Home /News /jobs /

AIR 10 पाने वाले सत्‍यम ने कहा, UPSC प्री एग्‍जाम को ना लें हल्‍के में, पूछे जा सकते हैं ऐसे सवाल

AIR 10 पाने वाले सत्‍यम ने कहा, UPSC प्री एग्‍जाम को ना लें हल्‍के में, पूछे जा सकते हैं ऐसे सवाल

UPSC Exams 2021: यूपीएससी परीक्षा पहली बार में क्रैक करने के लिये इन टिप्‍स को फॉलो करें.

UPSC Exams 2021: यूपीएससी परीक्षा पहली बार में क्रैक करने के लिये इन टिप्‍स को फॉलो करें.

UPSC सिविल सेवा परीक्षा में 10वीं रैंक लाने वाले सत्‍यम गांधी ने पहली ही कोशिश में आईएएस एग्‍जाम क्रैक कर लिया है. सत्‍यम के अनुसार प्रारंभिक परीक्षा के बारे में पहले से अंदाजा नहीं लगाया जा सकता.

    IAS परीक्षा की तैयारी के लिये करीब सभी उम्‍मीदवार कोचिंग इंस्‍ट‍िट्यूट्स पर निर्भर रहते हैं. इससे अलग सत्‍यम गांधी ने सिर्फ सेल्‍फ स्‍टडी के दम पर, पहली ही बार में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में ऑल इंडिया 10वां रैंक हासिल किया है. बिहार के समस्‍तीपुर जिला के रहने वाले सत्‍यम गांधी ने केंद्रीय विद्यालय से अपनी स्‍कूलिंग की और उसके बाद बीए ऑनर्स पोलिटिकल साइंस में दयाल सिंह कॉलेज से ग्रेजुएशन किया. ग्रेजुएशन फाइनल ईयर में सत्‍यम ने यह तय किया कि वह UPSC CSE 2020 की तैयारी करेंगे.

    सत्‍यम, दिल्‍ली के राजेंद्र नगर में शिफ्ट हो गए. राजेंद्र नगर को सिविल सर्व‍िस परीक्षा की तैयारी कर रहे उम्‍मीदवारों का हब कहा जाता है. सत्‍यम के अनुसार राजेंद्र नगर में उन्‍हें आसानी से स्‍टडी मटेरियल मिल गया. यहां की दुकानों में किताबों से लेकर मॉक टेस्‍ट और करंट अफेयर्स तक हर चीज तैयार उपलब्‍ध है. इसलिये जो समय स्‍टडी मटेरियल इकट्ठा करने में बरबाद होता है, वह यहां बच जाता है.

    दादा जी का सपना :
    गांधी के अनुसार उनके दादा जी चाहते थे कि परिवार में कोई आईएएस अधिकारी हो. सत्‍यम के मन में आईएएस अधिकारी बनने की इच्‍छा यहीं से पैदा हुई. इसलिये ग्रेजुएशन में उन्‍होंने पोल साइंस का चुनाव किया और यूपीएससी ऑप्‍शनल सबजेक्‍ट में भी सत्‍यम ने पोल साइंस ही रखा.

    तैयारी की स्‍ट्रैटजी :
    सत्‍यम ने प्रारंभिक परीक्षा पर ही अपनी तैयारी फोकस्‍ड रखी. उन्‍हें लगता है कि प्रारंभिक परीक्षा बहुत ही अनप्रिडिक्‍टेबल है. उनका कहना है कि जिस तरह के सवाल इसमें पूछे जाते हैं, वह बिल्‍कुल अप्रत्‍याशित है.

    उन्‍होंने साल 2019 में परीक्षा की तैयारी शुरू की और तब से उनका पूरा फोकस प्रीलिम्‍स पेपर पर ही रहा. हालांकि UPSC CSE की तैयारी करने वाले इस स्‍ट्रैटजी पर सवाल उठाते रहे, लेकिन सत्‍यम का कहना था कि अगर ये क्‍ल‍ियर नहीं हुआ तो इसके लिये एक साल और बर्बाद करना होगा.

    रोजाना 12 से 13 घंटे की पढ़ाई:
    सत्‍यम ने प्रारंभिक परीक्षा की तैयारी के लिये रोजाना 12 से 13 घंटे पढ़ाई की. उन्‍होंने जीएस पर सबसे ज्‍यादा वक्‍त दिया. किताबों के अलावा जो नोट्स उन्‍होंने खुद बनाए, वो उनकी तैयारी में सबसे जयादा काम आए. इसके अलावा सत्‍यम ने 120 मॉक टेस्‍ट दिये, जिससे उन्‍हें अपने कमजोर पहलुओं के बारे में पता चला. मॉक टेस्‍ट के लिये सत्‍यम ने ऑनलाइन कोचिंग प्‍लैटफॉर्म अनएकेडमी की मदद ली और यहीं से इंटरव्‍यू की गाइडेंस भी मिली.

    ये विषय हैं महत्‍वपूर्ण:
    सत्‍यम के अनुसार प्री एग्‍जाम के लिये इकोनोमिक्‍स, पॉलिटी और इतिहास की तैयारी जरूरी है. इन विषयों पर उम्‍मीदवारों को ज्‍यादा वक्‍त देना चाहिए. करंट अफेयर्स पर ध्‍यान दें.

    Tags: Success tips and tricks

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर