UPSC की तरह होंगी RPSC और RSSB की भर्ती प्रक्रियाएं, देखें डिटेल

जारी परिपत्र में कहा गया है कि दस्तावेज सत्यापन के लिए 2 से तीन गुना अभ्यार्थियों को बुलाया जाए.

जारी परिपत्र में कहा गया है कि दस्तावेज सत्यापन के लिए 2 से तीन गुना अभ्यार्थियों को बुलाया जाए.

प्रतीक्षा सूची छह माह तक मान्य होती है. इसके बाद विभाग प्रतीक्षा सूची के लिए न नाम मांग सकेंगे न नामों को भर्ती एजेंसी को भेज सकेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 10, 2021, 10:28 AM IST
  • Share this:
जयपुर. UPSC की तरह राज्य में RPSC और RSSB भर्ती प्रक्रियाएं भर्ती कैलेंडर के अनुरूप पूरा करेंगे. कार्मिक विभाग ने दोनों एजेंसियों को प्रति वर्ष रिक्तियों के निर्धारण से लेकर पदस्थापन तक भर्ती कैलेंडर की तारीखें तय कर दी हैं. इस बारे में कार्मिक विभाग ने 12 बिंदुओ का परिपत्र जारी कर दिया है. दोनों भर्ती एजेंसियां प्रतिवर्ष 30 नवंबर तक अगले साल में होने वाली भर्तियों के लिए भर्ती कैलेंडर जारी करेंगे.

इस तरह तय होगा भर्ती कैलेंडर

विभागीय पदोन्नति समिति की बैठकें 31 जुलाई तक पूरी हों. रिक्त होने वाले पद, सेवानिवृति, पदोन्नति व अन्य का रिकॉर्ड 15 अगस्त से पहले तैयार हो. विभागों की ओर से 31 अगस्त से पहले अर्थना भेजी जाए. अर्थनाओं का परीक्षण 30 सितंबर से पहले किया जाए.

अर्थनाओं की कमी को 30 अक्टूबर से पहले दूर किया जाए. 30 नवंबर तक आगामी वर्ष के लिए भर्ती कलैंडर जारी किया जाए. दस्तावेज सत्यापन के लिए 2 से तीन गुना अभ्यार्थियों को बुलाया जाए.
प्रशासनिक विभाग के दारा चयन सूची प्राप्त होने के 4 सप्ताह के भीतर नियुक्ति आदेश जारी करेंगे. कार्यग्रहण के लिए 3 सप्ताह से ज्यादा का समय नहीं दिया जाए. कार्यग्रहण अविधि समाप्त होने के बाद 4 सप्ताह बाद कार्य ग्रहण नहीं करने वाले अभ्यिार्थियों की सूचना ली जाए.

ये भी पढ़ें- 

GK Top-10 Questions : किस ग्रंथ से लिया गया है 'सत्यमेव जयते' वाक्य ?



Top-10 GK Questions : कौन थे आरबीआई के पहले गवर्नर ? पढ़ें ऐसे 10 जरूरी सवाल

प्रतीक्षा सूची छह माह तक मान्य होती है. इसके बाद विभाग प्रतीक्षा सूची के लिए न नाम मांग सकेंगे न नामों को भर्ती एजेंसी को भेज सकेंगे.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज