Home /News /jobs /

Know Your Navy: भारतीय नेवी में करियर के सपने को साकार करने के लिए जानें ये 'तिरंगे रास्‍ते'

Know Your Navy: भारतीय नेवी में करियर के सपने को साकार करने के लिए जानें ये 'तिरंगे रास्‍ते'

Know Your Navy: यदि आप भारतीय नौसेना में करियर (Career in Indian Navy) का सपना देख रहे हैं तो आपको इन 'तिरंगे रास्‍तों' के बारे में जानना बेहद जरूरीहै.पहलारास्‍ता,नेवल अधिकारी (Naval Officer) बनने के लिए है, जबकि दूसरा रास्‍ता नौसेना के सेलर (Sailor) पदों की तरफ जाता है. तीसरे रास्‍ते की मंजिल नौसेना के नेवल सिविलियन पद (Naval Civilian Post) हैं. अब आप अपनी योग्‍यता के अनुसार, तीन में किसी एक रास्‍ते का चुनाव कर सकते हैं. आपके सपनों की तरफ बढ़ते इन रास्‍तों में आपको किन चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा, यह जानने के लिए पढ़िए आगे...

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. भारतीय नौसेना में करियर का सपना पूरा करने के लिए आपको इन ‘तिरंगे रास्‍तों’ में किसी एक रास्‍ते का सफर तय करना ही होगा. अब आप कौन सा रास्‍ता तय करेंगे, इसका फैसला आपकी योग्‍यता के आधार पर होगा. दरअसल, इन तिरंगे रास्‍तों के हर रास्‍ते की मंजिल योग्‍यता के अनुसार अलग-अलग है. पहले रास्‍ते का सफर सफलता पूर्वक पूरा करने वाले नौजवान नेवल ऑफिसर कहलाएंगे, जबकि दूसरा रास्‍ता नौसेना के सेलर पदों की तरफ ले जाएगा. वहीं, नेवल सिविलियन पदों पर चयन के लिए आपको तीसरे रास्‍ते का चुनाव करना होगा.

चलिए, अब अलग-अलग बात करते हैं हर रास्‍ते की और आपको बताते हैं कि किस रास्‍ते पर आपके लिए कौन-कौन से अवसर आपका इंतजार कर रहे हैं.

‘नेवल ऑफिसर’ पद है पहले रास्‍ते की मंजिल
भारतीय नौसेना में ऑफिसर बनने के लिए आपको पहले रास्‍ते पर सफर करना होगा. इस रास्‍ते की मंजिल पर पांच तरह की सर्विसेज आपका इंतजार कर रही होंगी, जिनमें एग्‍जिक्‍यूटिव, इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल, मेडिकल और एजुकेशन सर्विस शामिल हैं. भारतीय नौसेना में सबसे बृहद क्षेत्र एग्‍जिक्‍यूटिव सर्विसेज (जनरल सर्विसेज) का है, जिसके अंतर्गत जनरल सर्विसेज, हाइड्रो, पायलट, ऑब्‍जर्वर, लॉजेस्टिक, एनएआईसी, इंफार्मेशनल टेक्‍नोलॉजी, एटीसी, लॉ, स्‍पोट्सर् और म्‍यूजिशियन सर्विसेज शामिल हैं.

इन सर्विसेज के लिए चयन के बाद उम्‍मीदवारों को सब-लेफ्टिनेंट के रैंक में अफ़सर के रूप में भर्ती किया जाता है. जिसके बाद, केरल की एजिमला भारतीय नौसेना अकादमी में नौसेना ओरिएंटेशन कोर्स कराया जाता है, इसके पश्चात इन्हें विभिन्न नौसेना प्रशिक्षण स्थापनाओं, यूनिटों या पोतों पर व्यावसायिक प्रशिक्षण दिया जाता है.

सेलर पदों की तरफ जाता है दूसरा रास्‍ता
भारतीय नौसेना में करियर का दूसरा विकल्‍प सेलर यानी नौ‍सैनिक के तौर पर मिलता है. नौ‍सैनिक पद पर चयन के लिए पांच तरह की कैटेगरी हैं, जिसमें अर्टिफिसर अप्रेंटिस,एसएसआर, मैट्रिक रिक्रूट (एमआर ), म्‍यूजिशियन और स्‍पोर्ट्स की कैटेगरी शामिल है. अर्टिफिसर अप्रेंटिस के तौर पर आपको कार्मिकों का प्रबंधन, प्रणालियों और उन्नत उपस्करों का अनुरक्षण की जिम्‍मेदारी दी जाती है. वहीं, एसएसआर यानी नौसैनिक के रूप में आपको उच्च स्तरीय तकनीकी संगठन का हिस्सा बनने का मौका मिलता है.

यहां आपको एयर क्राफ्ट करियर, गाइडेड मिसाइल डिसट्रायर और फ्रिगेट – पुनर्मरन पोत और उच्च स्तरीयतकनीक और आकर्षक पनडुब्बियां और एयर-क्राफ्ट में अपनी सेवाएं देनी होती हैं. मैट्रिक रिक्रूट के तौर पर रसोइया, स्‍टुवर्ड और सेनेटरी हाइजीनिस्‍ट का कार्य सौंपा जाता है. मैट्रिक रिक्रूट (म्‍यूजीश‍ियन) के तौर पर आपको परेड समारोह और कार्यालय के अन्य समारोहों के दौरान नौसेना के बैंड के हिस्से बनकर वाद्य यंत्र बजाने होते है.

सिविलियन पदों पर चयन के लिए है तीसरा रास्‍ता
भारतीय नौसेना में करियर का तीसरा विकल्‍प हैं सिविलियन पद. इन पदों के अंतर्गत मुख्‍यतय: ट्रेड्समैन मेट (टीएमएम), चार्जमैन मैकेनिक और चार्जमैन (एक्‍सप्‍लोसिव एण्‍ड एम्‍युनेशन) के पद आते हैं.

Tags: Army Bharti, Army recruitment, Army vacancies, Government jobs, Indian army, Indian navy, Navy recruitment, Sena Bharti

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर