होम /न्यूज /नौकरियां /CTET 2020 syllabus: इन टॉप‍िक्‍स पर होंगे CTET पेपर-1 के सवाल, यहां पढ़ें पूरा स‍िलेबस

CTET 2020 syllabus: इन टॉप‍िक्‍स पर होंगे CTET पेपर-1 के सवाल, यहां पढ़ें पूरा स‍िलेबस

CTET 2020 परीक्षा में इस स‍िलेबस से सवाल पूछे जाएंगे.

CTET 2020 परीक्षा में इस स‍िलेबस से सवाल पूछे जाएंगे.

CTET 2020 परीक्षा के ल‍िये आवेदन की प्रक्र‍िया 2 मार्च 2020 को समाप्‍त हो जाएगी. परीक्षा की तैयारी करने वाले उम्‍मीदवार ...अधिक पढ़ें

    CTET 2020 Syllabus: जुलाई 2020 CTET परीक्षा (CTET July 2020 exam) के ल‍िये आवेदन की प्रक्र‍िया 2 मार्च 2020 को समाप्‍त हो जाएगी. आवेदन करने के ल‍िये उम्‍मीदवारों को ctet.nic.in जाना होगा. हालांक‍ि CBSE 5 मार्च को दोपहर 3:30 बजे तक CTET परीक्षा की फीस स्‍वीकार करेगा. परीक्षा में दो पेपर होंगे. पेपर-1 उन उम्‍मीदवारों के ल‍िये होगा, जो पहली से पांचवीं कक्षा तक के छात्रों को पढ़ाना चाहते हैं और पेपर -2 6वीं से आठवीं कक्षा तक के ल‍िये होगा. यहां हम उम्‍मीदवारों को यह बता रहे हैं क‍ि CTET 2020 के पेपर-1 का स‍िलेबस क्‍या है और क‍िस टॉप‍िक पर क‍ितने सवाल होंगे.

    बता दें क‍ि CTET परीक्षा क्‍वाल‍िफाई करने वाले उम्‍मीदवारों को केंद्रीय व‍िद्यालय (Kendriya Vidyalaya), जवाहर नवोदय व‍िद्यालय (Jawahar Navodaya Vidyalaya) या अन्‍य केंद्रीय स्‍कूलों में नौकरी का मौका प्राप्‍त होता है. इन स्‍कूलों में पदों पर आवेदन के ल‍िये ऐसे उम्‍मीदवारों को योग्‍य माना जाएगा.

    CTET स‍िलेबस और परीक्षा का पैटर्न:

    CTET परीक्षा का पैटर्न- पेपर-I
    जो अभ्‍यर्थी, पहली से पांचवीं कक्षा तक के छात्रों को पढ़ाना चाहते हैं, उन्‍हें पेपर-1 देना होगा. पेपर-1 के ल‍िये CTET परीक्षा का पैटर्न कुछ ऐसा होगा:-

    बाल विकास और शिक्षाशास्त्र (अनिवार्य) : 30 प्रश्‍न, 30 अंक के होंगे.
    भाषा I (अन‍िवार्य): 30 प्रश्‍न होंगे, 30 अंक के
    भाषा II (अन‍िवार्य): 30 प्रश्‍न होंगे, 30 अंक के
    गण‍ित: इसमें भी कुल 30 अंकों के 30 प्रश्‍न होंगे
    एंवार्यमेंटल स्‍टडीज: यह पेपर भी 30 प्रश्‍न होंगे, 30 अंक के

    बता दें क‍ि पेपर में कुल 150 प्रश्‍न होंगे, कुल 150 अंकों के.

    CTET परीक्षा का पैटर्न- पेपर-II
    दूसरा पेपर, उन उम्‍मीदवारों के ल‍िये होता है, जो 6वीं से आठवीं कक्षा तक के छात्रों को पढ़ाना चाहते हैं. दूसरे पेपर के CTET परीखा का पैटर्न कुछ इस तरह का होगा:

    Child Development and Pedagogy (Compulsory)
    बाल विकास और शिक्षाशास्त्र (अनिवार्य) : 30 प्रश्‍न, 30 अंक के होंगे.
    भाषा I (अन‍िवार्य): 30 प्रश्‍न होंगे, 30 अंक के
    भाषा II (अन‍िवार्य): 30 प्रश्‍न होंगे, 30 अंक के
    गण‍ित और व‍िज्ञान (गण‍ित और साइंस के श‍िक्षकों के ल‍िये होगा): इसमें भी कुल 60 अंकों के 60 प्रश्‍न होंगे
    सोशल स्‍टडीज/सोशल साइंस (सोशल स्‍टडीज/सोशल साइंस श‍िक्षकों के ल‍िये): यह पेपर भी 60 प्रश्‍न होंगे, 60 अंक के

    दूसरे पेपर में 150 प्रश्‍न होंगे कुल 150 अंकों के ल‍िये. बता दें क‍ि क‍िसी भी श‍िक्षक के ल‍िये आख‍िरी के दो व‍िकल्‍पों में से एक का चुनाव करना अन‍िवार्य है.

    CTET स‍िलेबस 2020: पेपर-I
    पेपर-1 के ल‍िये CTET स‍िलेबस 2020 (CTET Syllabus 2020) यहां चेक करें:
    1. बाल विकास और शिक्षाशास्त्र (अनिवार्य): 30 प्रश्‍न
    (क) प्राइमरी स्‍कूल के बच्‍चों के ल‍िये चाइल्‍ड डेवलपमेंट (Child Development)– 15 सवाल
    - विकास की अवधारणा और सीखने के साथ इसका संबंध
    - बच्चों के विकास के सिद्धांत
    - आनुवंशिकता और पर्यावरण का प्रभाव
    - समाजीकरण प्रक्रिया: सामाजिक दुनिया और बच्चे (शिक्षक, माता-पिता, साथियों)
    - पियागेट, कोहलबर्ग और वायगोत्स्की: निर्माण और महत्वपूर्ण दृष्टिकोण
    - बाल-केंद्रित और प्रगतिशील शिक्षा की अवधारणा
    - इंटेलिजेंस के निर्माण का महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य
    - मल्टी-डाइमेंशनल इंटेलिजेंस
    - भाषा और विचार
    - एक सामाजिक निर्माण के रूप में लिंग, लिंग भूमिकाएं, लिंग-पूर्वाग्रह और शैक्षिक अभ्यास
    - शिक्षार्थियों के बीच व्यक्तिगत अंतर, भाषा की विविधता, जाति, लिंग, समुदाय, धर्म आदि के आधार पर मतभेदों को समझना
    - सीखने के लिए मूल्यांकन और सीखने के आकलन के बीच का अंतर
    - स्कूल-आधारित मूल्यांकन, सतत और व्यापक मूल्यांकन: परिप्रेक्ष्य और अभ्यास
    - शिक्षार्थियों के तत्परता के स्तर का आकलन करने के लिए उचित प्रश्नों का निर्माण; कक्षा में सीखने और महत्वपूर्ण सोच को बढ़ाने और सीखने की उपलब्धि का आकलन करने के लिए.

    (ख) समावेशी शिक्षा की अवधारणा और विशेष आवश्यकताओं वाले बच्चों को समझना - 5 प्रश्‍न
    - वंचितों और वंचितों सहित विविध पृष्ठभूमि के शिक्षार्थियों को संबोधित करना
    - सीखने की कठिनाइयों वाले बच्चों की आवश्यकताओं को संबोधित करना, 'व‍िकलांगता' आदि
    - टैलेंटेड, क्रिएटिव को संबोधित करते हुए, विशेष रूप से एबल्ड लर्नर्स को संबोधित करना

    (ग) शिक्षण और शिक्षाशास्त्र (Learning and Pedagogy) - 5 प्रश्‍न
    - बच्चे कैसे सोचते और सीखते हैं, कैसे और क्यों बच्चे स्कूल के प्रदर्शन में सफलता पाने में वो 'असफल' हो जाते हैं.
    - शिक्षण और सीखने की बुनियादी प्रक्रियाएं, बच्चों की सीखने की रणनीति, एक सामाजिक गतिविधि के रूप में सीखना, सीखने का सामाजिक संदर्भ.
    - समस्या समाधानकर्ता और 'वैज्ञानिक अन्वेषक' के रूप में बच्‍चा
    - बच्चों में सीखने की वैकल्पिक अवधारणा, बच्चों की ’त्रुटियों’ को सीखने की प्रक्रिया के महत्वपूर्ण चरणों के रूप में समझना.
    - अनुभूति और भावनाएंं
    - प्रेरणा और सीख
    - सीखने में योगदान करने वाले कारक - व्यक्तिगत और पर्यावरण

    2. भाषा I - 30 प्रश्‍न
    (क) कांप्रीहेंशन- 15 सवाल
    अनदेखी गद्यांश यानी अनसीन पैसेज को पढ़ना - दो गद्य एक नाटक और एक कविता में बोध, अंतर्ज्ञान, व्याकरण और मौखिक क्षमता पर प्रश्‍न (गद्य गद्य साहित्यिक, वैज्ञानिक, कथात्मक या विवेकी हो सकता है).

    (ख) भाषा व‍िकास का श‍िक्षण (Pedagogy of Language Development) - 15 सवाल
    - सीखना और अधिग्रहण
    - भाषा शिक्षण के सिद्धांत
    - सुनने और बोलने की भूमिका; भाषा का कार्य और बच्चे इसे एक उपकरण के रूप में कैसे उपयोग करते हैं
    - मौखिक रूप से और लिखित रूप में विचारों को संप्रेषित करने के लिए एक भाषा सीखने में व्याकरण की भूमिका पर महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य
    - विविध कक्षा में भाषा सिखाने की चुनौतियाँ; भाषा कठिनाइयों, त्रुटियों और विकारों
    - भाषा कौशल
    - भाषा की समझ और प्रवीणता का मूल्यांकन: बोलना, सुनना, पढ़ना और लिखना
    - शिक्षण-शिक्षण सामग्री: पाठ्यपुस्तक, बहु-मीडिया सामग्री, कक्षा का बहुभाषी संसाधन
    - उपचारात्मक शिक्षण

    3. भाषा – II - 30 प्रश्‍न
    (क) कांप्रीहेंशन - 15 सवाल
    दो अनदेखी गद्य यानी अनसीन पैसेज (विवेकात्मक या साहित्यिक या कथात्मक या वैज्ञानिक), समझ, व्याकरण और मौखिक क्षमता के प्रश्‍न.

    (ख)भाषा व‍िकास श‍िक्षण- 15 प्रश्‍न
    - सीखना और अधिग्रहण
    - भाषा शिक्षण के सिद्धांत
    - सुनने और बोलने की भूमिका; भाषा का कार्य और बच्चे इसे एक उपकरण के रूप में कैसे उपयोग करते हैं
    - मौखिक रूप से और लिखित रूप में विचारों को संप्रेषित करने के लिए भाषा सीखने में व्याकरण की भूमिका पर महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य;
    - विविध कक्षा में भाषा सिखाने की चुनौतियाँ; भाषा कठिनाइयों, त्रुटियों और विकारों
    - भाषा कौशल
    - भाषा की समझ और प्रवीणता का मूल्यांकन: बोलना, सुनना, पढ़ना और लिखना
    - शिक्षण - शिक्षण सामग्री: पाठ्यपुस्तक, बहु-मीडिया सामग्री, कक्षा का बहुभाषी संसाधन
    - उपचारात्मक शिक्षण

    4. गण‍ित- 30 प्रश्‍न
    (क) कंटेंट- 15 सवाल
    - जीयोमेट्री
    - शेप एंड स्‍पेशल अंडरस्‍टैंडिंग
    - सॉल‍िड अराउंड अस
    - नंबर्स
    - जोड़ और घटाव
    - गुणा
    - भाग
    - माप
    - वजन
    - समय
    - आयतन
    - डेटा संधारण
    - पैटर्न
    - पैसे

    (ख) शैक्षण‍िक मुद्दे - 15 सवाल
    - गणित / तार्किक सोच की प्रकृति; बच्चों की सोच को समझना और तर्क पैटर्न और अर्थ और सीखने की रणनीति
    - पाठ्यक्रम में गणित का स्थान
    - गणित की भाषा
    - सामुदायिक गणित
    - औपचारिक और अनौपचारिक तरीकों के माध्यम से मूल्यांकन
    - शिक्षण की समस्याएं
    - त्रुटि विश्लेषण और सीखने और शिक्षण से संबंधित पहलुओं
    - नैदानिक और उपचारात्मक शिक्षण (Diagnostic and Remedial Teaching)

    5. एंवायर्नमेंटल स्‍टडीज - 30 प्रश्‍न
    (क) कंटेंट- 15 प्रश्‍न

    - परिवार और दोस्त: रिश्ते, काम और खेल, जानवर, पौधे
    - खाना
    - आश्रय
    - पानी
    - यात्रा
    - चीजें हम बनाते हैं और करते हैं

    (ख) शैक्षण‍िक मुद्दे - 15 सवाल
    - ईवीएस की अवधारणा और गुंजाइश
    - ईवीएस का महत्व, एकीकृत ईवीएस
    - पर्यावरण अध्ययन और पर्यावरण शिक्षा
    - अधिगम सिद्धांत
    - विज्ञान और सामाजिक विज्ञान से संबंध और संबंध
    - अवधारणाओं को पेश करने के दृष्टिकोण
    - गतिविधिया
    - प्रयोग / व्यावहारिक कार्य
    - चर्चा
    - सी.सी.ई.
    - शिक्षण सामग्री / एड्स
    - समस्या

    Tags: CTET exam

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें