India Post Recruitment: ग्रामीण डाक सेवक भर्ती के लिए एप्लीकेशन की डेट बढ़ी, 29 मई तक करें सबमिट

डीएसएसएसबी द्वारा निकाली गई भर्ती में सबसे अधिक 6358 वैकेंसी टीजीटी के लिए है.

India Post Recruitment : भारतीय डाक विभाग ने बिहार और महाराष्ट्र में ग्रामीण डाक सेवक पदों पर भर्ती के लिए एप्लीकेशन सबमिट करने की अंतिम तिथि बढ़ाकर 29 मई कर दी है. इस भर्ती प्रक्रिया में 4000 से अधिक रिक्त पद भरे जाने हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. डाक विभाग में 10वीं पास युवाओं के हो रही ग्रामीण डाक सेवक भर्ती के लिए आवेदन सबमिट करने की अंतिम तिथि बढ़ा दी गई है. ग्रामीण डाक सेवक पद की 4368 वैकेंसी के लिए आज आवेदन सबमिट करने की लास्ट डेट थी. लेकिन अब अभ्यर्थी 29 मई तक आवेदन सबमिट कर सकते हैं. नोटिफिकेशन में कहा गया है कि वे अभ्यर्थी, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन करने के बाद फीस भी पेमेंट कर चुके हैं लेकिन आवेदन फाइनल सबमिट नहीं कर पाए हैं, उनके लिए लास्ट डेट बढ़ाई जा रही है.

    ये भर्तियां भारतीय डाक विभाग के बिहार और महाराष्ट्र सर्किल में होंगी. इस भर्ती में बिहार पोस्ट सर्किल के लिए 1940 और महाराष्ट्र पोस्टल सर्किल के लिए 2428 पद हैं. खास बात यह भी है कि इस भर्ती के लिए किसी तरह की परीक्षा नहीं देनी होगी. अभ्यर्थियों का चयन मेरिट के आधार पर किया जाएगा. मेरिट 10वीं कक्षा में हासिल अंकों के आधार पर बनेगी. ग्रामीण डाक सेवक की इस भर्ती के तहत ब्रांच पोस्टमास्टर, असिस्टेंट ब्रांच पोस्टमास्टर, डाक सेवक पद भरे जाएंगे.

    ग्रामीण डाक सेवक के पदों पर सैलरी
    ब्रांच पोस्ट मास्टर- 12,000 रुपये से 14,500 रुपये
    असिस्टेंट ब्रांच पोस्ट मास्टर/डाक सेवक- 10,000 रुपये से 12,000 रुपये

    आयु सीमा-
    न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम 27 वर्ष. अधिकतम आयुसीमा में अनुसूचित जाति को पांच वर्ष, ओबीसी वर्ग को तीन साल और दिव्यांगों को 10 साल की छूट दी जाएगी.

    शैक्षणिक और टेक्निकल योग्यता
    - मान्यता प्राप्त बोर्ड से गणित, स्थानीय भाषा और अंग्रेजी विषयों के साथ 10वीं पास होना चाहिए.
    - मान्यता प्राप्त संस्थान से 60 दिनों का बेसिक कंप्यूटर ट्रेनिंग सर्टिफिकेट
    - अभ्यर्थी को साइकिल चलाना आना चाहिए

    ये भी पढ़ें-
    IGCAR ने 337 पदों के लिए 10 जून 2021 तक बढ़ाई आवेदन की आखिरी तारीख
    Sarkari Naukri: बिहार में हो सकती है 1.25 लाख शिक्षकों की बहाली, पढ़ें परा मामला