क्या हमारे सौरमंडल के बाहर से आए हैं वैज्ञानिकों को दिख रहे 19 क्षुद्रग्रह

 ये 19 क्षुद्रग्रह हमारे सौरमंडल के बाहर से आए थे. (सांकेतिक तस्वीर)

ये 19 क्षुद्रग्रह हमारे सौरमंडल के बाहर से आए थे. (सांकेतिक तस्वीर)

शोधकर्ताओं ने एक अध्ययन में पाया है कि गुरू ग्रह (Jupiter) के पास 19 क्षुद्रग्रह (Asteroids) वास्तव में हमारे सौरमंडल के बाहर आए हैं. इनसे वैज्ञानिकों को हमारे अंतरिक्ष के बारे में अपार जानकारी मिलने की उम्मीद है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2020, 9:10 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: अंतरिक्ष में होने वाली घटनाएं कई बार इंसान को चौंकाती रहती हैं.इक बार वैज्ञानिकों को अपने निकाले गए नतीजों तक बदलने पड़ते हैं तो कई बार उन्हें अपनी पुरानी धारणाएं, मान्यताएं, और सिद्धांतों तक को बदलना पड़ता है. हाल ही में खगोलविदों (Astronomers) की टीम को एक वैज्ञानिक धारणा बदलनी पड़ी जब उन्हें कुछ क्षुद्रग्रहों (Asteroids) के बारे में नई जानकारी मिली.

19 अलग तरह के क्षुद्रग्रह हैं हमारे सौरमंडल में हैं
खगोलविदों  की टीम ने पाया कि गुरू (Jupiter) और नेप्च्यून ग्रह के बीच सूर्य का चक्कर लगा रहे 19 क्षुद्रग्रह वास्तव में हमारे सौरमंडल के बाहर से आए हैं. आमतौर पर क्षुद्रग्रहों को हमारे सौरमंडल का हिस्सा ही माना जाता है. वे सूर्य के गुरुत्वाकर्षण के प्रभाव में ही आकर सौरमंडल में बने रहते हैं.

2015 में हुई थी इनकी खोज
फ्रांस और ब्राजील के वैज्ञानिकों पिछले कुछ समय से 19 क्षुद्रग्रह का अध्ययन कर रहे थे. ये गुरू ग्रह के निकट स्थित हैं जो सूर्य की गुरुत्वाकर्षण के प्रभाव में हैं. 2015 में खोजे गए इन अंतरिक्ष पिंडों ने कुछ अलग ही बर्ताव दिखाया जिसकी वैज्ञानिकों को उम्मीद नहीं थी.



Galaxy
अह हमारे सौरमंडल के बाहर की जानकारी भी आसानी से मिल सकेगी


अपार जानकारी के स्रोत होते हैं ये खास क्षुद्रग्रह
वास्तव में ये इंटरस्टेलर एस्ट्रॉइड्स (अंतरतारकीय क्षुद्रग्रह) हैं. ये हमारे सौरमंडल के बाहर से आए हैं. इनके क्षुद्रग्रहों के बारे कहा जाता है कि ये बहुत ही कम होते हैं. लेकिन वैज्ञानिकों की यही धारणा टूटी है. लेकिन ये क्षुद्रग्रह अपने अंदर विज्ञान जगत के लिए बहुत सी जानकारी समेटे रहते है.

किस धारणा को तोड़ा है इस अध्ययन ने
ये क्षुद्रग्रह गुरू ग्रह के पास स्थित हैं और अंतरिक्ष अन्वेषण के लिहाज से बहुत खास स्थिति में हैं. वैज्ञानिकों अब तक यही पाया था कि आमतौर पर बहुत से अंतरतारकीय अंतरिक्ष पिंडों (Interstellar celestial bodies) ऐसी जगह पर कम होते हैं जहां से हम उनका अवलोकन कर सकें. लेकिन यह अध्ययन वैज्ञानिकों की धारणा बदल रहा है.

क्या हुआ इस अध्ययन में और क्या पाया
शोधकर्ताओं ने सेंटॉरस नाम के कुछ पिंड समूहों में से एक का अध्ययन किया जिनकी अस्थिर कक्षा है और जिनमें   पुच्छल तारे या धूमकेतू ( Comets) और क्षुद्रग्रह (Asteroids) दोनों के गुण हैं. शोधकर्ताओं ने काएपाओका एवेला नाम के सेंटॉरस के अध्ययन में पाया कि उसकी कक्षा गुरू ग्रह की तरह है लेकिन उसकी दिशा बिलकुल उल्टी है. उन्होंने इसकी उत्पत्ति का अध्ययन किया तो कंप्यूटर से हुई गणना से उन्हें पता जला कि वे करीब 4.5 अरब साल पहले बने थे.  इसी तरह से उन्होंने अन्य 19 क्षुद्रग्रहों के बारे में पता लगाया. उस समय जब यह हमारे सूर्य के पास आए तो उसके गुरुत्वाकर्षण के कारण सौरमंडल का हिस्सा बन गए.

Planet
हमारे सौरमंंडल में क्षुद्रग्रह मंगल और गुरू ग्रह केबीच होते हैं.


क्या है अन्य वैज्ञानिकों की राय
शोधकर्ताओं को लगता है कि ये क्षुद्रग्रह हमारे सौरमंडल के बाहर से आए हैं, लेकिन कुछ अन्य वैज्ञानिकों को लगता है कि इन क्षुद्रग्रहों के अलग बर्ताव की कुछ और वजहें भी हो सकती हैं. इसलिए सीधे इस नतीजे पर नहीं पहुंचा जा सकता है कि ये क्षुद्रग्रह बाहर से आए हैं. उससे पहले अन्य संभावनाओं पर विचार कर लेना जरूरी है.

आगे केअध्ययन साफ कर देंगे स्थिति
अगर अंतरतारकीय अंतरिक्ष पिंडों (Interstellar celestial bodies) की बात की जाए तो अब तक ओमुआमुआ और बोरिसोव नाम के दो ऐसे पिंड (Objects) हमारे सौरमंडल के पास से गुजर चुके हैं. लेकिन ऐसे केवल दो ही पिंड नहीं हैं. वहीं इन क्षुद्रग्रहों के भौतिक और रासायनिक अध्ययन से स्पष्ट हो जाएगा कि क्या ये हमारे सौरमंडल से ही निर्मित हुए हैं. अगर ऐसा है तो अब हमें अपने सौरमंडल के बाहर की जानकारी के लिए सुदूर ग्रहों और अन्य पिंडो पर निर्भर रहने की जरूरत नहीं हैं.

यह भी पढ़ें:

वैज्ञानिकों को मिला एक Hot Jupiter, दूसरी पृथ्वी खोजने में होगा सहायक

वैज्ञानिकों ने पहली बार देखा दो अलग ब्लैकहोल का विलय, जानिए क्यों है यह खास

अंतरिक्ष में गायब हो गया एक ग्रह, जानिए वैज्ञानिकों ने कैसे सुलझाई ये पहेली

मंगल पर बनेगी ऑक्सीजन, जानिए NASA कैसे करेगा यह काम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज