• Home
  • »
  • News
  • »
  • jobs
  • »
  • मध्यप्रदेश में चयनित शिक्षक 29, 30 जून और 1 जुलाई को कराएं दस्तावेजों के सत्यापन, वरना पात्रता होगी निरस्त

मध्यप्रदेश में चयनित शिक्षक 29, 30 जून और 1 जुलाई को कराएं दस्तावेजों के सत्यापन, वरना पात्रता होगी निरस्त

आखिरी तीन तारीखों में सत्यापन ना कराने वाले अभ्यर्थियों की पात्रता निरस्त की जाएगी.

आखिरी तीन तारीखों में सत्यापन ना कराने वाले अभ्यर्थियों की पात्रता निरस्त की जाएगी.

अभ्यर्थी खुद उपस्थित होकर सत्यापन अधिकारी से करा सकेंगे सत्यापन. ऑनलाइन पोर्टल पर दस्तावेजों के अपलोड करने के साथ चयनित जिले में 5 जुलाई 2021 को दस्तावेजों का सत्यापन किया जाएगा.

  • Share this:
भोपाल. मध्यप्रदेश में चयनित शिक्षकों को स्कूल शिक्षा विभाग ने एक आखरी मौका दिया है. उच्च माध्यमिक शिक्षक और माध्यमिक शिक्षक की सीधी भर्ती के चयनित परीक्षार्थियों को दस्तावेजों के सत्यापन के लिए 29-30 जून और 1 जुलाई को आखरी मौका दिया है. इन 3 तारीखों में सत्यापन ना कराने वाले चयनित अभ्यार्थियों की पात्रता निरस्त की जाएगी.

दस्तावेजों के सत्यापन का अंतिम मौका
लोक शिक्षण संचालनालय की आयुक्त जयश्री कियावत ने आदेश जारी कर चयनित परीक्षार्थियों को दस्तावेजों के सत्यापन के लिए एक और मौका दिया है. 29-30 जून और 1 जुलाई को बाकी रह गए परीक्षार्थी आखरी बार दस्तावेजों का सत्यापन करा सकते हैं. इन 3 तारीखों में चयनित शिक्षक ऑनलाइन पोर्टल पर दस्तावेज (डॉक्युमेंट्स) अपलोड करेंगे.

ऑनलाइन पोर्टल पर दस्तावेजों के अपलोड करने के साथ चयनित जिले में 5 जुलाई 2021 को दस्तावेजों का सत्यापन किया जाएगा. चयनित अभ्यर्थियों को मूल दस्तावेजों के साथ खुद सत्यापन अधिकारी से अपने डाक्यूमेंट्स का सत्यापन कराना अनिवार्य होगा. आखिरी तीन तारीखों में सत्यापन ना कराने वाले अभ्यर्थियों की पात्रता निरस्त की जाएगी.

14 जून को पूरा चुका है चयनित शिक्षकों का वेरिफिकेशन 
मध्यप्रदेश में शिक्षक पात्रता परीक्षा में चयनित शिक्षकों के वेरिफिकेशन का काम 14 जून को पूरा कर लिया गया है. उच्च माध्यमिक शिक्षक (वर्ग 01) और माध्यमिक शिक्षक (वर्ग 02) के शिक्षकों की भर्ती जुलाई महीने में की जानी है. इससे पहले वेरिफिकेशन का काम कोरोना संक्रमण के चलते दो बार टाला जा चुका है. तीसरी बार में वर्ग एक और वर्ग 2 के शिक्षकों के सत्यापन का काम पूरा हो गया है. सत्यापन के बाद अब जिलेवार स्कूलों में खाली शिक्षकों की स्थिति के अनुसार नियुक्तियां की जाएंगी.

2011 के बाद 2018 में निकली थी नियुक्तियां
मध्यप्रदेश में साल 2011 के बाद 2018 में शिक्षकों की भर्ती निकली थी. 7 साल के लंबे इंतजार के बाद 2018 में भर्ती का विज्ञापन निकला था. शिक्षक पात्रता परीक्षा वर्ग 1 और वर्ग 2 की परीक्षा ली गई थी. जिसमें 33000 शिक्षक चयनित हुए हैं. लगभग तीन साल होने के बाद भी अब तक चयनित शिक्षक अपनी नियुक्ति की राह देख रहे हैं. प्रदेश भर में शिक्षकों की कमी वाले स्कूलों में शिक्षकों को नियुक्ति दी जानी थी. अब तक शिक्षकों को नियुक्ति नही मिली है. बल्कि शिक्षकों की कमी सरकार अतिथि शिक्षकों से पूरी कर रही है.

ये भी पढ़ें-
SSC Exam Postponed : एसएससी ने स्थगित की एमटीएस और दिल्ली एसआई भर्ती पेपर- 2 परीक्षा
PRSC Recruitment 2021: पंजाब रिमोट सेंसिंग सेंटर ने निकाली कई पदों पर नौकरियां, जानें डिटेल

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज