REET 2021: क्यों टालनी पड़ी रीट परीक्षा, क्या था विवाद, जानिए पूरी कहानी

अब रीट-2021 में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के अभ्यर्थियों को भी अवसर दिया जाएगा.

अब रीट-2021 में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के अभ्यर्थियों को भी अवसर दिया जाएगा.

REET-2021 : रीट-2021 परीक्षा टाल दी गई है. इसके साथ ही आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के अभ्यर्थियों को भी परीक्षा में शामिल होने का मौका दिया जाएगा. इस वर्ग के अभ्यर्थियों से आवेदन मांगे जाएंगे. इसकी तिथि जल्द घोषित की जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2021, 10:10 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 25 अप्रैल को होने वाली रीट-2021 परीक्षा (REET-2021) स्थगित कर दी है. अब यह परीक्षा 20 जून को आयोजित की जाएगी. 25 अप्रैल को महावीर जयंती होने के कारण इसे टालने की मांग की जा रही थी. परीक्षा तिथि बदलने का मामला हाईकोर्ट तक पहुंच गया था. इस संबंध में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 24 मार्च को एक कमेटी भी गठित की थी. कमेटी ने अपनी रिपोर्ट शनिवार को ही सरकार को सौंपी. हालांकि बोर्ड ने परीक्षा टालने के पीछे आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के अभ्यर्थियों को मौका देना बताया है.

अब रीट-2021 में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के अभ्यर्थियों को भी अवसर दिया जाएगा. इसकी घोषणा मुख्यमंत्री गहलोत ने बजट सत्र में की थी. राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष और रीट के मुख्य समन्वयक प्रोफेसर डीपी जारोली ने शनिवार को बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार बोर्ड शीघ्र ही आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के अभ्यर्थियों को रीट परीक्षा के लिए आवेदन करने का मौका देगा. इसकी तिथियों की घोषणा शीघ्र की जाएगी.

जैन समाज ने शुरू की थी परीक्षा टालने की मांग

रीट-2021 परीक्षा 25 अप्रैल को महावीर जयंती के दिन आयोजित होने के कारण राजस्थान का जैन समाज इसे स्थगित करने की मांग कर रहा था. इन लोगों ने शिक्षा मंत्री को ज्ञापन भी दिया था. इसके अलावा बेरोजगार संगठन भी परीक्षा को आगे खिसकाने की मांग कर रहे थे. धीरे-धीरे मामला तूल पकड़ता गया. जिसके बाद मुख्यमंत्री गहलोत ने एक कमेटी गठित की.
राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने भी किया था समर्थन

रीट-2021 की परीक्षा तिथि बदलने को राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग भी कह चुका था. इसके अलावा राजस्थान के कृषि एवं पशुपालन मंत्री लाल चंद कटारिया ने भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर महावीर जयंती के दिन परीक्षाएं आयोजित न करने की मांग की थी. कटारिया ने राजस्थान समग्र युवा परिषद द्वारा उन्हें दिये ज्ञापन पर अनुशंसा के साथ मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में जैन कल्याण बोर्ड का गठन करने और अल्पसंख्यक आयोग में जैन समुदाय को प्रतिनिधित्व दिये जाने के साथ महावीर जयंती पर परीक्षाएं नहीं कराने की मांग की थी.

ये भी पढ़ें- 



SSC GD Constable Notification 2021: SSC GD कांस्टेबल 2021 के लिए अधिसूचना जल्द, देखें इसकी परीक्षा का सिलेबस

General Knowledge: बैंक, एसएससी, रेलवे की नौकरियों की तैयारी करने वाले पढ़ें GK के टॉप-10 सवाल

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज