Teachers Recruitment : KVS, CBSE, NCERT सहित इन संस्थानों में 20 हजार से ज्यादा पद खाली

नवोदय विद्यालय समिति में शिक्षकों के 3407 पद खाली हैं.

नवोदय विद्यालय समिति में शिक्षकों के 3407 पद खाली हैं.

Jobs in KVS CBSE NCERT : केंद्रीय विद्यालय संगठन, नवोदय विद्यालय समिति, सीबीएसई बोर्ड और एनआईओएस जैसे संस्थानों में 20 हजार से अधिक पद रिक्त हैं. एक संसदीय समिति ने इन खाली पदों को भरने के लिए अभियान चलाने की सिफारिश की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2021, 9:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. संसद की एक समिति ने केंद्रीय विद्यालय संगठन (KVS) सहित कई शिक्षण संस्थानों में शिक्षकों के 20 हजार से अधिक रिक्त पदों को भरने की सिफारिश की है. समिति ने केवीएस के साथ नवोदय विद्यालय समिति (NVS), सीबीएसई बोर्ड, एनसीईआरटी और राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी संगठन (NIOS) में बड़ी संख्या में पद रिक्त होने पर चिंता जताई है.

संसद में पेश शिक्षा, बाल, महिला, युवा एवं खेल संबंधी स्थाई समिति ने एक रिपोर्ट पेश की है. जिसमें सिफारिश की गई है कि सभी रिक्त पदों को भरने के लिए भर्ती अभियान चलाने की जरूरत है. समिति ने रिपोर्ट में कहा है कि शिक्षकों के पद खाली होने की वजह से शिक्षक और छात्र के अनुपात पर असर पड़ता है. इस कारण शिक्षकों पर अतिरिक्त बोझ पड़ता है.

केवीएस में शिक्षकों के 5991 पद रिक्त 

संसदीय समिति ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि केवीएस में कुल 13949 पद रिक्त हैं. इसमें से 5991 पद शिक्षकों के हैं. 31 दिसंबर 2020 तक अन्य पिछड़ा वर्ग के 1611, आर्थिक रूप से कमजोर श्रेणी के 587 और दिव्यांग श्रेणी के 165 पद रिक्त थे. वहीं अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के कुल 1348 रिक्तियां थी.
यही नहीं, नवोदय विद्यालय समिति में भी शिक्षकों के 3407 पद खाली हैं. इसमें अन्य पिछड़ा वर्ग के 671, अनुसूचित जाति के 414, अनुसूचित जनजाति के 351 और दिव्यांग श्रेणी के 176 पद हैं. वहीं सामान्य वर्ग और आर्थिक रूप से कमजोर श्रेणी के लिए कुल 1785 सीटें खाली हैं. सीबीएसई, एनसीईआरटी और एनआईओएस के कुल 2744 रिक्तियां 1644 और राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी संस्थान (एनआईओएस) में 171 पद खाली हैं.

एनईए या यूपीएससी से भर्ती परीक्षा कराने का सुझाव 

संसदीय समिति ने अपनी सिफारिश में शिक्षा मंत्रालय को सुझाव दिया है कि केंद्रीय शैक्षणिक संस्थाओं में टीचिंग और नॉन टीचिंग पदों पर कर्मचारियों की भर्ती परीक्षा एनईए या यूपीएससी के जरिए आयोजित कराई जानी चाहिए. इससे एक स्वतंत्र कैडर बनाया जा सकेगा. समिति ने शिक्षा विभाग से नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 से जुड़े विभिन्न कार्यो और लक्ष्यों को हासिल करने को लेकर कार्यक्रम तैयार करने को कहा है. समिति ने कहा है कि 30 जून 2021 तक इस बारे में जानकारी दी जाए और इन्हें मंत्रालय (शिक्षा) की वेबसाइट पर अपलोड किया जाए.



लड़कियों की शिक्षा पर तैयार हो खाका 

समिति ने यह भी कहा कि सभी लड़कियों और ट्रांसजेंडर समुदाय के बच्चों की स्कूली शिक्षा के लिए खाका तैयार किया जाना चाहिए. इसको समयबद्ध तरीके से लागू करने की योजना बनायी जानी चाहिए. रिपोर्ट के अनुसार स्कूली शिक्षा विभाग को ई-शिक्षा की जरूरतों को पूरा करने के लिए डिजिटल पहल के वास्ते अधिक कोष आवंटित करने की संभावना तलाशनी चाहिए.

ये भी पढ़ें- 

GATE-2021 Result : गेट परीक्षा का रिजल्ट 22 मार्च को, gate.iitb.ac.in पर कर पाएंगे चेक

UPSC NDA Exam : एनडीए, नेवल एकेडमी-1 परीक्षा 2020 के अंक जारी, चेक करें अपने नंबर्स

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज