक्सली दस्ते को जवानों ने घेरा, तीन दिन से दोनों ओर से गोलीबारी जारी
नक्सली दस्ते को जवानों ने घेरा, तीन दिन से दोनों ओर से गोलीबारी जारी
Upendra Gupta | News18 Jharkhand
Updated: April 17, 2018, 11:37 AM IST
पश्चिमी सिंहभूम के सारंडा-पोड़ाहाट जंगल के सीमावर्ती क्षेत्र रोवाम और सांगाजाटा के एक पहाड़ी पर नक्सली दस्ता और कुछ बड़े नक्सली नेता के होने की सूचना पर सुरक्षा बल के सैकडों जवानों के द्वारा आज तीसरे दिन भी पहाड़ी को घेर कर रखा है. सुरक्षा बल के जवानों के घेरे को तोड़ कर भागने के लिए नक्सली लगातार आइईडी का विस्फोट कर रहे हैं, लेकिन सुरक्षा बल के जवान लगातार मोर्चे पर डटे हुए हैं.

जवानों ने नक्सलियों के भागने के रास्ते को चारों तरफ से बंद कर रखा है. आज सुबह भी दोनों तरफ से फायरिंग की खबर हैं. गौरतलब है कि गोईलकेरा और गुवा थाना के सीमावर्ती सुदूर-घने जंगल के एक पहाड़ पर भाकपा माओवादी के कुछ नेता के बैठक करने की सूचना पर कॉम्बिंग ऑपरेशन चलाया गया. जिसमें नक्सली और सुरक्षा बल के जवानों के बीच कई राउंड फायरिंग हुई.

सुरक्षा बलों के जवानों से घिरने के बाद नक्सली पहाड़ छोड़ भागने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं, लेकिन पहाड़ी को चारों ओर से जवानों ने घेर रखा है. सुरक्षा बल के जवान पूरी मस्तैदी और हिम्मत के साथ डटे हुए हैं. ऊंची पहाड़ी पर नक्सली दस्ता और उनके नेता हैं और नीचे सुरक्षा बल के जवान, ऐसे में जवानों पर नक्सली ताबड़तोड़ आइईडी विस्फोट कर रास्ता बनाने में लगे हैं. लेकिन सुरक्षा बल के जवान भी नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं और पहाड़ पर नक्सली दस्ते को घेर कर रखा है.

नक्सलियों के इस अभियान में जिला पुलिस, सीआरपीएफ, कोबरा और झारखंड जगुआर के जवान मोर्चे पर डटे हैं. जबकि तकनीकी मदद के लिए सेना के हेलीकॉप्टर की मदद ली जा रही है. एसपी मयूर पटेल ने बताया कि मोर्चे पर अभी भी जवान डटे हैं. नक्सली दस्ता को घेर कर रखा गया है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर