लाइव टीवी

इस कांग्रेसी सांसद पर हैं 204 क्रिमिनल केस, स्मृति ईरानी को 'धमकाने' के लगे थे आरोप

News18Hindi
Updated: February 13, 2020, 2:49 PM IST
इस कांग्रेसी सांसद पर हैं 204 क्रिमिनल केस, स्मृति ईरानी को 'धमकाने' के लगे थे आरोप
लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद भी डीन कुरियाकोस पर दर्ज हुए आपराधिक मामलों को लेकर मीडिया में सुर्खियां बनी थीं.

17वीं लोकसभा में कांग्रेसी सांसद डीन कुरियाकोस पर सबसे ज्यादा आपराधिक मामले दर्ज हैं. उन पर लोकसभा में बहस के दौरान केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को 'धमकाने' के आरोप भी लगे थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 13, 2020, 2:49 PM IST
  • Share this:
2019 के लोकसभा चुनाव (2019 Lok Sabha Election 2019) में कांग्रेस के खाते में कुल 52 सीटें आई थीं. इन 52 सासंदों में से एक थे केरल डीन कुरियाकोस. चुनाव संपन्न होने के बाद डीन कुरियाकोस को लेकर कई खबरें मीडिया में प्रकाशित हुईं. दरअसल 17वीं लोकसभा में डीन कुरियाकोस पर सबसे ज्यादा आपराधिक मुकदमे थे. उन पर 204 आपराधिक मुकदमे थे.

इडुक्की सीट से सांसद
इडुक्की लोकसभा सीट से चुनाव जीतकर संसद पहुंचे डीन कुरियाकोस ने अपने हलफनामे में बताया था कि उनपर 204 आपराधिक मामले लंबित हैं. इनमें गैरइरादतन हत्या, लूट, किसी घर में जबरन घुसना और अपराध के लिए किसी को उकसाने जैसे मामले शामिल हैं.

कांग्रेस के युवा तुर्क

केरल की राजनीति में कांग्रेस के युवा तुर्क के उपनाम से मशहूर डीन कुरियाकोस चुनाव में 1.5 लाख से ज्यादा मतों से जीत हासिल की थी. जब उन पर हुए आपराधिक केसों को लेकर चर्चा ज्यादा बढ़ी तो उन्होंने इसका जवाब भी दिया था.

डीन कुरियाकोस युवा प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भी रह चुके हैं और राज्य में पार्टी के तेजी से उभरते नेताओं में शुमार किए जाते हैं.


केरल के एक स्थानीय मीडिया हाउस को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि उत्तर भारत में उन पर हुए केसों को लेकर काफी सवाल पूछे जाते हैं. उनका कहना है कि ये सारे केस उनकी छवि खराब करने के लिए मनगढ़ंत रूप से लगाए गए हैं. उन्होंने कहा था कि इसके खिलाफ वो केरल हाईकोर्ट में केस लड़ रहे हैं. डीन के मुताबिक जिन पुलिसवालों ने उनपर केस दायर किया था, वो भी जानते हैं कि उनकी कोई गलती नहीं है.स्मृति ईरानी को 'धमकाने' का लगा था आरोप
डीन कुरियाकोस पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को 'धमकाने' का आरोप भी लगा था. दरअसल लोकसभा में उन्नाव रेप केस को लेकर बहस चल रही थी. इसी दौरान कांग्रेस के कुछ सांसदों और स्मृति ईरानी के बीच जोरदार बहस हो गई. इसके बाद डीन कुरियाकोस को स्मृति ईरानी की तरफ आक्रामक लहजे में बढ़ते देखा गया. उनके साथ सांसद टी एन प्रतापन भी थे. इसके बाद हंगामा और बढ़ गया. बीजेपी की तरफ से मांग की गई कि कांग्रेस सदस्यों के इस धमकी भरे लहजे के लिए माफी मांगनी चाहिए.

स्मृति ईरानी ने साधा निशाना

सुप्रीम कोर्ट का आदेश
राजनीति में बढ़ते अपराधीकरण के खिलाफ दाखिल याचिका पर गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया है. कोर्ट ने सभी राजनीतिक दलों से दागी उम्मीदवारों को चुनाव का टिकट दिए जाने की वजह बताने का आदेश दिया है. जस्टिस रोहिंटन नरीमन और एस रविंद्र भट की बेंच ने इसके साथ ही कहा कि सभी पार्टियों को अपने उम्मीदवारों का क्रिमिनल रिकॉर्ड आधिकारिक फेसबुक और ट्विटर हैंडल पर अपलोड करना होगा. शीर्ष अदालत ने आगाह किया कि अगर इस आदेश का पालन नहीं किया गया तो अवमानना की कार्रवाई की जा सकती है.
ये भी पढ़ें 
जब 22 साल की एक लड़की ने खुफिया रेडियो सेवा शुरू कर अंग्रेजों को दिया था चकमा
89 साल पहले आज ही के दिन दिल्ली बन गई थी देश का दिल यानि राजधानी
कैसी है ‘केम छो ट्रंप’ की तैयारी, क्यों खास है अमेरिकी राष्ट्रपति का भारत दौरा
इंटरनेशनल मीडिया में केजरीवाल की जीत से ज्यादा पीएम मोदी की हार की चर्चा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 13, 2020, 1:48 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर