Home /News /jobs /

Career Tips: जॉब ऑफर लेटर में देख लें ये चीजें, करियर में नहीं आएगी कोई परेशानी

Career Tips: जॉब ऑफर लेटर में देख लें ये चीजें, करियर में नहीं आएगी कोई परेशानी

जॉब ऑफर लेटर में ध्यान से देखें ये चीजें

जॉब ऑफर लेटर में ध्यान से देखें ये चीजें

Career Tips, Job Offer Letter, Jobs: आमतौर पर हर कोई स्कूल के दिनों से ही सुनहरे करियर के सपने देखना शुरू कर देता है. आपकी जॉब पहली हो या दूसरी, हर बार उत्साह बराबर रहता है. इंटरव्यू (Job Interview) पास कर लेने के बाद सभी को अपने जॉब ऑफर लेटर का बेसब्री से इंतजार रहता है. उसके आते ही नौकरी पक्की होने का स्टेटस भी समझ में आ जाता है. लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि कई बार ऑफर लेटर में लिखी डिटेल्स आपके फाइनल इंटरव्यू से अलग होती हैं? जॉब ऑफर लेटर पर साइन करने से पहले कुछ चीजें जरूर चेक कर लें.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली (Career Tips, Job Offer Letter). इंटरव्यू (Job Interview) हो जाने के बाद हर किसी को अपने फॉर्मल जॉब ऑफर लेटर का इंतजार रहता है. उसके आते ही जॉब मिलने की गारंटी पक्की हो जाती है. कई बार ऑफर लेटर के आते ही हम इतने खुश हो जाते हैं कि उस पर अपनी बारीक नजर डालना भूल जाते हैं. इसकी वजह से कभी-कभी बाद में काफी परेशानी का सामना करना पड़ जाता है. अगर आपका फाइनल ऑफर लेटर (Job Offer Letter) आ गया है तो उसे साइन करने से पहले ध्यान से पढ़ना न भूलें.

    जॉब ऑफर लेटर में आपके जॉब प्रोफाइल (Job Profile), पद, सैलरी से लेकर जॉब की लोकेशन और बाकी सुविधाओं का भी जिक्र होता है. आपके फाइनल इंटरव्यू में एचआर से आपकी जो भी बात तय हुई हो, जरूरी नहीं है कि आपका ऑफर लेटर बिल्कुल उसी आधार पर बनाया गया हो. इसलिए उसे स्वीकारने से पहले कुछ चीजों पर गौर जरूर कर लें (Offer Letter Acceptance).

    बदल सकता है आपका पद
    कई बार जॉब ऑफर लेटर में आपका पद यानी जॉब प्रोफाइल (Job Profile) बदल दिया जाता है. दरअसल, अगर एंप्लॉयर को लगता है कि आपने जिस पद के लिए अप्लाई किया था, उसके बजाय आप किसी दूसरे पद के लिए ज्यादा उपयुक्त हैं तो वह बदल सकता है. इसलिए ऑफर लेटर में अपना डेजिग्नेशन चेक करना न भूलें.

    कौन है आपका मैनेजर?
    ऑफर लेटर में अगर आपके रिपोर्टिंग मैनेजर का जिक्र नहीं है तो उसे एक्सेप्ट करने से पहले एचआर से कंफर्म जरूर कर लें. अगर आप उस व्यक्ति को पहले से जानते हैं या आपको लगता है कि आप उसके साथ तालमेल नहीं बिठा पाएंगे तो वहां नौकरी करने से कोई मतलब नहीं है.

    यह भी पढ़ें:
    IAS Salary: इतनी होती है आईएएस ऑफिसर की सैलरी, घर के साथ मिलती हैं ये सुविधाएं
    IAS Topper Success Story: पहली कोशिश में पास की UPSC परीक्षा, सत्यम गांधी ने गांव में रहकर ऐसे की पढ़ाई

    चेक करें सैलरी स्ट्रक्चर और अन्य सुविधाएं
    जॉब ऑफर लेटर को ध्यान से देखते समय अपनी बेसिक सैलरी (Basic Salary Percentage) और दूसरे कंपोनेंट्स भी देख लें. अगर ऑफर की गई सैलरी से कुछ भी अलग नजर आए तो एचआर से तुरंत कंसल्ट करें. साथ ही यह भी देख लें कि जॉब ऑफर लेटर में अन्य सुविधाओं का जिक्र है या नहीं.

    जॉइनिंग डेट पर सहमति जरूरी
    एचआर से बात करते समय अपनी जॉइनिंग डेट और पुरानी कंपनी की रिलीविंग डेट डिस्कस करना न भूलें. आपके ऑफर लेटर में वही तारीख लिखी होनी चाहिए, जिस पर आप वाकई में कंपनी जॉइन कर सकते हों. जरा भी फेरबदल आपको बाद में भारी पड़ सकता है.

    Tags: Career, Career Guidance, Interview, Job and career, Job and growth, Jobs

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर