Bihar TET : बिहार टीईटी का सर्टिफिकेट अब आजीवन मान्य, इस साल से होगा लागू

बिहार में टीईटी के प्रमाण पत्र की वैधता अभी तक सात साल हुआ करती थी.

Bihar TET : बिहार ने राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद के निर्देशों को लागू करते हुए टीईटी सर्टिफिकेट की वैधता आजीवन करने की अधिसूचना जारी कर दी है. यह साल 2012 से लागू होगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. बिहार में शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) पास करने के प्रमाण पत्र की वैधता अब जीवन भर रहेगी. बिहार सरकार ने यह फैसला केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) पास करने के प्रमाण पत्र को आजीवन वैध किए जाने के निर्णय के बाद लिया है. राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद की ओर से हाल ही में जारी निर्देशों पर शिक्षा विभाग ने शुक्रवार को अधिसूचना जारी कर दी. अभी तक टीईटी प्रमाण पत्र की वैधता सात साल हुआ करती थी.

    बिहार के शिक्षा विभाग के उप सचिव अरशद फिरोज की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि अध्यापक शिक्षा परिषद (NCTE) की ओर से जारी पत्र के आधार पर टीईटी प्रमाण पत्र की वैधता 11 फरवरी 2012 के प्रभाव से ताउम्र की जाती है. इस आदेश के तहत बिहार में पहले हुए टीईटी के लिए मई 2012 से जारी प्रमाण पत्रों की वैधता आजीवन की जाती है.

    यूपीटीईटी सर्टिफिकेट भी जल्द आजीवन वैध

    यूपी टीईटी के प्रमाण पत्रों को भी आजीवन वैध करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है. इस संबंध में परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने शासन को प्रस्ताव भेजा है. यूपी में पहली बार टीईटी परीक्षा 2011 में हुई थी. इसका आयोजन जुलाई 2011 में नि:शुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार कानून लागू होने के बाद हुआ था. इसके बाद 2013 से परीक्षा नियामक प्रधिकारी यूपी टीईटी का आयोजन करता आया है. प्रदेश में पहले पांच साल की वैधता थी. इसके बाद अभ्यर्थियों को दोबारा परीक्षा पास करनी होती थी.

    ये भी पढ़ें- 

    Postponed Reet Exam 2021: एक बार फिर स्थगित हुई रीट परीक्षा, जानें लेटेस्ट अपडेट्स

    JAC Board Exam 2021: झारखंड बोर्ड 12वीं की परीक्षा रद्द, जानें कब जारी होगा रिजल्ट

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.