'जब सोनिया की चीख से गूंजा था 10 जनपथ'

राजीव गांधी की मौत को 27 साल पूरे हो चुके हैं. पढ़िए उस काली रात के बारे में, जब सोनिया गांधी को यह दर्दनाक खबर मिली. पढ़िए राजीव गांधी की पुण्यतिथी पर विशेष.


Updated: May 18, 2018, 6:47 PM IST
'जब सोनिया की चीख से गूंजा था 10 जनपथ'
राजीव गांधी की मौत को 27 साल पूरे हो चुके हैं. पढ़िए उस काली रात के बारे में, जब सोनिया गांधी को यह दर्दनाक खबर मिली. पढ़िए राजीव गांधी की पुण्यतिथी पर विशेष.

Updated: May 18, 2018, 6:47 PM IST
आमतौर पर शांत रहने वाली सोनिया गांधी उस ख़बर को सुनने के बाद चीख-चीख कर रो रहीं थीं. उनकी आवाज़ इतनी तेज़ थी कि बाहर के गेस्ट रूम में कांग्रेस नेताओं का जमावड़ा होने लगा था. ये पूरी घटना उस काली रात की है, जब तमिलनाडु की एक रैली में राजीव गांधी की आत्मघाती हमले में मौत हो गई थी.

इन सारी बातों का ज़िक्र पत्रकार और सोनिया गांधी की जीवनी लिखने वाले राशिद किदवई ने अपनी किताब में किया है. आज राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर पढ़िए कुछ विशेष अंश, जो राशिद किदवई ने अपनी किताब में लिखे.

Rajeev Gandhi

एक फोन ने दिल्ली में उड़ाए होश

श्रीपेरंबदूर में हुए धमाके के बाद चेन्नई से एक फोन कॉल दिल्ली पहुंची. फोन करने वाला राजीव गांधी के निजी सचिव या सोनिया गांधी से ज़रूरी बात करना चाहता था.

उस फोन को जॉर्ज ने रिसीव किया और पूछा कि राजीव कैसे हैं? अगले कुछ सेकेंड तक जब खामोशी रही तो जॉर्ज घबराई आवाज़ में बोले कि तुम बताते क्यों नहीं कि राजीव कैसे हैं?

फोन करने वाले शख्स ने कहा कि सर अब वो इस दुनिया में नहीं है. इतना कहने के बाद फोन कट गया. जिस शख्स ने ये सूचना दी थी वो खुफिया विभाग से था.
Loading...
चिल्लाते हुए दौड़े जॉर्ज
चेन्नई से इस सूचना को सुनने के बाद राजीव गांधी के विशेष सचिव दौड़ते और चिल्लाते हुए 10 जनपथ में अंदर की तरफ भागे. आवाज़ सुनकर सोनिया बाहर की तरफ दौड़ीं.

जॉर्ज घबराकर बोले कि मैडम चेन्नई में बम धमाका हुआ है. सोनिया ने जवाब में पूछा कि "इज़ ही अलाइव"? आगे कुछ जॉर्ज कुछ नहीं बोले और उनकी चुप्पी में सोनिया को अपना जवाब मिल चुका था.

सोनिया की चीख से गूंजा 10 जनपथ
जॉर्ज की खामोशी के बाद जो मंज़र 10 जनपथ ने देखा वो भयावह था. सोनिया गांधी चीख-चीखकर रो रहीं थीं. शोर सुनकर धीरे-धीरे गेस्ट हाउस के पास कांग्रेसी नेताओं का जमावड़ा होने लगा.

उसी वक्त सोनिया गांधी को अस्थमा का अटैक पड़ा और बेहाल हो गईं. प्रियंका गांधी उनकी दवाई ढूंढ रहीं थीं. हर कोई सोनिया को सांत्वना देने की कोशिश कर रहा था.
पूरी ख़बर पढ़ें
Loading...
अगली ख़बर