• Home
  • »
  • News
  • »
  • jobs
  • »
  • Indian Railways: नॉर्दन रेलवे ने स्क्रैप बेचकर की इतनी कमाई, इस टारगेट को पूरा करने की तैयारी!

Indian Railways: नॉर्दन रेलवे ने स्क्रैप बेचकर की इतनी कमाई, इस टारगेट को पूरा करने की तैयारी!

रेलवे के हर जोन की ओर से स्क्रैप को बेचकर भारी भरकम राजस्व अर्जित किया जा रहा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Indian Railways: नॉर्दन रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल का कहना है कि 28 जुलाई तक स्क्रैप की बिक्री से रेलवे ने 85.45 करोड़ रुपये अर्जित किए हैं. यह पिछले साल की तुलना में स्क्रैप बिक्री से 42.26 करोड़ रुपये ज्यादा अर्जित हुए हैं.इस साल स्क्रैप बिक्री से 370 करोड़ रुपए अर्जित करने का लक्ष्य निर्धारित है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. देशभर में कोरोना संक्रमण (Corona virus) की दूसरी लहर की वजह से राज्यों में लॉकडाउन लागू था. इसकी वजह से ट्रेनों (Trains) का परिचालन भी पूरी तरह से प्रभावित रहा है. कोरोना से बिगड़े हालातों में सुधार आने के बाद अब चरणबद्ध तरीके से यात्री ट्रेनों का परिचालन शुरू किया जा रहा है. ऐसे में रेलवे ने राजस्व नुकसान को पूरा करने के लिए कई रास्ते निकाले हैं. बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट के साथ रेलवे ने स्क्रैप को बेचकर बड़ी आमदनी करने का काम भी किया है. करीब-करीब हर जोन की ओर से स्क्रैप को बेचकर भारी भरकम राजस्व अर्जित किया जा रहा है.

    बताते चलें कि रेल मंत्रालय की ओर से सभी रेलवे जाेन को अलग-अलग टारगेट भी दिए गये हैं. इस साल के लिए भी हर जोन को स्क्रैप की बिक्री से राजस्व अर्जित करने का लक्ष्य दिया हुआ है. और इस लक्ष्य को हासिल करने के लिये हर जाेन की तरफ से काम भी किया जा रहा है.

     ये भी पढ़ें: भारत में अब तक कोविड-19 रोधी टीके की 46 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी: केंद्र सरकार

    नॉर्दन रेलवे के लिए स्क्रैप बिक्री से 370 करोड़ रुपए अर्जित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. उसकी ओर से इस दिशा में काम भी किया जा रहा है. नॉर्दन रेलवे ने स्क्रैप सामग्री जुटा कर और ई नीलामी के जरिए उसकी बिक्री करके संसाधनों का बेहतर इस्तेमाल करने का काम किया जा रहा है.

    इस साल स्क्रैप बिक्री से 42.26 करोड़ रुपये ज्यादा अर्जित हुए
    नॉर्दन रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल का कहना है कि 28 जुलाई तक स्क्रैप की बिक्री से रेलवे ने 85.45 करोड़ रुपये अर्जित किए हैं. वहीं पिछले वर्ष इस अवधि के दौरान स्क्रैप बिक्री से 42.19 करोड़ रुपए की अर्जित किए थे. पिछले साल की तुलना में इस साल स्क्रैप बिक्री से 42.26 करोड़ रुपये ज्यादा अर्जित हुए हैं.

    ये भी पढ़ें: Kejriwal Government पद्म अवॉर्ड्स के लिये सिर्फ डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टॉफ के नाम केंद्र को भेजेगी

    महाप्रबंधक की मानें तो कोरोना महामारी की दूसरी लहर के कारण स्क्रैप की बिक्री में काफी कमी भी आई है. बावजूद इसके नॉर्दर्न रेलवे ने 42.26 करोड़ रुपये का राजस्व ज्यादा अर्जित किया है.

    कोरोना महामारी में तरल ऑक्‍सीजन की निर्बाध उपलब्धता के लिए हरसंभव प्रयास किए नार्दन रेलवे महामारी के बावजूद सभी आवश्‍यक दवाओं, इंजेक्‍शन एवं अन्‍य सामग्रियों की आपूर्ति को निर्बाध रूप से बनाए रखने में सक्षम रही है. राज्‍य सरकारों और आपूर्तिकर्ताओं के साथ बातचीत व समन्‍वय करके तरल ऑक्‍सीजन की निर्बाध उपलब्धता सुनिश्‍चित करने के लिए हरसंभव प्रयास किए गए.

    सरकारी ई-बाजार से खरीद के 100.30 करोड़ के आंकड़े को पार करेंगे
    महाप्रबंधक का कहना है कि सरकारी ई-बाजार के माध्‍यम से खरीद लागत प्रभावी सिद्ध हो रही है तथा नॉर्दन रेलवे पिछले वर्ष के सरकारी ई-बाजार से खरीद के 100.30 करोड़ रुपये के आंकड़े को पार करने की दिशा में बढ़ रही है. नॉर्दन

    रेलवे ने चालू वित्‍त वर्ष के शुरूआती चार महीनों में 44.60 करोड़ रुपये की खरीद की है जोकि पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 17.28 करोड़ रुपये थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज