Home /News /jobs /

Success Story: 6 सालों तक तय किया कठिन सफर, पटवारी से बन गए IPS अफसर

Success Story: 6 सालों तक तय किया कठिन सफर, पटवारी से बन गए IPS अफसर

पटवारी से आईपीएस अफसर बन गए प्रेम सुख डेलू

पटवारी से आईपीएस अफसर बन गए प्रेम सुख डेलू

IPS Officer Success Story: राजस्थान के बीकानेर के रहने वाले प्रेमसुख डेलू (Prem Sukh Delu) ने आईपीएस अफसर बनकर अपनी मेहनत का लोहा मनवा लिया. उन्होंने 6 सालों में 12 सरकारी नौकरी (Sarkari Naukri) हासिल कर हर किसी के लिए एक मिसाल पेश की है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली (IPS Officer Success Story). कुछ लोग अपनी किस्मत खुद बनाते हैं. राजस्थान के बीकानेर में रहने वाले प्रेमसुख डेलू (Prem Sukh Delu) का जन्म एक किसान परिवार में हुआ था. भारत में सरकारी नौकरी (Sarkari Naukri) का क्रेज देखने लायक है और प्रेमसुख पर भी उसका गहरा असर था. सुख-सुविधाओं से वंचित रहने के बावजूद उन्होंने कड़ी मेहनत करके यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) पास कर ली और आईपीएस अफसर (IPS Officer) बन गए.

    प्रेमसुख डेलू (Prem Sukh Delu) ने 6 सालों में 12 बार सरकारी नौकरी (Sarkari Naukri) हासिल की थी. उनके सपनों की पहली सीढ़ी पटवारी (Patwari) बनने से शुरू हुई थी. इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और लगातार आगे बढ़ते रहे.

    बचपन से देखी गरीबी
    आईपीएस अफसर प्रेमसुख डेलू (IPS Officer Prem Sukh Delu) ने इस बात की मिसाल कायम कर दी है कि पारिवारिक माहौल का सपनों पर खास फर्क नहीं पड़ता है. उनके पिता एक ऊंट गाड़ी चलाकर लोगों का सामान एक जगह से दूसरी जगह तक ले जाते थे. बचपन से ही गरीबी के माहौल में रहने वाले प्रेमसुख ने परिवार को इस माहौल से बाहर निकालने की जिद ठान ली थी. इसलिए उन्होंने अपना पूरा फोकस पढ़ाई पर ही रखा.

    गोल्ड मेडल से हुई शुरुआत
    टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रेमसुख डेलू (Prem Sukh Delu) ने 10वीं तक की पढ़ाई अपने गांव के सरकारी स्कूल से की थी. फिर आगे की पढ़ाई उन्होंने बीकानेर के राजकीय डूंगर कॉलेज से पूरी की. इतिहास में एमए करने के साथ ही वे गोल्ड मेडलिस्ट (Gold Medalist) भी रहे. उन्होंने इतिहास में यूजीसी-नेट (UGC-NET) और जेआरएफ (JRF) की परीक्षा भी पास की थी.

    पटवारी के साथ किया मास्टर्स
    प्रेमसुख डेलू (Prem Sukh Delu) के बड़े भाई राजस्थान पुलिस में कॉन्स्टेबल हैं. उन्होंने ही प्रेम को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए प्रेरित किया था. साल 2010 में ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद प्रेम ने पटवारी (Patwari Exam) की भर्ती के लिए आवेदन किया और सफल हो गए. तब तक वे अपनी क्षमताओं को समझने लगे थे. पटवारी की नौकरी करते हुए उन्होंने मास्टर्स की डिग्री हासिल कर ली और नेट भी पास कर लिया.

    यह भी पढ़ें:
    UPSC Exam Tips: ऐसे करें यूपीएससी परीक्षा की तैयारी, आसान लगेगा पूरा सिलेबस
    Career Tips: पढ़ाई के साथ करें पार्ट टाइम जॉब, करियर में ऐसे मिलेगा फायदा

    मिलती गईं सरकारी नौकरियां
    पटवारी बनने के बाद प्रेमसुख डेलू (Prem Sukh Delu) ने राजस्थान ग्राम सेवक परीक्षा में दूसरी रैंक हासिल की थी. फिर असिस्टेंट जेलर (Assistant Jailor) की परीक्षा में वे पूरे राजस्थान में पहले नंबर पर रहे. जेलर की पोस्ट पर जॉइन करने से पहले सब-इंस्पेक्टर की परीक्षा (Sub Inspector Exam) का परिणाम आ गया था और वे उसमें भी सेलेक्ट हो गए थे. फिर उन्होंने बीएड परीक्षा पास करने के साथ ही नेट भी क्लियर किया था, जिसके बाद उन्हें कॉलेज में लेक्चरर का पद मिल गया था. इसके बाद उन्होंने सिविल सर्विसेज परीक्षा (Civil Services Exam) देने का फैसला किया था.

    गुजरात कैडर में बने आईपीएस
    कॉलेज में पढ़ाने के साथ ही प्रेमसुख डेलू (Prem Sukh Delu) ने अपनी पढ़ाई जारी रखी और राजस्थान प्रशासनिक सेवाओं के तहत तहसीलदार के पद पर उनका चयन हो गया. तहसीलदार के पद पर रहते हुए उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी थी. नौकरी के बाद बचे हुए समय में प्रेम पढ़ाई करते थे और साल 2015 में दूसरे प्रयास में यूपीएससी की परीक्षा (UPSC Exam) क्लियर कर ली. ऑल इंडिया में उनकी 170वीं रैंक (All India Rank) आई थी और वे आईपीएस (IPS Officer Success Story) बनने में सफल रहे. उन्हें गुजरात कैडर मिला और उनकी पहली पोस्टिंग गुजरात के अमरेली में एसीपी के पद पर हुई.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर