सीआरपीएफ के 79 वें स्थापना दिवस पर चाईबासा में कार्यक्रमों का आयोजन
West-Singhbum News in Hindi

सीआरपीएफ के 79 वें स्थापना दिवस पर चाईबासा में कार्यक्रमों का आयोजन
चाईबासा में सीआरपीएफ के 79वें स्थापना दिवस पर जगह-जगह कार्यक्रमों का आयोजन

79वें स्थापना दिवस पर सीआरपीएफ ने विभिन्न सरकारी स्कूलों में पर्यावरण सुरक्षा, सड़क सुरक्षा और बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ विषय पर निबंध और चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया.

  • Share this:
सीआरपीएफ के 79 वें स्थापना दिवस पर आज शुक्रवार को 174 बटालियन द्वारा कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया. सीआरपीएफ चाईबासा रेंज के डीआईजी राजीव राय,174 बटालियन के कमांडेंट डॉ. प्रेमचंद, सहायक कमांडेंट एसआई रमन , अरूण झा सहित सैकेड़ों सीआरपीएफ जवानों ने चाईबासा अड्डा सहित कई स्थानों पर 1000 वृक्ष लगाए. इस मौके पर सीआरपीएफ ने विभिन्न सरकारी स्कूलों में पर्यावरण सुरक्षा, सड़क सुरक्षा और बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ विषय पर निबंध और चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया. इस मौके पर छात्रों को पुरस्कृत भी किया गया.

इस बार सीआरपीएफ ने स्थापना दिवस पर सीआरपीएफ के दो शहीद जवानों के प्रति भी अपनी श्रद्धांजलि देने के साथ उनकी पत्नियों को शॉल ओढ़ा कर सम्मानित किया. चाईबासा के उलीहातू गांव में सीआरपीएफ जवान मोती लाल पूर्ति 4 अक्टूबर 1989 को पंजाब के फिरोजपुर में खालिस्तान आंतकवादियों से लड़ते हुए शहीद हुए थे. उनकी प्रतिमा कुछ साल पहले ही उनके गांव में सीआरपीएफ ने लगाया है. शहादत के तीस साल बाद अपने शहीद पति को इस तरह सम्मानित होता देख शहीद की पत्नी रो पड़ीं. उन्होंने इसके लिेए सबका आभार प्रकट किया.

वहीं चाईबासा के डोमरडिहा में 10 मई 2001 को असम के कार्लियालांग में उल्फा उग्रवादियों से लड़ते हुए शहीद सीआरपीएफ जवान फूल सिंह देवगम को भी याद किया गया. उनकी पत्नी को सीआरपीएफ ने
सम्मानित किया. 2001 में शहीद जवान की बेटी को केंद्र सरकार ने 2016 में अनुंकपा के आधार पर नौकरी दी, जिससे शहीद का परिवार खुश है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading