होम /न्यूज /नौकरियां /Indian Railways: रेलवे ने दो दिन में ढो दी 2,376 किंवटल मैगी, कमाए 8,76,267 रुपये

Indian Railways: रेलवे ने दो दिन में ढो दी 2,376 किंवटल मैगी, कमाए 8,76,267 रुपये

बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट्स के जरिए रेलवे अपने राजस्व में जबरदस्त वृद्धि कर रही है.

बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट्स के जरिए रेलवे अपने राजस्व में जबरदस्त वृद्धि कर रही है.

Indian Railways: NER के इज्जतनगर मंडल के हल्दी रोड स्टेशन से खड़गपुर-हावड़ा रेल खंड पर स्थित ’सांकराईल रेल गुड्स टर्मिनल ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. कोरोना (Corona) की वजह से ट्रेनों (Trains) का पूरी तरीके से संचालन नहीं हो रहा है. ऐसे में रेलवे ने माल लदान में वृद्धि पर जोर दिया हुआ है. बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट्स के जरिए रेलवे अपने राजस्व में जबरदस्त वृद्धि कर रही है. माल लदान (Freight Loading) के क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करते हुए रेलवे निर्धारित लक्ष्य से ज्यादा राजस्व अर्जित कर रही है.

    ताजा उदाहरण पूर्वोत्तर रेलवे का सामने आया है जिसने सिर्फ 22 और 23 जुलाई को ही रिकॉर्ड मैगी का लदान करके ₹870267 का रेल राजस्व अर्जित किया है.

    ये भी पढ़ें : Indian Railways: रेल यात्री ध्यान दें, आनंद विहार-मुजफ्फरनगर के बीच चलने वाली इन ट्रेनों के बदले जा रहे मार्ग

    पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के मुताबिक NER के इज्जतनगर मंडल के हल्दी रोड स्टेशन से खड़गपुर-हावड़ा रेल खंड पर स्थित ’सांकराईल रेल गुड्स टर्मिनल यार्ड’ के लिये 25 वैगन मैगी की लोडिंग की गई. यह 22 एवं 23 जुलाई को की गयी थी. रेलवे की ओर से 25 एन.एम.जी. वैगनों में कुल 2,376 किंवटल मैगी (Quintal Maggi) की लोडिंग की गयी जिनसे 8,76,267 रुपये रेल राजस्व की प्राप्ति हुई.

    पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन पर माल लदान में वृद्धि हेतु अपनायी जा रही बेहतर विपणन नीति के सकारात्मक परिणाम प्राप्त हो रहे हैं. मुख्यालय एवं मंडलों में गठित बिजनेस डेवलपमेन्ट यूनिटों के समेकित प्रयासों एवं रेल प्रशासन द्वारा माल लदान के लिये उपलब्ध करायी जा रही अनेक सुविधाओं एवं माल गोदामों में सुधार एवं विस्तार के फलस्वरूप उद्योग एवं व्यापार जगत का रेल की ओर निरन्तर रूझान बढ़ रहा है.

    ये भी पढ़ें : बांग्लादेश की मदद के लिए आगे आया भारतीय रेलवे, 200 टन मेडिकल ऑक्सीजन की खेप रवाना

    ICF कोचों से परिवर्तित कर बनाये गये नये NMG वैगन
    अधिकारी के मुताबिक पुराने आईसीएफ कोचों (ICF Coaches) से परिवर्तित कर बनाये गये नये एनएमजी वैगनों (NMG Wagons) मेें रेल प्रशासन द्वारा खाद्य सामग्री, एफ.एम.सी.जी. प्रोडेक्ट एवं अन्य खुदरा वस्तुओं के परिवहन की अनुमति भी दे दी गयी है. परिणामस्वरूप इन नये एन.एम.जी. वैगनों में प्रथम बार पूर्वोत्तर रेलवे (North Eastern Railway) पर खाद्यय पदार्थों के अन्तर्गत मैगी का परिवहन किया जा रहा है.‌‌

    ये भी पढ़ें : नौकरी छोड़ शुरू करें ये बिजनेस, हर महीने होगी 5 से 10 लाख तक की कमाई, जानें कैसे?

    व्यापारियों की सुविधा के लिये 22 नये माल गोदाम खोले गए 
    ‌‌व्यापारियों की सुविधा के लिये मालगोदामों पर सुधार एवं विस्तार किया गया है. इसके अन्तर्गत 22 नये माल गोदाम खोले गए तथा 23 माल गोदामों को 24 घंटे कार्य हेतु विकसित किया गया है. माल गाड़ियों की औसत गति में सुधार कर इसे लगभग 50 किमी. प्रति घंटा किया गया है.

    इस साल गत वर्ष की तुलना में 126 फीसदी ज्यादा माल लदान बुक किया 
    माल परिवहन को बढ़ावा देने के अनेकों प्रयासों के फलस्वरूप पूर्वोत्तर रेलवे पर ऑटोमोबाइल सेक्टर एवं एफ.एम.सी.जी. उत्पादों जैसे- नये सामानों का माल परिवहन प्राप्त हो रहा है. वर्ष 2021-22 में माह जून, 2021 तक प्रथम तिमाही में पूर्वोत्तर रेलवे पर कुल 0.8912 मिलियन टन माल का लदान प्राप्त हुआ जो गत वर्ष की इसी अवधि के माल लदान की तुलना में 126 प्रतिशत अधिक है.

    Tags: Business news in hindi, Dedicated Freight Corridor, Goods trains, Indian Railways, Railway News

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें