• Home
  • »
  • News
  • »
  • jobs
  • »
  • IAS Preparation Tips: लॉकडाउन में ऐसे करें IAS एग्‍जाम की तैयारी

IAS Preparation Tips: लॉकडाउन में ऐसे करें IAS एग्‍जाम की तैयारी

यूपीएससी स‍िव‍िल सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहे उम्‍मीदवारों के ल‍िये महत्‍वपूर्ण.

यूपीएससी स‍िव‍िल सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहे उम्‍मीदवारों के ल‍िये महत्‍वपूर्ण.

IAS Preparation Tips: लॉकडाउन के दौरान जहां कुछ परीक्षार्थी कोच‍िंग क्‍लास खुलने का इंतजार कर रहे हैं, वहीं दूसरे उम्‍मीदवार इसका सेल्‍फ स्‍टडी के रूप में इस्‍तेमाल कर रहे हैं.

  • Share this:
IAS Preparation Tips: बीसवीं सदी के महान दार्शनिकों में से एक इंग्लैण्ड के बन्ट्रेड रसेल ने दुनिया के अभिभावकों को सलाह दी थी कि उन्हें अपने बच्चों को एक दिन में कम से कम एक बार आधे घंटे के लिए एकांत में रहने का अभ्यास कराना चाहिए. लाॅकडाउन ने फिलहाल सभी के लिए कुछ-कुछ ऐसी ही स्थिति पैदा कर दी है, लेकिन वैसी नहीं, जैसा रसेल का मन्तव्य था.

जब मैं रसेल की इस सलाह और आज के लाॅकडाउन को एक साथ रखकर सिविल सर्विस परीक्षा की तैयारी करने वालों के संदर्भ में सोचता हूंं, तो मुझे यह एक आदर्श प्रशिक्षण अवसर की तरह नजर आता है. आइये, इसी मुद्दे पर कुछ बातें करते हैं. आईएएस की तैयारी आपसे ‘पढ़ने’ की मांग नहीं करता, बल्कि ‘अध्ययन’ की मांग करता है. यह Reading नहीं, Studing है. स्टडी इत्मीनान के साथ की जाती है और इत्मीनान के लिए जरुरत होती है, एकांत की. मैंने पाया है कि जिन परीक्षार्थियों का पाला पहली बार इस एकांत से पड़ता है, वे इससे बुरी तरह घबरा जाते हैं. धीरे-धीरे वे इतने अधिक अशांत और बेचैन हो उठते हैं कि लाखों रुपयों की फीस देकर महानगर की किसी कोचिंग संस्थान को छोड़-छाड़कर अपने घर लौट जाते हैं.

वर्तमान लाॅकडाउन हांलाकि लोगों को उनके परिवार के साथ जरूर रखे हुए है, लेकिन उन लोगों के साथ नहीं, जिनके साथ आप रहना चाहते हैं. मजबूरी में ही सही, लेकिन सिविल सर्विस परीक्षा की तैयारी करने के लिए आप इसे एक आवश्यक एवं अच्छे प्रशिक्षण के रूप में देख सकते हैं. यह खासकर उन युवाओं के लिए तो एक वरदान की तरह है, जो दो-चार वर्षों बाद परीक्षा में बैठेंगे.
चाहे आप पसंद करें या न करें, चाहे आप की सीमाएं और लाचारियां कुछ भी हों, लेकिन यदि आप सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, तो आप आधुनिक टेक्नोलाॅजी की उपेक्षा नहीं कर सकते. यह एक प्रकार का आत्मघात करने जैसा होगा. क्योंकि जो लोग इसका इस्तेमाल कर रहे होंगे, वे स्वाभाविक तौर पर आपसे आगे निकल जायेंगे.

आज इंटरनेट ने ज्ञान के क्षेत्र में एक जबर्दस्त क्रांति ला दी है. यू-ट्यूब के साथ ही साथ ऑनलाइन तैयारी करने के न जाने कितने द्वार खुल गये हैं.इनमें कुछ फ्री हैं, तो कुछ पेड भी. लेक‍िन इनका लाभ लेने वाली मानसिकता अभी बन नहीं पाई है. अधिकांश परीक्षार्थियों को कक्षा में जाकर आमने-सामने बैठकर पढ़ना ही अच्छा लगता है.
लाॅकडाउन ने उनकी कक्षाओं के दरवाजों पर ताला लगवा दिया है. ऐसे में वे दो में से कोई एक काम कर रहे होंगे. या तो कक्षाओं के ताले खुलने का इंतजार कर रहे होंगे, या फिर घर में चुपचाप बैठकर तैयारी कर रहे होंगे. पहले वर्ग के परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम की भविष्यवाणी की जा सकती है.

दूसरे वर्ग के परीक्षार्थी सराहना के पात्र हैं कि वे स्वयं को अवसर के अनुकूल ढालना जानते हैं. उनकी यह नई आदत पक्के तौर पर उन्हें काफी आगे ले जायेगी.

यह भी पढ़ें:
IAS Preparation Tips: सिविल सेवा परीक्षा की नींव है मानसिक मजबूती

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज