Kanpur Shelter Home case: क्वारंटाइन सेंटर से गिनती में कम मिली दो बालिकाएं, मचा हड़कंप, फिर....

क्वारंटाइन सेंटर में दो बच्चियों के गिनती में कम होने की सूचना पर उच्चाधिकारी मौके पर पहुंचे

क्वारंटाइन सेंटर में दो बच्चियों के गिनती में कम होने की सूचना पर उच्चाधिकारी मौके पर पहुंचे

जब बालिकाओं की गिनती हुई तब दो बालिकाएं कम मिलीं जिसके बाद पहले तो कैंपस में इन्हें ढूंढा गया मगर जब वहां नहीं मिलीं तो इसकी सूचना पनकी थाने को दी गई और जिले के प्रशासनिक अधिकारियों को भी जिसके बाद मौके पर एसएसपी दिनेश कुमार, जिलाधिकारी ब्रह्मदेव राम त्रिपाठी और कई थाने की फोर्स मौके पर पहुंची.

  • Share this:

कानपुर. कानपुर के बालिका गृह (Kanpur Shelter Home case) में प्रशासनिक लापरवाही सवालों के घेरे में है. स्वरूप नगर स्थित महिला संवासिनी गृह में एक के बाद एक 7 युवतियों के गर्भवती पाए जाने और 57 के कोरोना संक्रमित (COVID-19 Positive) होने का मामला सामने आने के बाद हड़कंप मचा हुआ है. कानपुर शेल्टर होम मामले में परत दर परत लापरवाहियां उजागर होती दिख रही हैं. कोरोना पॉजिटिव बालिकाओं को जब क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा गया तो एक बार फिर सनसनी मच गई जब गिनती के दौरान दो बालिकाएं कम मिलीं. जिसकी सूचना जिले के प्रशासनिक अधिकारियों को मिली तो उनके हाथ-पांव फूल गए आनन-फानन में सब पनकी के केडीए ग्रीन पहुंचे जहां काउंटिंग का क्रम चला और इनकी तलाश की गई. बाद में पुलिस की तलाश में उन्हें दूसरे फ्लैट में पाया गया. तब जाकर अधिकारियों ने राहत की सांस ली इस पूरे प्रकरण में मीडिया को दूर रखा गया केडीए के बनाए गए क्वॉरेंटाइन सेंटर (Quarantine Center) में इन संक्रमित बालिकाओं का उपचार चल रहा है.

ये भी पढ़ें-कानपुर शेल्टर होम केस: प्रियंका गांधी बोलीं- मैं इंदिरा की पोती हूं, BJP की अघोषित प्रवक्ता नहीं


मनमुटाव के चलते दूसरे फ़्लैट में जाकर बैठ गईं थीं बालिकाएं

रिपोर्ट के मुताबिक गुरुवार सुबह 10 बजे जब बालिकाओं की गिनती हुई तब दो बालिकाएं कम मिलीं जिसके बाद पहले तो कैंपस में इन्हें ढूंढा गया मगर जब वहां नहीं मिलीं तो इसकी सूचना पनकी थाने को दी गई और जिले के प्रशासनिक अधिकारियों को भी जिसके बाद मौके पर एसएसपी दिनेश कुमार, जिलाधिकारी ब्रह्मदेव राम त्रिपाठी और कई थाने की फोर्स मौके पर पहुंची. दो बालिकाओं के लापता होने की खबर ने अधिकारियों के होश उड़ा दिये थे. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी ने बताया कि क्वॉरेंटाइन सेंटर से लड़कियां कहीं भागी नहीं थी बल्कि दूसरे किसी फ्लैट में बैठी थीं जो गिनती के दौरान उस फ्लैट में नहीं मिलीं. यह बच्चियां दूसरे फ्लैट में कैसे पहुंची यह जांच का विषय है. उन्होंने कहा कि ये किसकी लापरवाही है इसके लिए जांच कराई जाएगी और दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी. लापरवाही किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी. एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया कि बच्चियों का आपस में कुछ मनमुटाव था जिसके चलते वह दूसरे फ़्लैट में जाकर बैठ गईं थीं. उन्होंने बताया कि बच्चियों की सुरक्षा और बढ़ा दी गई है ताकि इस तरह की कोई घटना दोबारा ना हो.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज